न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : भारत-पाक युद्ध विजय दिवस पर याद किये गये वीर शहीद

48

Palamu : पलामू जिले के पोलपोल स्थित शहीद स्मारक स्थल पर समारोह आयोजित कर विजय दिवस मनाया गया. इस कार्यक्रम में 1971 के भारत-पाक युद्ध में शहीद हुए वीरों को श्रद्धा सुमन अर्पित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गयी. कार्यक्रम का संचालन पूर्व सैनिक बृजेश कुमार शुक्ला ने किया. अध्यक्षता पूर्व सैनिक सह जिला महामंत्री भाजपा विजय आनंद पाठक ने की. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में कारगिल युद्ध में शहीद हुए पलामू के विश्रामपुर स्थित टुकबेरा निवासी प्रबोध महतो की पत्नी पुष्पम देवी उपस्थित थीं. कार्यक्रम में मौजूद माटी कला बोर्ड के सदस्य सह संत मरियम स्कूल के निदेशक अविनाश देव ने कहा कि शहीदों की कुर्बानी हम सबों के लिए प्रेरणा का स्रोत है. आज पूरा देश शहीदों को नमन कर उनकी वीरता का बखान कर रहा है. पूर्व सैनिक बृजेश कुमार शुक्ला ने कहा कि आज ही के दिन भारत ने पाकिस्तान के 93000 सशस्त्र सैनिकों को युद्ध बंदी बनाया था और विश्व के मानचित्र पर बांग्लादेश नामक देश का उदय हुआ था. इस युद्ध में झारखंड के लाल परमवीर चक्र विजेता अल्बर्ट एक्का शहीद हुए थे. हम सभी उनकी कुर्बानी को सलाम करते हैं.

हमारे लिए नासूर जैसा हो गया है बांग्लादेश : विजय आनंद पाठक

पूर्व सैनिक विजय आनंद पाठक ने कहा कि 1971 में शहीद हुए तमाम शहीदों को हम श्रद्धा सुमन अर्पित करते हैं, जिन शहीदों के नाम अब तक लोग नहीं जानते. भारत-पाक युद्ध में जितनी शहादत हुई और पाकिस्तान के अधिकांश भू-भाग पर हमरा अधिकार हो गया, इस भू-भाग को अगर तत्कालीन सरकार भारत में मिला देती, तो आज बांग्लादेशी घुसपैठियों की समस्या देश के सामने उत्पन्न नहीं होती और बांग्लादेश का उदय नहीं होता. वह हमारे लिए नासूर जैसा हो गया है.

ये थे मौजूद

विजय दिवस समारोह में समाजसेवी रवींद्र सिंह, दिलीप तिवारी, राकेश पाल, ओम पाल, प्रियंका मिश्रा, अमरजीत मिश्रा, राज कुमार, अभिमन्यु कुमार समेत सैकड़ों बच्चे उपस्थित थे. कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन समाजसेवी रवींद्र सिंह ने किया.

इसे भी पढ़ें- दो वर्ष बाद भी पावर प्लांट में खराब बॉयोमीट्रिक की मरम्मत नहीं, कर्मचारियों को मनमाने समय में…

इसे भी पढ़ें- पलामू : गरीबों में बांटने के लिए पौने दो करोड़ में 51 हजार कंबल आपूर्ति का हुआ करार, ठंड बीतने के…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: