न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पारा शिक्षकों की हड़ताल से बिगड़ी शैक्षणिक स्थिति, तो युवकों ने संभाली कमान

नवयुवक क्रांति संघ कजरू कलांं के युवक बच्‍चों को पढ़ा रहे हैं

167

Palamu : पलामू सहित पूरे राज्य के पारा शिक्षक लाठीचार्ज के विरोध में और नियमित करने की मांग को लेकर पिछले 20 दिनों से हड़ताल पर हैं. ऐसे में कई स्कूलों में शैक्षणिक व्यवस्था ठप हो गयी. कुछ इसी तरह की स्थिति जिले के पांडू प्रखंड अंतर्गत कजरु कलां के राजकीय स्‍नोतर मध्य/उच्च विद्यालय की भी बन गयी थी, लेकिन जब वहां के शिक्षित युवाओं को इसकी जानकारी हुई, तो उन्होंने शिक्षा देने की कमान संभाल ली.

बच्चों को कभी पारा शिक्षकों की कमी महसूस नहीं होने दी

नवयुवक क्रांति संघ कजरू कलांं के युवक बच्‍चों को पढ़ा रहे हैं. संघ के आनंद, कौशल, राजू पासवान,अमर गुप्ता, महंत पांडेय समेत अन्य युवा हर दिन बच्चों को पढ़ाने स्कूल पहुंचते हैं. सभी युवा सरकारी शिक्षकों के साथ मिलकर बच्चों को पढ़ाते हैं. बच्चे भी हर घंटी मन लगाकर पढ़ायी कर रहे हैं. यह सिलसिला हड़ताल के बाद से लगातार चलती आ रही है. हड़ताल के बाद कम हुई बच्चों की संख्या भी बढ़ी है. बच्चों को कभी पारा शिक्षकों की कमी महसूस नहीं होने दी गयी है. सरकारी शिक्षक भी युवकों के सहयोग से जहां पढ़ायी कराने में सफल हो पा रहे हैं, वहीं मध्याहन भोजन भी बनवा रहे हैं. नियमित समय पर कक्षा शुरू होती है और छुट्टी भी.

युवकों के इस कार्य से ग्रामीण खासे प्रभावित

शिक्षा देने वाले युवकों में किसी ने बीएड तक की पढ़ायी कर रखी है, तो किसी ने ग्रेजुएशन की डिग्री ली है. कुछ युवक टीचर ट्रेनिंग करके यहां अपना योगदान दे रहे हैं. युवकों के इस कार्य से ग्रामीण खासे प्रभावित हुए हैं. ग्रामीणों का कहना है कि हड़ताल के बाद उन्होंने अपने बच्चों को स्कूल भेजना बंद कर दिया था. लेकिन जब से गांव के युवा पढ़ायी करवा रहे हैं, वे अपने बच्चों को लगातार पढ़ने के लिए भेज रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःबोकारो डीसी के पीए मुकेश कुमार को एसीबी ने 70,000 रुपए घूस लेते पकड़ा

इसे भी पढ़ेंःडेंजर जोन में झारखंड के चार जिले- भूकंप का खतरा, वैज्ञानिक शोध में खुलासा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: