Corona_UpdatesPalamu

#Palamu:विशाखापट्टनम से डालटेनगंज आयी स्पेशल ट्रेन, राज्य के 22 जिलों के 1157 प्रवासी मजदूर की वापसी

Palamu: कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जारी लॉकडाउन में स्पेशल ट्रेन से प्रवासी मजदूरों का झारखंड आना लगातार जारी है. मंगलवार सुबह एक बार फिर झारखंड के 22 जिलों के 1157 मजदूरों को लेकर विशाखापट्टनम से श्रमिक स्पेशल ट्रेन डालटनगंज पहुंची.

बता दें कि केवल पिछले छह दिनों में 55 सौ से अधिक प्रवासी मजदूर विभिन्न राज्यों से श्रमिक स्पेशल द्वारा झारखंड आ चुके हैं.

advt

इसे भी पढ़ेंःयात्रीगण कृपया ध्यान दें- रेल यात्रा से पहले मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप रखना अनिवार्य

स्टेशन पर श्रमिकों की थर्मल स्क्रीनिंग

मंगलवार की अहले सुबह 5 बजे झारखंड के 22 जिलों के 1157 प्रवासी मजदूरों को लेकर (08531) विशाखापट्टनम-डालटेनगंज श्रमिक स्पेशल ट्रेन पहुंची. स्टेशन पर मौजूद रेलवे पुलिस बल ने आने वाले सभी श्रमिकों को ट्रेन से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए उतारा.

सबसे अधिक 407 पलामू के प्रवासी मजदूर

मंगलवार को लौटे 1157 प्रवासी मजदूर झारखंड के कुल 22 जिलों के हैं. जिसमें सबसे अधिक पलामू के 407, गढ़वा के 231, चतरा के 89, पूर्वी सिंहभूम के 62, सरायकेला के 49, पश्चिमी सिंहभूम के 46, बोकारो के 41, लातेहार के 39, गोड्डा के 32, गुमला के 31, रामगढ़ के 31,हजारीबाग के 28, दुमका के 13, देवघर के 13 , खूंटी के 13, सिमडेगा के 12, गिरीडीह के 5, रांची के 5, धनबाद के 4, साहेबगंज के 4, जामताड़ा के 1, तथा कोडरमा के 1 श्रमिक शामिल है.

 ट्रेन से उतारे जाने के बाद मजदूरों की मेडिकल टीम द्वारा थर्मल स्कैनिंग एवं स्वास्थ्य जांच की गयी. इसके बाद फूड पैकेट एवं पेयजल देकर श्रमिकों का किया स्वागत किया गया. स्टेशन से श्रमिकों को चियांकी एयरफील्ड में पहुंचाया गया. यहां बने सहायता केंद्र में जिलावार तथा प्रखंडवार बसों में बैठा कर श्रमिकों को राशन के पैकेट्स के साथ विदा किया गया.

14 दिनों तक होम क्वारेंटाइन का अक्षरशः पालन करना होगा

चियांकी स्थित सहायता केंद्र में मौजूद उप विकास आयुक्त बिंदु माधव प्रसाद सिंह ने बताया कि विशाखापट्टनम से आने वाले सभी श्रमिक बंधुओं को 14 दिनों तक होम क्वारेंटाइन का अक्षरशः पालन करने का निर्देश दिया गया है. इसके अलावा श्रमिकों से मास्क का उपयोग तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने हेतु अपील की गयी.

इसे भी पढ़ेंः#Covid-19: 24 घंटे में देश में 3604 नये केस-87 लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 70 हजार के पार

जिला समाज कल्याण पदाधिकारी आफताब आलम ने बताया कि सुरक्षा की दृष्टिकोण से विशाखापट्टनम से आने वाले सभी मजदूरों को उनके गंतव्य स्थान तक भेजने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली बसों को पूरी तरह से सैनिटाइजड किया गया. श्रमिकों को उनके घर जाने से पूर्व जिला प्रशासन के द्वारा राशन का पैकेट भी दिया गया, जिसमें चावल, सोयाबीन तथा सत्तू शामिल है.

पिछले छह दिनों में कब और कहां से कितने प्रवासी मजदूर आए

पिछले छह दिनों में डालटनगंज रेलवे स्टेशन पर पांच श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेनों का आगमन हुआ. इससे झारखंड के विभिन्न जिलों के 5711 मजदूरों को लाया गया.

  • 6 मई को पंजाब के जालंधर से 1188 मजदूर
  • 7 मई को पंजाब के लुधियाना से 1161 प्रवासी मजदूर
  • 9 मई को लुधियाना से 1017 कामगार
  • 11 मई को पंजाब के भटिंडा से 1188 प्रवासी मजदूर
  • 12 मई को विशाखापट्नम से 1157 मजदूर पहुंचे 

इसे भी पढ़ेंः#China की नई कारस्तानीः लद्दाख LAC पर दिखे चीनी हेलीकॉप्टर, वायुसेना ने रोका

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: