Corona_UpdatesGiridihJharkhand

पैरामेडिकल कर्मियों ने शुरू की अनिश्चितकालीन हड़ताल, जांच के लिए लोग हो रहे परेशान, संक्रमण का खतरा बढ़ा

Giridih. स्थायीकरण की मांग को लेकर बुधवार से गिरिडीह के 800 से अधिक पैरामेडिकल कर्मियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दिया. सदर अस्पताल परिसर में सारे कर्मी धरना देने के साथ राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया.

इसे भी पढ़ें- पाक की फिर नापाक हरकत, नया नक्शे में जम्मू कश्मीर के साथ लद्दाख और जूनागढ़ को भी किया शामिल

धरने पर बैठे कर्मियों ने इस दौरान राज्य सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि अनुबंध कर्मियों से जिस प्रकार कोविड-19 की ड्यूटी ली जा रही है. सरकार का कर्मियों के प्रति कोई ध्यान नहीं है. पैरामेडिकल कर्मी संघ की वार्ता भी विफल हुई. इसके बाद कर्मियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया. अब जब तक राज्य सरकार कोई फैसला नहीं लेती है.

advt

काम प्रभावित
इधर अनुबंध कर्मियों के हड़ताल पर जाने से कोरोना की ड्यूटी से जुड़े सारे कार्य ठप हो गए है. र्टूनट जांच लैब भी बंद हो गई है, संक्रमितों के स्वाब लेने का कार्य भी ठप हो गया। इसे र्टूनट जांच में पॉजिटिव आएं संक्रमितों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. र्टूनट जांच में पॉजिटिव आने के बाद होम आईसोलेशन और कोविड-19 हॉस्पिटल में इलाजरत हैं.

इसे भी पढ़ें- 850 पैरामेडिकल कर्मी एक दिन की हड़ताल पर, कोरोना की जांच पर पड़ा असर

सैंपल का लोग कर रहे हैं इंतजार
करीब 15 दिनों से र्टूनट जांच में लोग पॉजिटिव आने के बाद आरटीपीसीआर जांच के सैंपल लेने की प्रतीक्षा कर रहे हैं. लेकिन अनुबंध कर्मियों में सैंपल लेने वाले टैक्नीशियन के साथ लैब टेक्नीशियन के हड़ताल पर जाने के कारण ही नहीं लिए जा रहे हैं.

संक्रमण से बढ़ा फैसला
सिविल सर्जन डॉ. अवद्येश सिन्हा ने कहा कि अनुबंध कर्मियों के हड़ताल पर जाने से कोरोना की ड्यूटी पर सबसे अधिक प्रभाव पड़ा है. क्योंकि पूरे जिले में कर्मियों के 900 सौ पद स्वीकृत हैं लेकिन गिरिडीह स्वास्थ्य विभाग में सिर्फ 300 ही कर्मी हैं.

adv

अब अनुबंध कर्मियों ने हड़ताल शुरु किया है तो परेशानी इस बात की बढ़ गई है कि अनुबंध कर्मियों ने स्थायी कर्मियों के काम करने पर रोक लगा दिया है. जबकि पूरे जिले में करीब ढाई हजार से अधिक सैंपल जांच रिपोर्ट पेंडिंग है. वहीं इन कर्मियों के काम ठप किए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग के लिए चिंता की बात यह है कि कोरोना संक्रमित लोगों की जांच नहीं हो पा रही है. ऐसे में संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ चुका है.

advt
Advertisement

2 Comments

  1. I do not even know how I ended up right here, but I believed this submit usedtto be good. I don’t recognize who you are however certainly you are goingto a famouss blogger if you happen to are not already. Cheers!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button