JharkhandPalamu

  पलामू: ठगी के शिकार हो रहे प्रधानमंत्री किसान निधि योजना के लाभुक, झांसे में लेकर बिचैलिये ने हड़प ली आधी राशि

 Palamu :  प्रधानमंत्री किसान निधि योजना के लाभुक लगातार ठगे जा रहे हैं. लाभुक किसानों के पैसे हड़प कर बिचैलिये मालामाल हो रहे हैं. पलामू जिले के तरहसी प्रखंड के कसमार गांव में ठगी से संबंधित कई लाभुकों ने शिकायत की है और कार्रवाई की गुहार लगायी है.

इसे भी पढ़ेंः #Corona: हजारीबाग, जमशेदपुर और चाईबासा से मिले एक-एक नये कोरोना पॉजिटिव, झारखंड में संक्रमण के मामले हुए 226

advt

किसानों के खाते में आए प्रधानमंत्री किसान निधि योजना के दो-दो हजार रूपये बिचैलिये राजेंद्र सिंह द्वारा यह कहते हुए निकलवा लिए गए कि उनके खाते में पैसे भेजवाने में उन्होंने काफी मेहनत की है. यह उसकी मेहनत की कमाई है. सारे लाभुकों से कुल राशि में से आधा पैसा लिया गया. 

इसे भी पढ़ेंः #Palamu : 5 और मरीजों ने दी कोरोना को मात, सिविल सर्जन ने मास्क-सैनिटाइजर देकर किया विदा

मामला उजागर होने के बाद ग्रामीणों ने इसकी शिकायत तरहसी के प्रखंड विकास पदाधिकारी सह अंचलाधिकारी पवन आशीष लकड़ा से की है. ग्रामीणों ने इस मामले में अंचलाधिकारी को लिखित आवेदन देकर कार्रवाई की गुहार लगायी है.

जांच में आरोप सिद्ध होने पर सीधे होगी प्राथमिकी: बीडीओ

तरहसी के बीडीओ सह सीओ ने कहा कि ग्रामीणों का आवेदन मिला है. जांच की जा रही है. जांच में आरोप सिद्ध होने पर दोषी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि पीएम किसान निधि योजना की राशि लाभुकों के सीधे आती है.

adv

इसमें किसी बिचैलिये का कोई हाथ नहीं है, लेकिन अगर किसी बिचैलिये द्वारा लाभुकों को झांसे में लेकर अगर आधी रकम ले ली गयी है तो यह बड़ा मामला है.

इसे भी पढ़ेंः #WHO से भारत भी कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जानकारी मांगेगा

ग्रामीण सह लाभुक किसान रामप्यारी देवी (पति भीम महतो), सरिता देवी (पति मनोज राम), रीना देवी (पति हरि महतो), निरांती देवी (पति संजय राम), रूपम कुमारी (पति राजेंद्र राम) ने बताया कि उनके खाते में पीएम किसान निधि का 2 हजार आया था.

पसहर गांव निवासी राजेंद्र सिंह (पिता बोधन सिंह) ने किसानों के घर जाकर जबरन उनसे एक-एक हजार रूपये अंगूठा लगाकर निकासी कर ली है.

विरोध करने पर दी धमकी 

जब ग्रामीण लाभुकों ने इसका विरोध किया तो राजेंद्र सिंह ने यह कहते हुए धमकी दी कि अगर पैसा नहीं दोगे तो आगे से खाता में पैसा नहीं आएगा. आरोप लगाया गया कि राजेंद्र सिंह ने अबतक सैकड़ों लोगों को झांसे में लेकर पीएम किसान निधि के पैसों की निकासी कर ली है.

शेड बना नहीं, तीन तीन हजार रूपये कर ली ठगी 

वही कसमार की प्रतिमा देवी ने आरोप लगाया है कि राजेंद्र सिंह समूह की महिलाओं से बकरी शेड दिलाने के नाम पर प्रत्येक महिला सदस्य से तीन-तीन हजार रुपए लिए.

पैसे लेने के बाद किसी महिला को बकरी शेड नहीं मिला. जब महिलाएं अपना पैसा राजेंद्र सिंह से वापस मांगने पहुंचते हैं तो राजेंद्र सिंह पैसे देने से इंकार कर रहा है.

आरोप लगाया गया कि बकरी शेड दिलाने के नाम पर राजेंद्र सिंह ने करीब डेढ़ से दो सौ महिलाओं से तीन-तीन हजार पैसा वसूल की है.

लंबे समय से ठगी का कर रहा धंधा

ग्रामीणों ने बताया कि राजेंद्र सिंह करीब 10 से 15 वर्षों से लगातार इसी तरह के कार्य करते आ रहा है. सरकार द्वारा जब ग्रामीणों खाते में किसी फंड का पैसा आता है तो राजेंद्र लाभुकों घर पहुंच जाता है और जबरन उनके खाते से आधे पैसे निकाल लेता है.

हालांकि ग्रामीणों के द्वारा आवेदन देने के बाद अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या इस मामले में बिचैलिये राजेंद्र सिंह पर प्राथमिकी दर्ज होती है या फिर मामले की लीपापोती. ग्रामीणों ने मामले की शिकायत क्षेत्रीय विधायक कुशवाह डॉ शशि भूषण मेहता से भी की है. इस मामले में जब राजेंद्र सिंह से पूछा गया तो उन्होंने कुछ बताने से इंकार किया.

इसे भी पढ़ेंः स्वर्णरेखा का पानी हुआ काला, प्रशासन और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड करे पहल : सरयू राय

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button