न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: ACB की टीम ने दारोगा प्रवीण कुमार झा को घूस लेते गिरफ्तार किया, केस डायरी हलका करने के लिए मांग रहा था दो हजार  

1,541

Palamu:  भ्रष्टाचार पर नकेल कसने के लिए एंटी करप्शन ब्यूरो की ओर से लगातार कार्रवाई की जा रही है. हर दिन किसी ने किसी जिले में घूस लेते पदाधिकारी और कर्मचारी पकड़े जा रहे हैं.

बावजूद भ्रष्टाचार के मामले कम नहीं हो पाए हैं. एंटी करप्शन ब्यूरो की पलामू इकाई द्वारा इस वर्ष का चौथा ट्रैप करते हुए पंडवा थाना के दारोगा प्रवीण झा को दो हजार रूपये घूस लेते गिरफ्तार कर लिया. इससे पहले गत 7 जून को लातेहार के बारियातू ब्लाक के कंप्यूटर ऑपरेटर को घूस लेते गिरफ्तार किया था.

इसे भी पढ़ेंः पीएम ने झारखंड को योग दिवस के मुख्य आयोजन के लिए चुना,  यह गर्व का विषय: सीएम 

आवेदिका के पति को बनाया गया है आरोपी

एसीबी के डीएसपी रामपूजन सिंह ने बताया कि नावा बाजार थाना क्षेत्र के लठैया निवासी मनोज कुमार रवि को आर्म्स एक्ट में गिरफ्तार अभियुक्त राजू राम के बयान पर अभियुक्त बनाया गया है. इसके अनुसंधानकर्ता दारोगा प्रवीण कुमार झा है. झा के द्वारा गत् 16 मई को मनोज कुमार रवि को फोन किया गया और बताया गया कि तुम्हारे ऊपर केस है.

आकर मुझसे मिलो. मनोज राम ने इसकी जानकारी अपनी पत्नी ललिता देवी को दी. ललिता जब पड़वा थाना गयी, तो वहां पुलिस अवर निरीक्षक प्रवीण कुमार झा ने कहा कि तुम्हारे पति को फंसा दिया गया है. दस हजार रूपया दो, डायरी हलका कर देंगे.

Related Posts

आंगनबाड़ी आंदोलन : हेमंत के समर्थन से कांग्रेस के बदले बोल, प्रदेश अध्यक्ष ने कहा “ बड़े भाई की भूमिका में रहेगा JMM”

पूर्वोदय 2019  में  झारखंड कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा “ लोकसभा चुनाव में बना गठबंधन अभी भी जारी“.

इसे भी पढ़ेंः नगर निगम : 10 दिन में आ जायेगी बरसात, लेकिन प्रस्ताव के बावजूद 265 रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम पर नहीं हुआ काम 

शिकायत के बाद की गयी कार्रवाई 

डीएसपी ने बताया कि आवेदिका घूस देना नहीं चाहती थी. लगातार आग्रह के बाद भी जब झा ने उसकी एक न सुनी तो उसने इसकी सूचना एसीबी की पलामू इकाई को दी.

सत्यापन के बाद डीएसपी रामपुजन सिंह के नेतृत्व में टीम बनायी गयी. झा को घूस के पैसे लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया गया. प्रवीण कुमार झा धनबाद के हीरापुर थाना क्षेत्र के रहने वाला है. गिरफ्तार करने के बाद दारोगा को एसीबी कार्यालय लाया गया. कागजी प्रक्रिया के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेजा जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः मुख्यमंत्री जनसंवाद के माध्यम से शिकायतों के निपटारे में धनबाद राज्य में नौवें स्थान पर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: