JharkhandPalamu

पलामू : दिल्ली की चूड़ी फैक्ट्री से छुड़ाए गए तीन नाबालिग, परिजनों को पुलिस ने सौंपा

Palamu : जिले की पांकी थाना पुलिस ने दिल्ली की चूड़ी फैक्ट्री में काम कर रहे तीन नाबालिग लड़कों को मुक्त करा कर शुक्रवार की दोपहर परिजनों को सौंप दिया गया. थाना प्रभारी अमित कुमार सोनी के अनुसार बीते तीन माह पूर्व मतनाग के एक दलाल ने पकरिया गांव से गिरेन्द्र कुमार भुइयां, राहुल कुमार भुईयां व निरहु कुमार भुईयां को बहला फुसलाकर काम कराने के लिए पकरिया से पांकी के रास्ते शेरघाटी ले गया. यहां बस से दिल्ली ले जाकर भालेश्वर गांव स्थित चूड़ी फैक्ट्री में काम करने की बात कह लगा दिया.

गिरेन्द्र, राहुल व निरहु सहित तीनों नाबालिग बच्चों ने कहा, सुबह के 07 बजे से रात के 12 बजे तक काम कराया जाता था. थकान महसूस करने पर काम मे असमर्थता जतानेपर मालिक के द्वारा मारपीट की जाती थी. कई बार स्वजनों से संपर्क में जान से मारने की धमकी दी जाती थी.

advt

इसे भी पढ़ें :Palamu: कृषि कानून वापस लेने पर मना जश्न, वामदलों ने की मांग- शहीद किसानों को मिले 50-50 लाख मुआवजा और नौकरी

स्वजनों ने पकरिया के पूर्व मुखिया एजाज खां के साथ पांकी थाने मे सूचना दी. इस पर थाना प्रभारी अमित कुमार सोनी ने पहल कर बच्चों को ले जाने वाले दलाल मुंशी को धर दबोचा.

स्वजनों के साथ दिल्ली पुलिस की टीम ने मंगलवार को चूड़ी फैक्ट्री से तीनों बच्चों को छुड़ाया. मंगलवार को ट्रेन से दिल्ली से बच्चों को डालटनगंज व पांकी लाकर स्वजनों को सौंपा गया.

इसे भी पढ़ें :दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान AB de Villiers ने क्रिकेट को कहा अलविदा

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: