न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पंचायत स्तर पर नियुक्त ना होकर अन्य स्थानों पर कार्यरत हैं कम्प्यूटर ऑपरेटर, विभाग करेगा शो-कॉज

845

Ranchi : 14वें वित्त आयोग मद की राशि से संविदा पर नियुक्त कई लेखा लिपिक-सह कम्प्यूटर ऑपरेटरों की नियुक्ति पंचायत स्तर की गयी थी. लेकिन इन ऑपरेटरों से पंचायत स्तर पर काम नहीं लेकर अन्य स्थानों पर काम लिया जा रहा है.

इस संदर्भ में ग्रामीण विकास सचिव प्रवीण कुमार टोप्पो ने सभी जिलों के उपायुक्त को पत्र लिखकर सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी (बीडीओ) को इन ऑपरेटरों को पंचायत स्तर पर काम करने का निर्देश दिया था. बावजूद इसके अभी तक कई बीडीओ ने विभागीय सचिव द्वारा दिये निर्देश का पालन नहीं किया है.

इसे भी पढ़ेंःसाल के अंत तक अनुसूचित जाति/जनजाति के 20 लाख लोगों को पाइपलाइन से मिलेगा पानी

पंचायत से अलग अन्य स्थानों पर कार्यरत हैं ऑपरेटर

ग्रामीण विकास सचिव प्रवीण कुमार टोप्पो द्वारा सभी जिलों के उपायुक्त को लिखा गया पत्र

पंचायतों को कार्यों में सहयोग करने के लिए 14वें वित्त आयोग की राशि से प्रति तीन पंचायत पर एक लेखा लिपिक सह कम्प्यूटर ऑपरेटरों को रखने का निर्देश सभी बीडीओ को दिया गया था. इन ऑपरेटरों के मासिक मानदेय का भुगतान पंचायतों को प्राप्त राशि से किया जाता है.

विभागीय सचिव के मुताबिक ऐसे मामले समाने आये है, जिसमें यह ज्ञात हुआ है कि संबंधित बीडीओ ने अभी तक इन ऑपरेटरों को पंचायत के लिए विरमित नहीं किया है अथवा उन्हें चिन्ह्ति पंचायत के अतिरिक्त अन्य कार्य के लिए प्रतिनियुक्त किया है.

जो कि सबंधित अधिकारियों द्वारा अनुशासनहीनता और सरकारी आदेश की अवहेलना है. वहीं बीडीओ द्वारा किया जा रहा यह कार्य ऑपरेटरों के सेवा शर्तों तथा पंचायतों के हितों के विरुद्ध है. साथ ही उनमें अतिरिक्त कार्य का बोझ भी पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ेंःशाह पर तंज कसना अजय आलोक को पड़ा भारी, जेडीयू प्रवक्ता के पद से दिया इस्तीफा

संविदा समाप्ति का दिया था निर्देश

Related Posts

100 रुपये में #IAS बनाता है #UPSC, #Jharkhand में क्लर्क बनाने के लिए वसूले जा रहे एक हजार

झारखंड में बनना है क्लर्क तो आइएएस की परीक्षा से 10 गुणा ज्यादा देनी होगी परीक्षा फीस.

सचिव ने सभी उपायुक्तों को कहा था कि सभी बीडीओ को इस संदर्भ में दिशा निर्देश जारी कर तत्काल ही पंचायत स्तर पर नियुक्त करने की पहल करें. जिन ऑपरेटरों ने अपने पंचायत स्तर पर योगदान देना शुरू नहीं किया है, उनसे स्पष्टीकरण लेकर उनकी संविदा समाप्ति करने की पहल की जाए. वहीं इन्हें विरमित नहीं करने वाले बीडीओ से स्पष्टीकरण मांगा जाए. सचिव ने यह कार्य अविलंब पूरा करने का निर्देश दिया था.

इसे भी पढ़ेंःवर्ल्ड कपः 16 जून को भारत-पाकिस्तान में भिड़ंत, कोहली ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की कही बात

ब्लॉक आना पड़ रहा है ग्रामीणों को

अन्य स्थानों पर ऑपरेटरों की नियुक्ति का असर ग्रामीण इलाकों पर पड़ रहा है. पंचायत स्तर पर ऑपरेटरों की नियुक्त नहीं होने पर इन ग्रामीणों को गांव से दूर स्थित ब्लॉक आकर काम करवाना पड़ रहा है. ऐसे में इन ग्रामीणों को अतिरिक्त खर्च वहन करना पड़ रहा है. वहीं ब्लॉक स्तर पर भी कामों का बोझ काफी बढ़ गया है.

इसे भी पढ़ें- दर्द-ए-पारा शिक्षक: फॉरेस्ट डिपार्टमेंट की नौकरी छोड़ बने पारा शिक्षक, अब मानदेय के अभाव में बने…

शो-कॉज करने की जल्द होगी पहल : सचिव

पूरे मामले पर ग्रामीण विकास सचिव ने कहा है कि गत मार्च माह में ही लेखा लिपिक-सह कम्प्यूटर ऑपरेटरों को पंचायत स्तर पर प्रतिनियुक्त करने का निर्देश विभाग ने दिया था. लेकिन अभी भी कई ऑपरेटर पंचायत से अलग अन्य स्थानों पर कार्यरत है.

अभी भी कई जिलों में विभागीय निर्देशों का पालन नहीं हुआ है. ऐसे बीडीओ की जानकारी ली जा रही है. जल्द ही उन्हें विभाग से शो-कॉज जारी कर स्पष्टीकरण मांगने की पहल की जाएगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: