न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पारा शिक्षकों ने बनायी रणनीति, स्‍थापना दिवस के दिन होगा ‘घेरा डालो-डेरा डालो’

232

Ranchi: एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा अपनी मांगों को लेकर 29 अक्‍टूबर से राजभवन के समक्ष क्रमवार प्रदर्शन के जरिये आंदोलन करने का निर्णय लिया है. एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा संयोजक बिनोद बिहारी महतो ने कहा है कि 15 नवंबर को राज्‍य के तमाम पारा शिक्षक मोराबादी मैदान में आयोजित राज्‍य स्थापना दिवस समारोह में शामिल होंगे. यदि सरकार द्वारा पारा शिक्षकों को छत्तीसगढ़ के तर्ज पर स्थायी करते हुए वेतनमान प्रदान करने की घोषणा की जाती है तो सरकार का जिंदाबाद और यदि नहीं की जाती है तो काला झंडा दिखाते हुए 16 नवंबर से अनिश्चितकालीन ‘घेरा डालो, डेरा डालो’ कार्यक्रम किया जायेगा.

इसकी तैयारी को लेकर एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के राज्‍य इकाई की बैठक संयोजक बिनोद बिहारी महतो के अध्यक्षता में रविवार को रांची के मोरहाबादी मैदान में आयोजित की गयी. बैठक में वर्तमान सरकार द्वारा पारा शिक्षकों के स्थायीकरण व वेतनमान की मांग को लेकर अपनाये जा रहे अड़ियल रवैये के खिलाफ जोरदार संघर्ष का निर्णय लिया गया. रघुवर सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का संकल्प लेते हुए पारा शिक्षकों ने महत्‍वपूर्ण निर्णय लिये.

पारा शिक्षकों के प्रमुख निर्णय

hosp1

(1) सभी प्रमंडल से पारा शिक्षकों को शामिल करते हुए एक कोर कमेटी का निर्माण अविलंब किया जाएगा.

(2) राजभवन के समक्ष प्रमंडलवार प्रदर्शन किया जाएगा. जिसके अंतर्गत 29 अक्टूबर को पलामू प्रमंडल, 30 अक्टूबर को दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल, 31 अक्टूबर को संथाल परगना प्रमंडल, 01 नवंबर को उत्तरी छोटानागपुर प्रमंडल एवं 02 नवंबर को कोल्हान प्रमंडल के साथी प्रदर्शन में शामिल होंगे.

(3) 15 नवंबर को राज्‍य के तमाम पारा शिक्षक मोराबादी मैदान में आयोजित राज्‍य स्थापना दिवस समारोह में शामिल होंगे और यदि सरकार द्वारा पारा शिक्षकों को छत्तीसगढ़ के तर्ज पर स्थायी करते हुए वेतनमान प्रदान करने की घोषणा की जाती है तो सरकार का जिंदाबाद और यदि नहीं की जाती है तो काला झंडा दिखाते हुए सरकार का मुर्दाबाद किया जाएगा.

(4) 16 नवंबर से अनिश्चितकालीन घेरा डालो डेरा डालो कार्यक्रम प्रारंभ किया जाएगा.

बैठक में एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के बिनोद बिहारी महतो, संजय कुमार दुबे, ऋषिकेश पाठक, बजरंग प्रसाद, नरोत्तम सिंह मुंडा, दशरथ ठाकुर, मोहन मंडल, सिंटू सिंह बैठक में शामिल हुए.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: