JharkhandPalamu

पलामू: न्यूनतम पारा 4.9 पर आया, सोमवार सीजन का सबसे ठंडा दिन-वृद्धा की मौत

Palamu : उत्तर दिशा से आने वाली हिमालयी हवा से कनकनी बढ़ गयी है. पूरा पलामू भीषण शीतलहर की चपेट में है. इससे जनजीवन पर बुरा असर पड़ा है. सोमवार को मेदिनीगनर का तापमान करीब चार डिग्री तक लुढ़ककर 4.9 डिग्री पर पहुंच गया. यह सामान्य से दो डिग्री कम है. अन्य जिलों में भी ऐसा ही हाल है. ठंड से जिले के पांकी प्रखंड के केकरगढ़ पंचायत के द्वारिका गांव में 70वर्षीय वृद्ध महिला की मौत हो गयी है.

भारतीय मौसम विज्ञान केंद्र रांची के वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने बताया कि पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी का भी असर दिख रहा है. अभी लगातार ऐसी ही स्थिति बनी रहेगी. तापमान में लगातार गिरावट आएगी और ठंड बढ़ेगी.

इसे भी पढ़ें:नये साल में ऐप से खाना मंगाने पर लग सकता है झटका ! जानें किस वजह से ऑनलाइन फूड डिलीवरी हो सकती है महंगी

Catalyst IAS
ram janam hospital

सोमवार को मेदिनीनगर सीजन का सबसे ठंडा रहा. यहां का पारा लुढ़ककर 4.09 डिग्री तक पहुंच गया. रविवार को यहां का न्यूनतम तापमान 8.04 डिग्री दर्ज किया गया था.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

इसी तरह शनिवार को न्यूनतम तापमान 10 डिग्री के आस पास था. ठंड में बढोतरी के बीच प्रशासनिक व्यवस्था नगण्य नजर आती है. मेदिनीनगर में अबतक अलाव का प्रबंध नहीं हो पाया है. इससे राहगीरों और रिक्शा चालकों की परेशानी ज्यादा बढ़ी हुई है.

इसे भी पढ़ें:पटना के सभी स्कूल सुबह 9 बजे से 3.30 बजे तक चलेंगे, प्रशासन ने जारी किया निर्देश

ठंड से वृद्ध महिला की मौत

जिले के पांकी प्रखंड की केकरगढ़ पंचायत के द्वारिका गांव में बढ़ती ठंड से दिबली कुंवर (70 वर्षीया) की मौत हो गयी. परिजनों ने बताया कि ठंड लगने से मौत हुई है. सोमवार की सुबह अचानक तबीयत खराब हो गयी, जिससे दिबली को अचानक मौत हो गयी. मौत की खबर मिलते ही दिबली के परिजनों में मातम छाया हुआ है.

केकरगढ़ के शिव कुमार यादव ने मौत की सूचना मिलते ही दिबली के घर पहुंचे. उन्होंने नगद राशि व चावल मुहैया कराया. बरसात के मौसम में दिबली कुंवर का घर पेड़ गिरने से क्षतिग्रस्त हो गया था.

इसे भी पढ़ें:7 सालों में झारखंड के 41 जवानों ने देश के लिये दी शहादत, शहीद के परिजन को 10 लाख रुपये और सरकारी नौकरी दे रही सरकार

मुखिया ने सहयोग किया था, परंतु सरकारी लाभ प्रक्रिया में रहने के कारण वृद्ध को कोई लाभ नहीं मिला था. अंततः वृद्ध ने दम तोड़ दिया.

जिले के प्रखंड क्षेत्रों में भी ठंड से परेशानी बढ़ी हुई है. जिले के सतबरवा प्रखंड क्षेत्र में ठंड का प्रकोप बढ़ गया है. हाड़ कपाती ठंड और पश्चिम से पूरब दिशा की ओर चल रही ठंडी हवाओं ने लोगों का जीना दूभर कर दिया है.

भाजयुमो जिला कार्यसमिति सदस्य आशीष कुमार सिन्हा ने कहा है कि कि प्रशासन जगह-जगह पर अलाव की व्यवस्था कराएं, ताकि ठंड के प्रकोप से बचा जा सके. खेत खलिहानों में बर्फ जमने लगी है.

इसे भी पढ़ें:सरकार कर रही जन समस्या समाधान का दावा, पीड़ित परिवार लगा रहे हैं उपायुक्त कार्यालय के चक्कर : मेयर आशा लकड़ा

Related Articles

Back to top button