1st LeadCrime NewsJharkhandPalamu

पलामू: डब्ल्यू सिंह गिरोह के तीन गुर्गे गिरफ्तार, 50 हजार नगद-बाईक, मोबाइल सहित जाली दस्तावेज बरामद

Palamu :  कुख्यात अपराधी सरगना गौतम सिंह उर्फ डब्ल्यू सिंह गिरोह के तीन गुर्गों को गिरफ्तार किया गया है. उनके पास से रंगदारी के रूप में वसूल किये गये 50 हजार रूपए के अलावा जाली दस्तावेज सहित अन्य सामान और मोटरसाइकिलें बरामद की गयी. तीनों की उम्र 25-26 साल के आस-पास की है. तीनों डब्ल्यू सिंह और उसके भाई गोविंद सिंह, गौरव सिंह और गैंग के सदस्य राकेश सिंह एवं अन्य के कहने पर रंगदारी वसूल करते थे. इसमें एक अपराधी नौकरी के लिए तैयारी कर रहा था.

Jharkhand Rai

जिले के पुलिस अधीक्षक संजीव कुमार ने बताया कि बीती रात्रि गुप्त सूचना मिली की मेदिनीनगर शहरी क्षेत्र के पांकी रोड रेड़मा में कुख्यात अपराधकर्मी डब्ल्यू सिंह का एक गुर्गा किसी ठिकेदार से रंगदारी लेने आने वाला है. सूचना पर छापामारी टीम बनायी गयी. प्रशिक्षु आइपीएस कपिल चैधरी और सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी संदीप गुप्ता के नेतृत्व में शहर थाना की पुलिस टीम द्वारा पांकी रोड में टोह लेकर छापामारी की गयी.

इसी क्रम में पांकी रोड में दो अपराधी पल्सर मोटरसाइकिल पर सवार पकड़े गये. उनके पास से 50 हजार रूपए बरामद किए गए. पूछताछ करने पर दोनों ने बताया कि वे डब्ल्यू सिंह के आदमी हैं और उसके जीएलए कॉलेज रोड में कचरवा डैम के समीप स्थित घर में रहते हैं. डब्ल्यू सिंह एवं उसके भाइयों के बताए अनुसार रंगदारी वसूली करते हैं.

Samford

इसे भी पढ़ें:  CoronaEffect: महज 50 फीसदी सिलेबस पर ही होगी CBSE 10-12वीं बोर्ड परीक्षा

क्या-क्या मिला मौके से

दोनों से मिली जानकारी के बाद डब्ल्यू सिंह एवं उसके भाइयों के ठिकानों पर छापामारी की गयी. इस दौरान डब्ल्यू सिंह के घर से गोविंद सिंह उर्फ छोटू सिंह का फोटो लगा हुआ राहुल सिंह के नाम का वोटर आइडी मिला. पकड़ाये युवकों का अलग-अलग पता का 3 वोटर आइडी, कई ग्रामीणों की जमीन के कागजात, 2 डायरी, सात मोबाइल फोन, दो मोटरसाइकिलें आदि मौके से जब्त की गयी.

डायरी में कुणाल सिंह हत्याकांड में बंद अभियुक्तों को जेल में खाना खर्चा भेजवाने और उसके परिवार को पैसा दिये जाने का उल्लेख है. डायरी में उसके गैंग का बैरिया निवासी राकेश सिंह द्वारा पैसों की उगाही कर लाने का उल्लेख है. घर से एक बिना नंबर की एवेंजर मोटरसाइकिल बरामद की गयी. डायरी और जाली दस्तावेज को जब्त किया गया है.

जिले के एसपी ने बताया कि अपराधकर्मी गौतम सिंह उर्फ डब्ल्यू सिंह अपने भाई गोविंद के साथ फरार रहकर डालटनगंज में अपने भाई गौरव सिंह, गैंग के सदस्य रकेश सिंह एवं अन्य गुर्गों से रंगदारी, जमीन कब्जा करना और ठेका मैनेज करना व कब्जा करने का धंधा चला रहा है. एसपी ने यह भी जानकारी दी की गैंग में नये लड़कों को शामिल कराया जा रहा है. बड़े-बड़े सपने दिखाकर उनसे गैरकानूनी कार्य कराये जा रहे हैं. इससे वे बली का बकरा बन रहे हैं. उनका भविष्य भी खराब हो रहा है.

इसे भी पढ़ेंः मोदी ने कहा, सुरक्षित, समृद्ध भारत राजमाता का सपना, इसे हम आत्मनिर्भर भारत की सफलता से पूरा करेंगे

कौन-कौन हुए गिरफ्तार

एसपी ने ऐसे लड़कों को चेतावनी दी कि वे अपराधी गिरोह में पार्टीसीपेट ना करे. पकड़े गये तीनों अपराधियों का पूर्व से कोई आपराधिक इतिहास नहीं रहा है. गिरफ्तार अपराधियों में चतरा जिले के कमात निवासी ऋषिकांत सिंह, गढ़वा के नगर उंटारी थाना क्षेत्र के कमता निवासी कौशल सिंह और पिपरा के सरइया के नावाडीह निवासी अमित तिवारी शामिल हैं. अमित तिवारी नौकरी के लिए तैयारी कर रहा था.

छापामारी टीम में कौन कौन-कौन थे शामिल

छापामारी टीम में प्रशिक्षु आइपीएस, सदर एसडीपीओ के अलावा पुलिस निरीक्षक सह शहर थाना प्रभारी अरूण कुमार महथा, परी.पु.अ.नि अमित कुमार सिंह और संजय कुमार रजक, स.अ.नि. गोपाल जी दुबे और टीओपी टू के प्रभारी रामजीत सिंह शामिल थे.

इसे भी पढ़ेंः JSSC से अपना ‘हक’ लेने के लिए मोरहाबादी की बापू वाटिका में युवाओं का सत्याग्रह शुरू

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: