न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: कांग्रेस नेता गुड्डू खान की हत्या में शामिल शूटर गिरफ्तार, हथियार और गोलियां बरामद

481

Palamu: कांग्रेसी नेता एवं मुहर्रम इंतेजामिया कमिटी के सरपरस्त राशिद अहमद सिद्दीकी उर्फ गुड्डू खान हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है. इस कांड को जमीन संबधित पैसों के लेन देने और  रंगदारी का पैसा नहीं देने पर अंजाम दिया गया था.

पुलिस ने इस मामले में एक शूटर अमित मेहता को गिरफ्तार किया है. अमित मेहता पर मेदिनीनगर सदर, हरिहरगंज, हैदरनगर, शहर एवं पाटन थाना में आपराधिक मामला दर्ज है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

अमित को उसके जिले के पाटन थाना क्षेत्र के कांकेकला स्थित घर से गिरफ्तार किया गया. उसके पास से एक लोडेड देसी कट्टा और एक गोली बरामद की गयी है.

अमित मेहता ने गुड्डू खान की हत्या में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है और घटना में शामिल अपने साथियों के बारे में भी पुलिस को कई जानकारियां दी हैं.

इसे भी पढ़ें – सांसद आदर्श ग्राम योजना: हर फेज में घटती गयी झारखंडी सांसदों की रुचि, 7 ने ही तीसरे चरण तक चुने गांव

20 जनवरी को हुई थी हत्या 

गौरतलब है कि 20 जनवरी की देर शाम शहर के जेलहाता स्थित आवास पर राशिद अहमद सिद्दीकी उर्फ गुड्डू खान की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. इस संबंध में अज्ञात पर मामला दर्ज किया गया था.

घटना के बाद इस कांड की जांच एसआईटी कर रही थी. इसी बीच पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि इस घटना में शामिल एक शूटर अमित मेहता अपने घर आया हुआ है. सूचना पर कार्रवाई की गयी और अमित मेहता को गिरफ्तार किया गया.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

जमीन विवाद में हुई थी हत्या  

जिले के पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा ने बताया कि अमित मेहता ने पूछताछ के दौरान उसने बताया कि गुड्डू खान और अली कुरैशी के बीच जमीन विवाद चल रहा था. जमीन के कारोबार में संलिप्त अन्य लोग भी गुड्डू खान से गलत व्यवहार से खफा थे.

गुड्डू खान अली कुरैशी के अलावा जिन लोगों से पैसे लिये थे, उनका काम नहीं कर रहा था. विवाद काफी बढ़ने पर लोग उसे दिये रूपये वापस मांग रहे थे. लेकिन गुड्डू खान पैसे देने को तैयार नहीं हो रहा था. उलटा जमीन कारोबारी अली कुरैशी की हत्या करवाना चाहता था. इसी बीच उसकी हत्या की योजना बनायी गयी.

Related Posts

इसे भी पढ़ें –#The_Economist’s_Intolerant_India : PM Modi दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को उग्र हिंदुत्व राज्य की तरफ ले जा रहे हैं

योजना बनाकर की गयी थी हत्या 

एसपी ने बताया कि घटना के दिन भी तय योजना के तहत अली कुरैशी के कहने पर उसके अलावा दो अन्य शूटर सदर थाना के पोखराहा निवासी साबिर रंगसाज और मोंटी रंगसाज गुड्डू खान के घर गये और रूपये मांगने लगे.

जब गुड्डू खान ने पैसे वापस नहीं दिये तो उसकी गोली मारकर हत्या कर दी और फरार हो गये. गोली साबिर रंगसाज ने चलायी थी. साबिर और मोंटी फिलहाल फरार हैं.

2012 से चल रहा था जमीन विवाद

गुड्डू खान और अली कुरैशी के बीच 2012 से जमीन के पैसों को लेकर विवाद चल रहा था. शूटर ने कहा कि जब बात सुलह और समझौता से नहीं बनी तो फिर गुड्डू खान को मारने का प्लान तैयार किया गया और घटना को अंजाम दिया गया.

गिरफ्तारी अभियान में ये थे शामिल

गिरफ्तारी अभियान में सदर एसडीपीओ संदीप गुप्ता, पु.नि दीपक कुमार, आनंद कुमार मिश्रा, पु.अ.नि. आशीष खाखा, नबी अंसारी सहित अन्य शामिल थे.

इसे भी पढ़ें – बीजेपी की पिच पर बाबूलाल ने पार्टी विलय वाला एक फिक्स्ड मैच खेला!

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like