न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: रेलवे फाटक की मांग को लेकर ग्रामीणों ने तीन घंटे रोका निर्माण, कहा- हमेशा होती है घटना

108

Palamu: डालटनगंज और बरवाडीह रेलवे स्टेशन के बीच सुआ गांव में लंबे समय से रेलवे क्रॉसिंग या रेल फाटक की मांग की जा रही है. ग्रामीण इसके लिए संघर्षरत हैं. लेकिन उनकी मांगों पर की सुनवाई नहीं होने पर आज उनका धैर्य जवाब दे गया.

मेदिनीनगर सदर प्रखंड के सुआ गांव में ग्रामीणों ने रेलवे क्रॉसिंग (रेलवे फाटक) की मांग को लेकर रेलवे ट्रैक और आस पास के क्षेत्र को जाम कर दिया. वहीं इन्फ्राटेक कंट्रक्शन कंपनी द्वारा बनायी जा रही नयी तीसरी रेलवे लाइन के काम को रोक दिया गया. हालांकि बाद में कंपनी के कर्मियों द्वारा समझाने पर मामला शांत हुआ.

Sport House

गौरतलब है कि धनबाद और मुगलसराय रेल मंडल के अंतर्गत सोननगर और बरकाकाना के बीच तीसरी लाइन का निर्माण किया जा रहा है. निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है. जगह-जगह रेलवे अंडर पास बना रहा है. दो दिन पहले कजरी में अंडर पास का निर्माण किया गया.

इसे भी पढ़ें – #unnaokibeti: अंतिम संस्कार को राजी हुआ परिवार, 25 लाख मुआवजा, पक्का मकान और बहन को नौकरी का वादा

रेलवे क्रॉसिंग ना होने से रहता है जानमाल का खतरा

इस बारे में ग्रामीणों ने बताया कि डालटनगंज से लेकर सुआ तक एक भी क्रॉसिंग नहीं है. जिसके कारण ग्रामीणों को रेलवे लाइन पार करने में काफी परेशानी होती है. इसे लेकर कई बार मांग पत्र क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को सौंपे जा चुके हैं.

Mayfair 2-1-2020

ग्रामीणों ने बताया कि रेलवे क्रॉसिंग नहीं होने के कारण रेलवे लाइन पार करने में हमेशा जान माल के नुकसान का भय बना रहता है. कई बार की घटनाएं इसके गवाह हैं. ग्रामीणों ने कहा कि उनकी मांगों पर गंभीरता पूर्वक विचार नहीं किया गया तो, तीसरी लाइन के निर्माण में परेशानी खड़ी करेंगे.

कंपनी के आश्वासन पर माने ग्रामीण

Related Posts

सोनुवा में पत्थलगड़ी समर्थक और विरोधियों के बीच हिंसक झड़प,  सात के मरने की खबर, दो लापता

घटना गुलीकेरा ग्राम पंचायत के बुरुगुलीकेरा गांव की है. सूचना है कि हत्या करने के बाद सभी लोगों के शव गांव के पास स्थित जंगल में फेंक दिये गये हैं.

निर्माण कार्य रोके जाने पर तीसरी लाइन का निर्माण कार्य करा रही कंपनी इन्फ्राटेक कंट्रक्शन ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि उनकी मांगों पर विचार किया जायेगा. रेलवे के बड़े अधिकारियों से इस संबंध में अवगत कराया जायेगा. फिलहाल ग्रामीणों को रेलवे लाइन के इस पार से उस पार आने-जाने के लिए प्रारंभिक सुविधा बहाल कर दी जायेगी.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में रेप के आंकड़े चौंकाने वाले: औसतन हर दिन 5 लड़कियां होती हैं शिकार   

तीसरी लाइन बिछाने के सिवा कोई दूसरा कार्य नहीं कर सकती कंपनी: टीआई

डालटनगंज के ट्रैफिक इंस्पेक्टर के सिन्हा ने बताया कि तीसरी लाइन बिछाने के अलावा कंपनी कोई दूसरा कार्य रेलवे के हित में नहीं कर सकती. रेलवे वहां अंडर पास बना रहा है, जहां पूर्व में रेलवे क्रॉसिंग या फिर रेल फाटक रहा है. उन्होंने कहा कि अंडर पास या फिर रेलवे क्रासिंग या फिर रेल फाटक का निर्माण बड़ी आबादी को ध्यान में रखकर किया जाता है.

अगर कुछ लोग ही प्रभावित होंगे तो किसी तरह का कोई निर्माण कार्य नहीं हो सकता. सुआ गांव में अंडर पास बनाने की कोई योजना नहीं है. ग्रामीण अगर कंपनी पर दबाव बना रहे हैं, तो इससे कुछ नहीं होने वाला. अब जब भी कोई नया अंडर पास बनेगा तो इसके लिए संबंधित क्षेत्र के राज्य सरकार को पैसे खर्च करने होंगे.

ग्रामीणों को क्या करना चाहिए

सुआ के ग्रामीणों को क्रासिंग या फिर रेल फाटक निर्माण के लिए सांसद या फिर विधायक से आग्रह करना होगा. पूर्व से बने रेलवे क्रासिंग या फिर रेल फाटक की जगह ही नया अंडरपास रेलवे की ओर से बनाया जा रहा है. अगर नये जगह पर अंडर पास बनाने का मामला सामने आता है, तो इसके लिए सांसद या फिर विधायक की अनुशंसा पर ही कोई नया निर्माण हो सकता है.

इसमें राज्य सरकार को पैसा खर्च करना है. लालगढ़ में इसी तरह की स्थिति और पैसों के अभाव में अंडर पास बनाने का मामला लंबे समय से लटका हुआ है. हालांकि लालगढ़ के मामले को लेकर पलामू के सांसद वीडी राम कई स्तर पर पहल कर चुके हैं.

इसे भी पढ़ें – #BJP में बड़ा कन्फ्यूजन: अध्यक्ष कहते- दूसरे चरण के सभी 20 सीट जीतेंगे, प्रवक्ता कहते- दो पर हार रहे

SP Deoghar

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like