JharkhandMain SliderPalamu

Palamu : टीपीसी का जोनल कमांडर गिरफ्तार, बिहार में इलाज करा कर छतरपुर में रिश्तेदार के घर छिपा हुआ था

Palamu : नक्सलियों और उग्रवादियों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान में पलामू पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने आधा दर्जन से अधिक आपराधिक कांडों में शामिल उग्रवादी संगठन तृतीय प्रस्तुति कमिटी (टीपीसी) के जोनल कमांडर गिरेन्द्र गंझू उर्फ गिरेन्द्र को गिरफ्तार किया है. गिरेन्द्र पड़ोसी राज्य बिहार के औरंगाबाद में अपना इलाज करा कर छतरपुर में अपने एक रिश्तेदार के घर छुपा हुआ था. गिरेन्द्र गंझू के पकड़े जाने पर टीपीसी का बड़ा नेटवर्क ध्वस्त हो गया है.

इसे भी पढ़ें – पलामू: कुंडीलपुर के ग्रामीणों ने पेश की मिसाल, पहाड़ को काट कर बना दी सड़क

जिले के पुलिस अधीक्षक संजीव कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि उग्रवादी संगठन तृतीय प्रस्तुति कमिटी (टीपीसी) के जोनल कमांडर गिरेन्द्र गंझू उर्फ गिरेन्द्र जी छतरपुर में अपने एक रिश्तेदार के घर पनाह लिये हुए है. रिश्तेदार के घर आने से पूर्व उसने बिहार के औरंगाबाद में अपना इलाज कराया था.

सूचना पर कार्रवाई के लिए टीम बनायी गयी. अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) अरूण कुमार सिंह, छतरपुर के एसडीपीओ शंभू कुमार सिंह, पु.अ.नि उपेन्द्र सिंह, परि.पु.अ.नि प्रियरंजन, स.अ.नि. नशीम अहमद खान, नीलाम्बर यादव और सशक्त बल के द्वारा कार्रवाई की गयी. छतरपुर के बारा स्थित वीणा लॉज में छापामारी कर टीपीसी के जोनल कमांडर गिरेन्द्र गंझू उर्फ गिरेन्द्र को गिरफ्तार किया गया. गिरेन्द्र गंझू चतरा जिले के कुंदा थाना क्षेत्र के हिन्दीया गांव का निवासी है.

इसे भी पढ़ें – बकौल लोहिया यह समय सड़क पर निकल कर संसद को आवारा होने से बचाने का है

गिरेन्द्र गंझू का आपराधिक इतिहास

गिरेन्द्र गंझू पर पलामू जिले में आठ आपराधिक मामले दर्ज हैं. जिले के पिपरा, पांडू, मनातू, हुसैनाबाद, छतरपुर और हैदरनगर में मामले दर्ज हैं. इनमें छतरपुर और हुसैनाबाद में दो-दो मामले दर्ज हैं. पुलिस टीपीसी जोनल कमांडर की गिरफ्तारी को बड़ी सफलता मान रही है.

टीपीसी का बड़ा नेटवर्क ध्वस्त: एसपी

जिले के पुलिस अधीक्षक संजीव कुमार ने बताया कि गिरेन्द्र गंझू के पकड़े जाने के बाद उग्रवादी संगठन टीपीसी का बड़ा नेटवर्क ध्वस्त हो गया है. अब छोटे संगठन रह गये हैं. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के बाद इन दिनों कारोबार चल रहा है. इसको देखते हुए गिरेन्द्र गंझू छतरपुर इलाके में पहुंचा था. वह इस इलाके का हेड है और छतरपुर-हरिहरगंज, नौडीहा बाजार के इलाके में लेवी वसूलने के लिए तैयारी में जुटा था. गिरेन्द्र के पकड़े जाने के बाद टीपीसी को बड़ा झटका लगा है. उसके कई बड़े साथी पंकज, निशांत, अनुज, बादल सहित अन्य पहले ही पकड़े जा चुके हैं. गिरेन्द्र की गिरफ्तारी पहली बार हुई है. दिसंबर 2019 में छतरपुर और जून 2020 में मनातू में हुई मुठभेड़ में वह शामिल था. इस पर इनाम घोषित करने के लिए पुलिस मुख्यालय को पत्र भेजा गया था, लेकिन उसके पहले ही यह पकड़ में आ गया. पूछताछ के दौरान गिरेन्द्र गंझू ने अपने कई मददगारों की जानकारी दी है. इस पर पुलिस काम कर रही है.

adv

इसे भी पढ़ें – Palamu : हरिहरगंज के एक ही परिवार के दो किशोर की डूबने से बिहार के अंबा में मौत, गांव में पसरा मातम

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: