JharkhandPalamu

पलामू: अब पैदल नहीं चलेंगे श्रमिक, प्रशासन ने मानवता दिखाते हुए सीमावर्ती जिले और राज्यों के चेकपोस्ट पर शुरू की बस सेवा

Palamu :  कोरोना (कोविड-19) के संक्रमण के कारण लॉकडाउन में हर दिन बड़ी संख्या में मजदूर सरकारी के साथ स्वयं के प्रबंध या भी पैदल अपने घर पहुंच रहे हैं. पैदल आ रहे मजदूरों की परेशानी को देखते हुए पलामू जिले में प्रशासन द्वारा मानवता का परिचय देने का निर्णय लिया गया है.

पड़ोसी जिले एवं राज्यों की सीमा पर चिन्हित चेक पोस्ट पर श्रमिकों के लिए भोजन और पानी का प्रबंध करने का निर्णय लिया गया है. चेकपोस्ट पर लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग भी की जाएगी.

साथ ही चेक पोस्ट से ही बसों के माध्यम से मेदिनीनगर के चियांकी एयरफील्ड स्थित सहायता केन्द्र भेजा जाएगा. जहां से संबंधित प्रखंड क्षेत्रों में प्रवासी मजदूर भेजे जाएंगे.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ेंः महाराष्ट्र सरकार ने 31 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन, 30 हजार के पार हुआ संक्रमितों का आंकड़ा  

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

पलामू जिला अंतर्गत स्थापित चेकपोस्ट बिहार बार्डर पर हरिहरगंज, चैनपुर के बांसडीह, रेहला, एनएच 39 पर सतबरवा एवं बिहार की सीमा से सटे दंगवार चेकपोस्ट से होकर काफी संख्या में प्रवासी मजदूर पैदल अपने गंतव्य स्थान पर जाने का प्रयत्न कर रहे हैं.

ऐसे में जिला प्रशासन ने मानवीय दृष्टिकोण से जिले में पैदल चलकर आने वाले श्रमिकों को समुचित सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश जारी किया है.

इसे भी पढ़ेंः कोरोना से लड़ाई में रांची बना रोल मॉडल, दूरी बनाएं लेकिन दिलों को जरूर जोड़े: CM

सरकार के निर्देश पर पलामू के उपायुक्त डा. शांतनु कुमार अग्रहरि ने पैदल चलकर अपने गंतव्य स्थान पर जा रहे श्रमिकों को चिन्हित किए गए चेक पोस्ट पर ही ’भोजन, पानी एवं आश्रय की व्यवस्था’ उपलब्ध कराने का निर्देश जारी किया है.

उपायुक्त ने इसके लिए चेक पोस्ट पर मौजूद दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारियों को जिम्मेवारी सौंपी है. कहा है कि प्रवासी श्रमिकों में पलामू जिला के श्रमिक एवं अन्य जिला के श्रमिकों की सूची को अलग करें. और चेक पोस्ट पर उनकी मेडिकल स्क्रीनिंग करवाने के पश्चात सभी को चियांकी एयरफील्ड स्थित सहायता केंद्र में ’सम्मान रथ’ से पहुंचाने की कोशिश करें.

बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम हेतु पूरे जिले में लॉकडाउन का अनुपालन कराया जा रहा है. इसी क्रम में गृह मंत्रालय भारत सरकार के निर्देश पर बाहरी राज्यों से प्रवासी मजदूरों का आगमन जिला में निरंतर हो रहा है.

इसके लिए प्रवासी मजदूरों को संबंधित जिलों में पहुंचाने हेतु रेलवे द्वारा श्रमिक स्पेशल ट्रेन का परिचालन कराया जा रहा है तथा साथ ही साथ बसों के द्वारा विभिन्न जिलों तक प्रवासी मजदूरों का आवागमन हो रहा है.

 किस चेक पोस्ट को बसों के साथ किया गया टैग  

पलामू जिले में चिन्हित किये गए चेक पोस्ट के लिए स्थाई रूप से बसों को टैग किया जा चुका है. इनके जो निम्नतः हैं-

चैनपुर, बांसडीह 1 बस  
रेहला चेकपोस्ट  2 बस  
हरिहरगंज चेकपोस्ट 2 बस  
दंगवार चेकपोस्ट 1 बस  
सतबरवा चेकपोस्ट 1 बस  

 

टैग किए गए बसों से श्रमिकों को चेक पोस्ट से चियांकी एयरफील्ड स्थित सहायता केंद्र में पहुंचाया जाएगा. जहां पर पलामू जिला के श्रमिक एवं अन्य जिला के श्रमिकों की सूची को अलग कर औपचारिकताएं पूरी की जाएगी.

इसे भी पढ़ेंः #Corona_impact टी20 विश्व कप के स्थगित होने से आईपीएल के लिए रास्ते खुलेंगे: टेलर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button