न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: एप्प के जरिये कसी जायेगी चुनावी भ्रष्टाचार पर नकेल

फ्लांइग स्कॉयड टीम को दिया गया ‘सी-विजिल’ एप्प का प्रशिक्षण

858

Palamu: आगामी लोकसभा चुनाव में ‘सी-विजिल’ नामक एप्प के जरिये चुनावी भ्रष्टाचार पर नकेल लगाने की तैयारी है. भारतीय चुनाव आयोग ने यह विशेष एप्प बनाया है. इसके माध्यम से कोई भी आम और खास चुनाव से संबंधित शिकायत कर पायेगा. इसके जरिये चुनाव के दौरान राशि, मादक पदार्थ या उपहार बांटने, बिना अनुमति पोस्टर लगाने सहित अन्य प्रकार की कई शिकायतें आसानी से की जा सकेंगी.

जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त डा. शांतनु कुमार अग्रहरि के निर्देश पर मंगलवार को पलामू जिला मुख्यालय डालटनगंज स्थित समाहरणालय भवन में फ्लांइग स्कॉयड टीम को सी-विजिल एप्प का प्रशिक्षण दिया गया. प्रशिक्षण कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रशिक्षु आईएएस अधिकारी डा. ताराचंद ने की. इस मौके पर अन्य लोगों के अलावा जिले के पुलिस अधीक्षक इन्द्रजीत माहथा और आईपीएस प्रोबेशनर विनीत कुमार, सभी फ्लांइग स्कॉयड टीम के पदाधिकारी तथा अन्य जिलास्तरीय पदाधिकारी भी उपस्थित थे.

100 मिनट में शिकायत का निपटारा

प्रशिक्षु आईएएस ने बताया कि सी-विजिल एंड्रॉइड एप्प के द्वारा लोग अपनी शिकायतों का निवारण 100 मिनट के अंतर्गत करवा सकते हैं. जहां पर भी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन हो रहा होगा, वहां से लोग इस एप्प के द्वारा फोटो या वीडियो बना कर इसमें डाल सकते हैं. ऐसी शिकायतों को 100 मिनट के अंदर फ्लांइग स्कॉयड द्वारा निवारण कर दिया जायेगा.

जिला सूचना एवं विज्ञान पदाधिकारी रणवीर सिंह द्वारा सभी फ्लांइग स्कॉयड टीम के पदाधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया. बताया कि इस एप्प को कैसे उपयोग करें तथा शिकायतकर्ता के पास जल्द से जल्द कैसे पहुंचा जाए. उन्होंने कहा कि एप्प से शिकायत दर्ज कराने के लिए लोगों को कहीं जाना नहीं पड़ेगा. लोग अपनी शिकायतो को सी-विजिल एप्प के जरिये जहां पर भी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन, लोगों को बरगलाने, धमकाना या किसी तरह का उपद्रव हो रहा हो, वहीं से ही वीडियो या फोटो क्लिक कर डाल सकते हैं. सौ मिनट के भीतर टीम द्वारा इसका निष्पादन कर दिया जायेगा.
सी-विजिल एप्प कोई भी एंड्रॉइड मोबाइल में आसानी से उपयोग किया जा सकता है. ये आपके मोबाइल में साइट सी-विजिल डॉट ईसीआई डॉट गॉफ डॉट इन पर सिटीजन के लिए सी-विजिल सिटीजन एप्प के नाम से ट्रेनिंग के लिए उपलब्ध है. आचारसंहित लागू होने के बाद यह एप्प प्ले स्टोर पर उपलब्ध हो जायेगा. जिसे आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं.

कैसे काम करता है एप्प

एप्प को डाउनलोड करने के बाद मोबाइल की स्क्रीन पर स्टिल और वीडियो कैमरा का लोगो दिखायी देगा. शिकायतकर्ता वीडियो और फोटो दोनों ही डाल सकते हैं. वीडियो और फोटो बनाने के साथ ही एप्प जिला और शिकायत के प्रकार को चुनने के बारे में विकल्प देगा. शिकायत का विवरण दर्ज करने का ऑप्शन भी है. शिकायत करने के बाद एक मैसेज आयेगा, जिसमें शिकायत की आइडी नंबर भी आयेगी.

इसे भी पढ़ेंः ट्रांसफर-पोस्टिंग को लेकर खूंटी डीएसपी ने उठाये सवाल, फेसबुक पोस्ट के जरिये निकाली भड़ास

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: