JharkhandMain SliderRanchi

कास्टिज्म की बात करने पर फंसे पलामू SP, गृह विभाग ने किया शोकॉज, मांगा स्पष्टीकरण

Ranchi : कास्टिज्म करने वाले पुलिस के अफसर इंद्रजीत महथा अब जांच के दायरे में आ गये हैं. इंद्रजीत फिलहाल पलामू के एसपी हैं. गृह विभाग ने चार पांच दिन पहले (शुक्रवार) को शोकॉज जारी किया. जारी शोकॉज में कहा गया है कि इस मामले में तत्काल जवाब दें. अन्यथा नियम के अनुसार आगे की कार्रवाई की जायेगी. महथा को यह भी कहा गया है कि पुलिस विभाग सेवा के लिये है ना कि कॉस्टिज्म के लिए. उनके द्वारा किये गये कास्टिज्म की रिकॉर्डिंग मुख्य सचिव, सीएमओ और गृह विभाग के प्रधान सचिव के पास है.

इसे भी पढ़ें- पत्रकार से जाति विशेष बातचीत के दौरान IPS  इंद्रजीत महथा ने अपने जूनियर-सीनियर अफसरों को…

ताकतवर अफसर बचाने में लगे, पर नहीं चली

जानकारी के अनुसार गृह विभाग के आला अधिकारियों के पास पुलिस विभाग के सबसे ताकतवर अफसर इस मामले को अधिक तूल नहीं देने की बात की. उन्होंने यह भी कहा कि ये सब चलता रहता है. यह कोई बड़ी बात नहीं है. इस पर गृह विभाग के आला अधिकारियों ने कहा कि नियम सबसे के लिये समान है. जवाब तो देना होगा. सोशल मीडिया में यह बात पूरी तरह से फैल गई है. सभी चीजों में पारदर्शिता जरूरी है.

advt

इसे भी पढ़ें- केंद्र ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का नाम बदलकर कर दिया आयुष्मान भारत

पुलिस पदाधिकारियों ने भी की थी लिखित शिकायत

इस मामले पर राज्य के मध्य और कनीय स्तर के पुलिस पदाधिकारियों ने भी गृह विभाग के प्रधान सचिव एसकेजी रहाटे से लिखित शिकायत की थी. उन्होंने गृह सचिव एसकेजी रहाटे को लिखे पत्र में कहा था कि आईपीएस अफसर इंद्रजीत महथा की मानसिकता पूरी तरह से जातीय आधार पर अपने स्वजातियों के पक्ष में बंटी है. महथा पूरी तरह से जातीय भावना से ग्रसित हैं. जिस तरह से उन्होंने अपने स्वजातियों के संबंध में बातें की हैं, और उन्हें प्रमोट करने की बात कही है, वह उनकी घटिया मानसिकता को भी दर्शाता है. महथा ने पुलिस की कार्यशैली को प्रभावित करने का प्रयास किया है. पुलिस पदाधिकारियों ने एसवीपीएनपीए के निदेशक डीआर डोले बर्मन को भी पत्र लिखकर इस पर कार्रवाई की मांग की है.

इसे भी पढ़ें- आयुष्मान भारत की हकीकत : 90 हजार में बायपास सर्जरी और 9 हजार में सिजेरियन डिलेवरी

इसे भी पढ़ें- बिजली कंपनियों की कुल संपत्ति 4000 करोड़, कर्ज 6500, दूसरी लाइन से बिजली लेने में हर महीने 17 करोड़ का भुगतान

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button