JharkhandPalamu

पलामू : विद्यार्थी परिषद ने घेरा नीलाम्बर पीताम्बर विश्वविद्यालय, जोरदार प्रदर्शन के बाद सौंपा ज्ञापन

Palamu : नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय में व्याप्त शैक्षणिक समस्याओं को लेकर मंगलवार की दोपहर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के दो दर्जन कार्यकर्ता ने झंडे लेकर विश्वविद्यालय का घेराव किया. घेराव कर रहे छात्र नेताओं ने नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया. छात्र नेताओं का यह घेराव कार्यक्रम तकरीबन एक घंटे तक चला. घेराव के बाद कुलपति को संबोधित एक मांग पत्र भी सौंपा गया.

मांग पत्र में सत्र 2019-22 एवं सत्र 2019-21 के पंजीयन की त्रुटि में सुधार, यूजी समेस्टर वन एवं समेस्टर 3 के परीक्षा परिणाम में आई त्रुटिओं में सुधार करते हुए परिणाम घोषित करने, यूजी समेस्टर टू एवं समेटर 4 के परीक्षा फार्म भरने की तिथि बढ़ाने, वैसे छात्र जिन्होंने कोरोना काल में अपने अभिभावक खोये हैं, उनकी शिक्षा निःशुल्क कराने आदि शामिल हैं.

छात्र नेताओं ने विश्व विद्यालय प्रबंधन को आगाह किया है कि अगर उनकी यह मांगे 72 घंटे में नहीं पूरी की गयी तो छात्र हित में अखिल विद्यार्थी परिषद आंदोलन को और तेज करने पर बाध्य हो जायेगा.

advt

इसे भी पढ़ें :CBSE 10 वीं बोर्ड में झारखंड से 69947 स्टूडेंट्स ने पायी सफलता, 99.81 फीसदी रहा रिजल्ट

मौके पर प्रदेश मंत्री राजीव रंजन देव पांडे ने कहा कि बार-बार विश्वविद्यालय प्रशासन को ज्ञापन देने के बाद भी छात्रों की समस्याओं का निराकरण नहीं किया गया, तब जाकर के अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने छात्रहित में यह आंदोलन करने की जिम्मेदारी ली.

वही मौके पर उपस्थित विश्वविद्यालय संयोजक नवनीत कुमार नवनीत ने कहा कि मार्कशीट और पंजीयन प्रपत्र में गलती विश्वविद्यालय के पदाधिकारियों से होता है पर उसके लिए छात्र लगातार परेशान होते रहते हैं फिर भी उनकी समस्या का कोई निदान नहीं हो पाता है.

राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य विनीत पांडे ने विद्यालय प्रशासन की एक-एक गलतियों को उजागर कर विश्वविद्यालय प्रशासन को कहा कि यदि इन समस्याओं का जल्द से जल्द निदान नहीं होता है तो विश्वविद्यालय इस से भी बड़े आंदोलन के लिए तैयार रहें.

इसे भी पढ़ें :IPL के शेष मैच खेलने के लिए MS Dhoni की कप्तानी वाली CSK सबसे पहले पहुंचेगी UAE

नगर मंत्री रोहित देव ने सत्र 2019 22 के छात्रों के पंजीयन प्रपत्र में बड़े पैमाने पर हुई त्रुटि को लेकर के विश्वविद्यालय प्रशासन को घेरते हुए कहा कि विश्वविद्यालय आखिर एक ऐसी एजेंसी से लगातार काम क्यों करवा रही है, जो पंजीयन प्रपत्र और मार्कशीट में लगातार गलती किए ही जा रहा है.

पंजीयन प्रपत्र में पिता के नाम में दुबे होता है तो बेटे का नाम सिंह हो जाता है. आखिर इतने बड़े पैमाने पर गलतियां क्यों हो रही है, इसे सुधारा क्यों नहीं जा रहा है.

प्रदर्शन में जिला सहसंयोजक गोविंद मेहता प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अभय वर्मा, रजनीकांत मिश्रा, चैनपुर नगर मंत्री राजन कश्यप, अभिषेक कुमार रवि, मिथिलेश दीक्षित, सुमित पाठक, इशांत पांडे, आकाश सिंह, सत्य प्रकाश गुप्ता, हनुमान पांडे, प्रभात दुबे, नीतीश सिंह, रंजन कुमार, पीयूष पांडे, अरमान पांडे, निशांत पांडे सहित कई कार्यकर्ता शामिल थे.

इसे भी पढ़ें :ADJ उत्तम आनंद मामले की हाई कोर्ट में सुनवाई शुरू, पूछा- एफआईआर दर्ज करने में क्यों हुई देरी?

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: