JharkhandPalamu

पलामू: सीजेएम आवास के सामने व्यवसायी के घर से लाखों की चोरी

Palamu: डालटनगंज में चोरों के हौसले किस कदर बुलंद हैं, इस बात का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि चोरों ने शहर के पॉश इलाके में आनेवाले चर्च रोड में सीजेएम (मुख्य न्यायाधीश) आवास के पास बड़ी घटना को अंजाम दिया गया. बंद घर में चोर घुसे और अलग-अलग कमरे में रखे कीमती सामान और नकद लेकर फरार हो गए. मंगलवार की सुबह घटना की सूचना तब मिली, जब मकान के पीछे रह रहे मोबाइल टॉवर के गार्ड ने मेन गेट को खोला तो मकान के अन्य दरवाजे खुले पाए गए और उनपर लगे ताले टूटे हुए थे. सूचना पर शहर थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची. मामले की छानबीन तेज कर दी गयी है.

Advt

इसे भी पढ़ेंःपलामू: अधेड़ की तेज धारदार हथियार से हत्या, ओझा-गुणी का करता था काम

व्यवसायी आलोक और संजू श्रीवास्तव के घर हुई चोरी

तोड़ा गया अलमीरा और बिखरे सामान

शहर के व्यवसायी आलोक श्रीवास्तव और संजू श्रीवास्तव के घर चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया. हर दिन की तरह मोबाइल टॉवर के गार्ड कमलेश सिंह ने जब पीछे से सामने आकर व्यवसायी ब्रदर्स के मेन गेट को खोला तो अंदर का दृश्य देखकर चौंक गया. मुख्य दरवाजे पर लगा ताला टूटा हुआ था. वही जब वो कमरे में गया तो वहां रखे तीन से चार आलमीरा टूटे पड़े थे. सामान बिखरे पड़े थे. वहां का दृश्य बता रहा था कि चोरों ने केवल कीमती सामान पर ही हाथ साफ किया होगा, क्योंकि चांदी और रोलगोल्ड की ज्वेलरी जमीन पर बिखरी पड़ी थी.

इसे भी पढ़ेंःनीलकंठ सिंह ने कहा- विपक्ष बहा रहा ‘घड़ियाली आंसू’, बयान पर बरपा हंगामा-कार्यवाही स्थगित

शादी में जमशेदपुर गया है पूरा परिवार

दरअसल, आलोक श्रीवास्तव के बड़े भाई प्रेम श्रीवास्तव की बेटी की शादी है. पूरा परिवार दो-तीन दिनों से जमशेदपुर गया हुआ है. मंगलवार को बारात आनी है. फोन पर चोरी की जानकारी प्रेम श्रीवास्तव को दी गई. हालांकि, उन्होंने कहा कि शादी खत्म होने के बाद ही अब वो डालटनगंज आएंगे, तब आंकलन किया जायेगा कि चोरी में कितनी की संपत्ति गायब हुई है.

इसे भी पढ़ेंःफेल है सीएम रघुवर दास का महत्वाकांक्षी मोबाईल ऐप ‘झारखंड मेरा हुनर’

पुलिस की अपील नहीं मानते शहरवासी

अक्सर पुलिस यह आग्रह करते रहती है कि शादी-विवाह या फिर किसी कार्य से बाहर जाने पर घर को पूरी तरह से खाली ना करें. अगर कोई विश्वासी परिचित या फिर रिश्तेदार हो तो उसे कम से कम घर पर छोड़ जाए. अगर संभव नहीं हो तो कम से कम पुलिस को इस मामले में सूचित करें. लेकिन शहरवासी ऐसा नहीं करते, जिससे अक्सर ऐसे दिनों की ताक में रहने वाले चोरों को मौका मिल जाता है और वे अपने मंसूबों को अंजाम देने में सफल हो जाते हैं. फिलहाल पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Advt

Related Articles

Back to top button