JharkhandPalamu

पलामू: कोरोना काल में वर्चुवल बीमा लोक अदालत का आयोजन, 21 मामले सुलझाये गये

Palamu :  कोरोना संक्रमण के कारण पिछले छह माह से न्यायालयों में लोक अदालत नहीं लगायी जा रही है. ऐसे में लोगों की परेशानी और सुलहनीय मामलों के निष्पादन के लिए वर्चुवल बीमा लोक अदालत की शुरूआत की गयी है. पलामू जिले में आज पहली बीमा लोक अदालत लगायी गयी. इसके माध्यम से 21 मामलों का निष्पादन किया गया. इसके लिए 6 पीठों का गठन किया गया था. सभी में न्यायिक पदाधिकारी और अधिवक्ता शामिल थे.

इसे भी पढे़ंः बॉलीवुड ड्रग्स कनेक्शन : पूर्व निर्माता क्षितिज प्रसाद को एनसीबी ने किया गिरफ्तार

advt

वर्चुवल बीमा लोक अदालत की शुरुआत करते हुए पलामू के प्रधान जिला व सत्र न्यायाधीश प्रदीप कुमार चौबे ने कहा कि कोरोना काल मे बीमा लोक अदालत लोगों के लिए काफी मददगार साबित होगी. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी को देखते हुए बिगत छह माह से लोक अदालत का आयोजन नहीं किया जा रहा है, परंतु बीमा लोक अदालत से लोगों को काफी लाभ मिलेगा. उन्होंने कहा कि सुरक्षा मानकों के अनुरूप बीमा लोक अदालत का आयोजन किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः विभागीय देरी के कारण अब मिली 1800 करोड़ के लोन की स्वीकृति, दो महीने पहले भेजा गया था प्रस्ताव

21 मामलों के निष्पादन पर इतना का हुआ सेटलमेंट

लोक अदालत में भागीदारी करते अधिवक्ता व न्यायाधीश.

वर्चुअल बीमा लोक अदालत में मामलों के निस्तारण को लेकर छह पीठों का गठन किया गया था. इसमें 21 मामलों का निस्तारण किया गया तथा 59 लाख सात हजार 500 रुपये का मामला सेटल हुआ व 63 लाख 28 हजार 201 रुपए का मामला रिलाइज्ड किया गया. प्रथम पीठ में मामले का निस्तारण जिला व सत्र न्यायाधीश तृतीय बी.के. तिवारी व अधिवक्ता शशि भूषण ने किया.

दूसरे पीठ में मामले का निस्तारण डीजे, द्वितीय आनंद प्रकाश व अधिवक्ता दिनेश चंद्र पाण्डेय, पीठ संख्या तीन में डीजे, नवम मनीष रंजन व अधिवक्ता हुसैन वारिश, पीठ चार में डीजे छह अमरेश कुमार और अधिवक्ता सतीश कुमार दुबे, पीठ पांच में डीजे पंचम आसिफ इकबाल व अधिवक्ता वीणा मिश्रा, व पीठ छह में डी.जे. आठ प्रेमनाथ पाण्डेय व अधिवक्ता संतोष कुमार पांडेय ने मामले का निस्तारण किया. एक पीठ हेल्प डेस्क बनाया गया था, इसमें अधिवक्ता सतीश कुमार व पीएलभी अनुरेखा देवी को रखा गया था.

मौके पर डालसा के सचिव अशोक कुमार, अधिवक्ता संघ के महासचिव सुबोध कुमार सिन्हा सहित अन्य उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ेंः सिद्धो-कान्हो के वंशज रामेश्वर मुर्मू हत्याकांड की होगी सीबीआइ जांच

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: