Education & CareerJharkhandRanchi

पारा शिक्षकों के स्थायीकरण होगा, वेतनमान में वृद्धि भी जल्द होगी: सरकार

Ranchi: राज्य के 65 हजार पारा शिक्षकों की मांग को लेकर एक बार फिर सरकार की ओर से आश्वासन दिया गया. मंत्री सत्यानंद भोक्ता, डॉ रामेश्वर उरांव और आलमगीर आलम ने इन शिक्षकों के वेतनमान में बढ़ोतरी से लेकर अन्य मांगों को जल्द पूरा करने का वादा किया है.

मंत्रियों के आवास के समक्ष प्रदर्शन करने पहुंचे पारा शिक्षकों को मंत्री मिथिलेश ठाकुर, सत्यानंद भोक्ता, आलमगीर आलम, डॉ रामेश्वर उरांव, बन्ना गुप्ता और बादल पत्रलेख ने संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार जल्द ही पारा शिक्षकों को खुशखबरी देगी. स्वयं मुख्यमंत्री पारा शिक्षकों के मामले को देख रहे हैं एवं पारा शिक्षकों की सभी समस्याओं का स्थायी निदान निकलेगा.

इसे भी पढ़ें : JPSC: छह बार की सिविल सेवा परीक्षा में कभी 35 तो कभी 40 हुई अधिकतम उम्रसीमा

मंत्री रामेश्वर उरांव के आवास से पहले ही रोक दिया गया शिक्षकों को

इससे पहले पारा शिक्षकों ने पारा शिक्षकों ने सेवा स्थायीकरण और वेतनमान समेत अन्य मांगों को लेकर रविवार को वित्तमंत्री डॉ रामेश्वर उरांव के आवास का घेराव करने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस द्वारा डीआईजी ग्राउंड के पास ही उन्हें रोक दिया गया, जिसके बाद वे वहीं धरने पर बैठ गए.

मालूम हो कि एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा ने पिछली बैठक में यह निर्णय लिया था कि रविवार को राज्य के सभी आठ मंत्रियों के आवास के समक्ष वादा पूरा करो प्रदर्शन किया जाएगा.

अब दस फरवरी को मुख्यमंत्री आवास के समक्ष होगा प्रदर्शन

अगली कड़ी में 10 फरवरी को मुख्यमंत्री आवास के समक्ष पारा शिक्षक धरना-प्रदर्शन करेंगे. इसके लिए अभी से ही रणनीति बनायी जा रही है. पारा शिक्षक संजय दुबे ने बताया कि चुनाव पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा किए गए वायदे को एक वर्ष पूरा होने पर भी वादा नहीं निभाया और अब आश्वासन नहीं परिणाम चाहिए.

इस मौके पर बिनोद बिहारी महतो, संजय कुमार दुबे, हृषिकेश पाठक, प्रद्युम्न कुमार सिंह (सिंटू), मोहन मंडल, प्रमोद कुमार, नरोत्तम सिंह मुंडा, दशरथ ठाकुर आदि मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें : शर्मनाक : बेटे ने बूढ़े पिता को घर से निकाला, भीख मांगते-मांगते सड़क किनारे हो गयी मौत

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: