JharkhandPalamu

#Palamu : होम क्वारंटाइन में रह रहे प्रवासी श्रमिक ने फांसी लगायी, मौत, 7 मई से घर में रह रहा था अकेले

Palamu : पलामू जिले के लेस्लीगंज थाना क्षेत्र के गेठा गांव में होम क्वारंटाइन में रह एक 50 वर्षीय प्रवासी श्रमिक ने सोमवार को फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. मजदूर अकेले रह रहा था. उसके परिवार के लोग उससे अलग मेदिनीनगर में रह रहे थे. आत्महत्या के पीछे पारिवारिक तनाव का कारण सामने आ रहा है. घटना की सूचना मिलने पर स्वास्थ्यकर्मी और पुलिस मौके पर पहुंच गयी है.

लेस्लीगंज के गेंठा निवासी प्रवासी मजदूर वीरेंद्र दास (49) ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. घटना सोमवार की दोपहर की है. जानकारी के मुताबिक, वीरेंद्र दास काफी दिनों से जालंधर में मिठाई की दुकान में काम करता था, जबकि उसकी पत्नी प्रमिला देवी मेदिनीनगर के एक किराये के मकान में रह कर बजाज शोरूम में झाड़ू पोछा का काम करती थी.

इसे भी पढ़ें – #Corona: हजारीबाग, जमशेदपुर और चाईबासा से मिले एक-एक नये कोरोना पॉजिटिव, झारखंड में संक्रमण के मामले हुए 226

advt

बताया जा रहा है कि होम क्वारंटाइन के दौरान वीरेंद्र दास को घर में अकेले रहना पड़ रहा था, जिससे वह अक्सर तनाव में रहता था. सोमवार की सुबह स्वास्थ्य सहिया नूरजहां बीबी ने गांव भ्रमण के दौरान स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी भी ली थी. तक सब कुछ ठीक-ठाक था. इसके पूर्व उसने कई बार फोन पर पत्नी से बात भी की थी. लेकिन बाद में सहिया ने देखा कि वीरेंद्र दास फांसी के फंदे पर लटका हुआ है.

आत्महत्या की सूचना मिलते ही लेस्लीगंज के एसडीपीओ अनूप बड़ाईक, थाना प्रभारी वीरेन मिंज, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर राजीव रंजन, डॉक्टर अरुण कुमार मोहंती ने घटनास्थल पहुंचकर परिजनों से पूछताछ की. बाद में शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच मेदिनीनगर भेज दिया है.

एसडीपीओ ने बताया कि प्रथम दृष्टया मानसिक तनाव के बाद आत्महत्या का मामला प्रतीत होता है. पुलिस मामले की गहनता से जांच पड़ताल कर रही है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद घटना के कारणों का पता चल पायेगा.

इसे भी पढ़ें – #Lockdown: देश भर के लिए एक ही जगह से मिलेगा ई-पास, केंद्र सरकार ने बनायी नयी वेबसाइट

adv

7 मई से था होम क्वारंटाइन

मृतक वीरेंद्र दास प्रवासी मजदूर था, जो जालंधर में रह कर मिठाई की दुकान में काम करता था. लॉकडाउन के बाद 6 मई को श्रमिक स्पेशल ट्रेन से अपने भाई संजय दास के साथ पलामू आया था, जिसके बाद स्तरोन्नत उच्च विद्यालय धनगांव में कोविड-19 जांच के लिए सैंपल लेकर दोनों भाइयों को 7 मई से 14 दिन के लिए होम क्वारंटाइन कर दिया गया था. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने बताया कि मृतक का कोरोना टेस्ट भी निगेटिव आया था.

22 अप्रैल को सरकारी क्वारंटाइन में युवक ने की थी आत्महत्या

गत 22 अप्रैल को लेस्लीगंज के कोटखास स्थित उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय में एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. शाम में चना देनी गयी एक महिला कर्मी ने युवक के फांसी लगा लेने की जानकारी दी थी. कोविड संदिग्ध खिड़की के सहारे लटका हुआ था. उसके एक हाथ से खून निकल रहा था.

इसे भी पढ़ें – #Cyclon ‘अम्फान’ बदला सुपर साइक्लोन में, प्रधानमंत्री मोदी ने लिया तैयारियों का जायजा

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button