Fashion/Film/T.V

पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा, बेटा हमारा ऐसा काम करेगा

  • गायक उदित नारायण झा के जन्मदिन पर विशेष

Ranchi: बॉलीवुड में 80 के दशक में जो हिंदी गीतों के स्तर में गिरावट का दौर चल रहा था. उस दौर को खत्म कर एक बार फिर से मधुर गीतों की बयार बहायी उनमें में उदित नारायण, कुमार सानू और सोनू निगम की तिकड़ी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है. 1989 में रीलीज हुई आमिर खान और जूही चावला के लीड रोल वाली फिल्म कयामत से कयामत तक ने जबरदस्त धूम मचाई थी.

इसकी सफलता में इसके मधुर गीतों का महत्वपूर्ण योगदान था. इसका गीत पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा, बेटा हमारा ऐसा काम करेगा उस दौर के युवाओं के सबसे फेवरेट गीतों में शुमार था. यह धमाकेदार गाना उदित नारायण ने गाया था.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें : जामताड़ा में 12 साल में एड्स के 92 मरीज मिले, 17 की हुई मौत

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

कई मेगा स्टार के लिए की प्लेबैक सिंगिंग

उदित नारायण आज अपना 65वां जन्मदिन मना रहे हैं. अपनी सुरीली आवाज और हमेशा मुस्कुराते चेहरे की वजह से उदित नारायण ने फिल्म इंडस्ट्री में पहचान बनाई है. उदित नारायण ने मेगा स्टार्स जैसे अमिताभ बच्चन, आमिर खान, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, सलमान खान, अजय देवगन के लिए गाने गाये हैं.

बिहार के मिथिलांचल में ननिहाल

उदित नारायण झा का जन्म नेपाल के सप्तरी जिले के भरदहा गांव में हुआ था. उनके पिता हरे कृष्ण झा और मां भुवनेश्वरी देवी थीं. उदित ने पी.बी. स्कूल, राजबिराज, नेपाल जहां उन्होंने अपनी एस.एल.सी. (कक्षा 10) और बाद में रत्न राज्य लक्ष्मी परिसर से इंटरमीडिएट किया. उदित का ननिहाल बिहार के सुपौल जिले में है.

इसे भी पढ़ें : झारखंड सरकार किसानों से खरीदेगी गोबर, बढ़ेगी आमदनी, मिलेगा रोजगार

मोहम्मद रफी के साथ गाया पहला गाना

इन्होंने अपने करियर की शुरुआत 1970 में की थी. तब वे रेडियो नेपाल के लिए मैथिली लोकगीत गाया करते थे. धीरे-धीरे उन्होंने मॉडर्न नेपाली गानों को गाना शुरू किया. लगभग 8 सालों के बाद बंबई आ गए.

नारायण ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत 1980 में की थी. उन्हें म्यूजिक डायरेक्टर राजेश रोशन ने ढूंढा था और अपनी फिल्म उन्नीस-बीस में गाने के लिए कहा था. इन्होंने अपना पहला हिन्दी गाना मोहम्मद रफी के साथ गाया था.

इसे भी पढ़ें : सिख समाज के कृपाण की तरह तीर-धनुष आदिवासी अस्मिता का प्रतीक,  सर्व सुलभ रखने की मान्यता दे सरकार :  सीता सोरेन

कयामत से कयामत तक से चमक गयी किस्मत

उदित नारायण का ‘पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा’ सुपरहिट रहा और रातों-रात उदित की किस्मत बदल गयी. इसके बाद उन्हें कई सारे ऑफर्स आने शुरु हो गएं. उन्हें इस गाने के लिए पहली बार बेस्ट मेल सिंगर का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला. इस फिल्म के बाद आमिर की कई फिल्मों में उदित ने गाने गाये थे. निर्देशक इंदर कुमार की दिल फिल्म का टाइटल सांग मुझे नींद ना आये मुझे चैन ना आये ना जाने कहां दिल खो गया, हमने घर छोड़ा है और हम प्यार करनेवाले दुनिया से ना डरनेवाले गीत काफी चले थे.

इसे भी पढ़ें : लापता नाबालिग लड़की को पुलिस ने ढूंढ़ निकाला, आरोपी को भेजा जेल

शाहरूख खान की हिट गीतों का राज

किंग खान शाहरुख खान की फिल्मों के हिट गीतों में उदित नारायण की मधुर आवाज का भी बड़ा अहम रोल रहा है. उदित ने डर, दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, कुछ कुछ होता है, दिल तो पागल है, मोहब्बतें, स्वदेस, वीर जायरा आदि जैसी सुपरहिट फिल्मों में प्रमुख हिट गाने गाए हैं.

दो शादियों के कारण रहे थे विवादों में

उदित ने अपने करियर में सफलता देखती तो अपनी जिंदगी में विवादों से भी नाता जोड़ा. 2006 में रंजना नारायण ने दावा किया कि वह उदित की पत्नी हैं, लेकिन उदित इस बारे में लगातार मना करते रहे. इसके काफी समय बाद उन्होंने रंजना को अपनाया और उनका ख्याल रखने का फैसला किया. इसके बाद उदित ने दीपा नारायण झा से शादी की.

उन्होंने दीपा संग रिश्ता शुरू किया और 1985 में उनसे शादी कर ली. दीपा और उदित का एक बेटा है, जिसे हम आदित्य नारायण के नाम से जानते हैं.

इसे भी पढ़ें : चीनी सैनिकों की लाशों का ढेर लगा कर शहीद होनेवाले परमवीर चक्र विजेता मेजर शैतान सिंह भाटी

एक्टिंग में भी हाथ आजमा चुके हैं उदित नारायण

एक और खास बात जो आप उदित नारायण के बारे में नहीं जानते होंगे वो यह है कि उन्होंने सिंगिंग के साथ-साथ फिल्मों में एक्टिंग भी की है. 1985 में उदित ने नेपाली फिल्म कुसुमे रुमाल में एक्टिंग करने के साथ-साथ उसके सभी गानों को भी गाया था. यह फिल्म नेपाली फिल्म इंडस्ट्री से ऑल टाइम क्लासिक फिल्मों में से एक है. यह नेपाली फिल्म सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्मों में अपनी जगह बनाई थी. इसके रिकॉर्ड्स को 2001 में तोड़ा गया था.

वे तीन राष्ट्रीय फिल्म अवार्ड और पांच फिल्मफेयर अवार्ड जीत चुके हैं. 2001 में नारायण को नेपाल के राजा बिरेन्द्र बीर बिक्रम शाह देव ने प्रबल गोरखा दक्षिण बाहू के अवार्ड से सम्मानित किया था. भारत सरकार द्वारा 2009 में नारायण को पद्म श्री और 2016 में पद्म भूषण अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है.

हिट गाने

  1. मेहंदी लगा के रखना, डोली सजा के रखना : दिलवाले दुल्हिनयां ले जायेंगे
  2. परदेसी परदेसी जाना नहीं : राजा हिंदुस्तान
  3. चांद छुपा बादल में शरमा के मेरी जाना : हम दिल दे चुके सनम
  4. मितवा ओ मितवा : लगान
  5. तू मेरे सामने मैं तेरे सामने, तूझको देखूं की प्यार करूं : डर

(नवीन शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार व लेखक)

इसे भी पढ़ें : खूंटी : नाबालिग छात्रा को अगवा कर पांच युवकों ने किया सामूहिक दुष्कर्म

Related Articles

Back to top button