न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: बीएड के फेल विद्यार्थियों को पास करने के मामले में कुलपति ने जांच कमिटी बनायी

नीलाम्बर पीताम्बर विश्वविद्यालय से संचालित पलामू के चार बीएड कॉलेजों में फेल छात्र-छात्राओं को पास कर दिया गया है. मामले को तूल पकड़ने पर इसकी जांच शनिवार से शुरू करा दी गयी है.

138

Palamu : नीलाम्बर पीताम्बर विश्वविद्यालय से संचालित पलामू के चार बीएड कॉलेजों में फेल छात्र-छात्राओं को पास कर दिया गया है. मामले को तूल पकड़ने पर इसकी जांच शनिवार से शुरू करा दी गयी है. कुलपति डॉ. एसएन सिंह ने जांच के लिए चार सदस्यीय टीम बनायी है. जांच में दोषी पाये जाने वाले कर्मियों पर कार्रवाई की बात कही गयी है.

जांच के लिए चार सदस्यीय टीम बनाने की जानकारी देते कुलपति डॉ. एसएन सिंह

अखिल पलामू छात्र संघ की शिकायत पर जांच के आदेश

कुलपति ने आज पत्रकारों को बताया कि इस सिलसिले में छात्र संगठन अखिल पलामू छात्र संघ (आपसू) ने शिकायत की थी. आरोप लगाया गया था कि बीएड के सत्र 2017-19 का रिजल्ट वेबसाइट पर आने के बाद उसमें बड़ी संख्या में विद्यार्थी फेल थे. लेकिन जब अंक पत्र आया तो जीएलए, कुमारेश, ज्योति प्रकाश और एलिट बीएड कॉलेज के कई फेल छात्र-छात्राओं को पास कर दिया गया.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

शिकायत के आलोक में जांच के लिए चार सदस्यीय टीम बना दी गयी है. टीम में प्रोक्टर डॉ विवेश कुमार चैबे, डॉ. कैलाश उरांव, डॉ. विमल और अनिता सिन्हा हैं. जांच के बिन्दुओं को लेकर बैठक भी की गयी. कुलपति ने कहा कि परीक्षा विभाग के चार कर्मियों को बदला गया है, वहीं दो प्रोफेसर श्रीवास्तव महतो और अरवेन्दु शेख की नियुक्ति की गयी है.

इसे भी पढ़ें :  सिंफर से बर्खास्त किये गये मजदूरों के समर्थन में उतरे पूर्व विधायक अरुप चटर्जी, कहा- मजदूरों को बहाल करे प्रबंधन, नहीं तो होगा जोरदार आंदोलन

क्या है आपसू का आरोप?

आपसू का आरोप है कि सत्र 2017-19 का रिजल्ट वेबसाइट पर आया तो एनपीयू से संचालित पलामू और गढ़वा जिले के कई बीएड कॉलेजों के दर्जनों छात्र-छात्राएं फेल थे. लेकिन जब अंक पत्र आया तो पलामू के प्रमुख बीएड कॉलेज जीएलए, कुमारेश, ज्योति प्रकाश और एलिट के फेल छात्र भी पास कर दिये गये. आपसू नेता अभिषेक कुमार मिश्रा ने बताया कि शक होने पर टीआर निकाला गया. इसमें सच्चाई सामने आ गयी.

Related Posts

#Giridih: गाड़ी खराब होने के बहाने घर में घुसे अपराधियों ने लूटे ढाई लाख कैश व 50 हजार के गहने

धनवार के कोडाडीह गांव की घटना, तीन दिन पहले ही गृहस्वामी ने बेची थी जेसीबी

मोटी रकम लेकर पास किये गये फेल छात्र

छात्र नेता का आरोप है कि फेल छात्रों से मोटी रकम लेकर भारी भरकम अंक दे दिये गये थे. फेल छात्र गोल्ड मैडलिस्ट की श्रेणी में थे. 20 जनवरी को इस सिलसिले में कुलपति से शिकायत की गयी, लेकिन उन्होंने भी मामले में कभी स्पष्ट जवाब नहीं दिया. कार्रवाई तक नहीं की. हमेशा कहते रहे कि साफ्टवेयर की गलती से ऐसा हो सकता है. छात्र नेता ने कहा कि अगर साफ्टवेयर की गलती रही तो अन्य कॉलेजों के फेल छात्र पास हो सकते थे, उपरोक्त चार कॉलेजों के छात्र-छात्राएं ही पास क्यों हुए? लेकिन कुलपति कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थे. इसी बीच राज्य के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो को उनके द्वारा कल देर शाम इस सिलसिले में ज्ञापन सौंपा गया तो कुलपति ने आनन-फानन में मामले की जांच के आदेश दे दिये.

इसे भी पढ़ें : यह आम लोगों का बजट नहीं, बल्कि उद्योगपतियों औऱ पूंजीपतियों के हित वाला हैः हेमंत सोरेन

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

 बीएड घोटाले की जांच राज्य सरकार भी करेगी: शिक्षा मंत्री 

आपसू के कार्यकारी अध्यक्ष अभिषेक मिश्रा के नेतृत्व में आपसू का प्रतिनिधि मंडल राज्य के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो और पूर्व मंत्री कृष्णानंद त्रिपाठी से मिला. दोनों को एनपीयू में चल रहे गोरखधंधे कीविस्तार से लिखित जानकारी दी गयी. इस मामले में शिक्षा मंत्री ने विभागीय जांच करवाने का आश्वासन दिया.  कहा कि इस सरकार में न्याय नहीं हारेगा. दोषी बख्शे नहीं जायेंगे. मौके पर अभिषेक मिश्रा, राजीव रंजन, अनूप यादव, दीपक ठाकुर समेत कई आपसू कार्यकर्त्ताओं ने भी अपनी बात रखी.

इसे भी पढ़ें : #BirsaMunda व जयपाल सिंह मुंडा की कर्मभूमि पर ‘ओसी भारत सरकार’ की नजर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like