न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पारा शिक्षकों का अब जल भरो आंदोलन होगा शुरू

परिवार संग जेल जाने का मन बना चुके हैं पारा शिक्षक

118

Ranchi : राज्य के पारा शिक्षकों का आंदोलन लगातार जारी है. स्थापना दिवस के दिन आंदोलन कर चुके पारा शिक्षक अब जेल जाने का मन बना चुके हैं. पारा शिक्षक अब पूरे परिवार के संग जेल भरो आंदोलन में शामिल होंगे. 20 नवंबर से जेल भरो आंदोलन शुरू हो जायेगा. इससे पूर्व पारा शिक्षक सोमवार को मेदिनीनगर में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को काला झंडा दिखाने पहुंचे.

इसे भी पढ़ें – संवर्ग 3 और संवर्ग 4 नियुक्तियों में मिले झारखंड के छात्रों को मिले पूर्ण आरक्षण : JHESA

पारा शिक्षकों का कहना है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होंगी यह आंदोलन जारी रहेगा. राज्य भर के पारा शिक्षक अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं. पारा शिक्षकों की हड़ताल से विद्यालय में पठन-पाठन बाधित हो रहा है. वैसे विद्यालय जो पारा शिक्षकों के भरोसे चल रहे हैं, उन विद्यालयों में पठन-पाठन नहीं हो पा रहा है. मालूम हो कि पारा शिक्षक वेतन में वृद्धि एवं छत्तीसगढ़ के तर्ज पर स्थायीकरण की मांग कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – धनबाद : पारा शिक्षकों पर लाठीचार्ज के विरोध में कांग्रेस का धरना

20 नवंबर तक ड्यूटी पर लौटने का सरकार ने दिया है अल्टीमेटम

इधर राज्य सरकार पारा शिक्षकों को स्थायीकरण करने पर निर्णय नहीं ले पा रही है. सरकार ने सख्त रवैया अपनाते हुए 20 नवंबर तक सभी पारा शिक्षकों को ड्यूटी पर लौटने का अल्टीमेटम दिया है. सरकार द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि यदि 20 नवंबर तक शिक्षक ड्यूटी पर नहीं लौटे तो 22 नवंबर से उनके स्थान पर दूसरे शिक्षकों को बहाल कर लिया जायेगा. सरकार की सख्ती से पारा शिक्षकों का आंदोलन उग्र होता जा रहा है. पारा शिक्षकों ने भी 20 नंवबर को जेल भरो आंदोलन का फरमान जारी कर दिया है. शिक्षकों का कहना है कि मुख्यमंत्री रघुवर दास व उनके मंत्रिमंडल में शामिल मंत्रियों का भी घेराव किया जायेगा. एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के प्रदेश संयोजक विनोद बिहारी महतो ने कहा कि सरकार जब तक मांग पूरी नहीं करेगी, आंदोलन जारी रहेगा. मोर्चा का कहना है कि 300 पारा शिक्षकों को जेल में बंद करने से आंदोलन बंद नहीं होगा, यह और उग्र रूप लेगा.

इसे भी पढ़ें – पुलिस का दावा- खत्म हो रहे नक्सली, इधर एक माह में हुईं 8 बड़ी घटनाएं

माता-पिता और बच्चों के साथ जेल भरो आंदोलन में शामिल हों : संजय

एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के सदस्य संजय कुमार दुबे ने कहा कि स्थापना दिवस के दिन पारा शिक्षक-शिक्षिकाओं को लाठी-डंडे से मारा गया है. यह निंदनीय है. यहां तक कि जो पारा शिक्षक घायल हुए थे उन्हें भी  प्रशासन ने जेल में बंद कर दिया. इसकी जितनी निंदा की जाए कम होगी. उन्होंने सभी जिला, प्रखंड के पारा शिक्षकों एवं शिक्षिकाओं से 20 नवंबर को जेल भरो आंदोलन में माता-पिता, एवं बच्चों के साथ शामिल होने की अपील की.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: