न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू:  सड़क दुर्घटनाओं पर गंभीर परिवहन विभाग,  स्कूल बसों में लगेंगे सीसीटीवी कैमरे, बच्चों के बाइक लाने पर मनाही

सड़क दुर्घटनाओं को देखते हुए जिला परिवहन पदाधिकारी ने शनिवार को  जिले में संचालित स्कूल संचालकों के साथ बैठक की

99

Palamu:  जिले में बढ़ रही सड़क दुर्घटनाओं को देखते हुए परिवहन विभाग गंभीर हो गया है. इस क्रम में जिला परिवहन पदाधिकारी ने शनिवार को  जिले में संचालित स्कूल संचालकों के साथ बैठक की और यातायात नियमों का हर हाल में पालन करने का निर्देश दिया.

जिला परिवहन पदाधिकारी भागीरथ प्रसाद ने  सभी स्कूल संचालकों को स्कूल बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाने और बसों में सीटों की सख्या से अधिक बच्चों को नहीं बैठाने, स्कूल बस में एक शिक्षक या किसी जिम्मेदार कर्मचारी को बैठाने का निर्देश दिया. उन्होंने अगले एक माह में सीसीटीवी कैमरे स्कूल बसों में लगाने का निर्देश दिया है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ें – CBI जांच शुरू होते ही बकोरिया से कांड से जुड़े कई अधिकारियों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

यातायात नियमों का सख्ती से पालन करने का निर्देश

परिवहन पदाधिकारी ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अक्षरशः अनुपालन करने  हुए स्कूल बसों की खिड़कियों में जाली, फायर इंड्यूशर और फर्स्ट एड बॉक्स लगाने, एक अटेंडेंट और स्कूल का नाम और स्कूल प्रबंधन का एक फोन-मोबाइल नंबर लगाने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि प्लस टू स्कूलों में 18 से कम आयुवर्ग के बच्चे अध्ययन करते हैं.  इस आयुवर्ग के बच्चों के पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं रहता है.

18 से कम आयुवर्ग के बच्चों को स्कूल प्रबंधन बाइक लाने की सहमति नहीं दें. कहा कि यातायात नियमों की अनदेखी कर बाइक लेकर स्कूल पहुंचने वाले बच्चों के अभिभावकों को बुलाकर बच्चों  को बाइक देना वर्जित करें. बच्चे स्कूल के बाहर बाइक लगाते हैं, तो उसके लिए अभियान चलायें और बच्चों की काउंसिलिंग कर जागरूक करें. जानकारी दी कि सड़क सुरक्षा की टीम भी स्कूलों में जाकर बच्चों को सड़क सुरक्षा की जानकारी देगी.

Related Posts

सड़क सुरक्षा क्लब के गठन का निर्देश

जिला परिवहन पदाधिकारी ने स्कूल बसों का रजिस्ट्रेशन, फीटनेस, चालक का लाइसेंस डीटीवी कार्यालय में जांच कराने का निर्देश दिया है. जिला परिवहन पदाधिकारी ने सभी स्कूलों में सड़क सुरक्षा क्लब का गठन करने का भी निर्देश दिया. क्लब के माध्यम से डिवेट, पोस्टर-पंपलेट, नुक्कड़-नाटक कर यातायात नियम के लिए बच्चों को जागरूक किया जायेगा.

वहीं छुट्टी होने पर बच्चों को एक साथ नहीं छोडने का निर्देश दिया गया है. इससे सड़क दुर्घटना की संभावना बनी रहती है. कहा कि  बच्चों को क्लास वाइज बाहर निकला जाये, ताकि दुर्घटनाओं से बचा जा सके. साथ ही छुट्टी के समय बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए स्कूल के शिक्षक या सुरक्षा गार्ड बच्चों को सड़क पार कराने में मदद करें, ताकि बच्चे सुरक्षित घर पहुंच सकें.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02
इसे भी पढ़ें – झामुमो की भाजपा नेताओं को चुनौती, क्या भाजपा नेताओं ने सीएनटी और एसपीटी एक्ट का उल्लंघन नहीं किया है 

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like