NEWSPalamu

पलामू: शिक्षकों के जोन वाइज ट्रांसफर के लिए बनी स्कूल की लिस्ट, सुदूर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी लगेगी डयूटी

Palamu: पलामू जिले में सोमवार को शिक्षा स्थापना समिति की बैठक हुई. इसमें पांच जोन के विद्यालयों की सूची को फाइनल किया गया. इसके साथ ही यह तय किया गया कि शिक्षकों की नियुक्ति के बाद उन्हें पांच जोन के अंतर्गत अपना कार्यकाल खत्म करना होगा. स्पष्ट किया गया कि शिक्षकों की शहरी क्षेत्र के साथ-साथ सुदूरवर्ती नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी डयूटी लगायी जाएगी.

बैठक की अध्यक्षता जिले के उपायुक्त डॉ. शांतनु कुमार अग्रहरि ने की. बैठक उनके कार्यालय कक्ष में हुई. बैठक में सरकार के निर्देश पर जिले में मौजूद सरकारी स्कूलों को जोन वाइज बांटने को लेकर समीक्षा की गई. प्राथमिक, मध्य और हाई स्कूलों के शिक्षकों का जिला स्तर पर तबादला किया जाना है. यह तबादला जोन वाइज किया जाना है.

इसे भी पढ़ेंःएडमिशन अलर्ट : 16 जुलाई तक RTE के तहत नामांकन के लिए करें आवेदन, रांची के 70 स्कूलों में 1005 सीटें

अब जिला स्तर पर जोन के आधार पर शिक्षकों की लिस्ट फाइनल होने के बाद प्रधानाध्यापक और सहायक शिक्षकों का तबादला किया जा सकेगा. इस दौरान वैसे शिक्षक, जिन्होंने अंतर जिला स्थानांतरण के लिए स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग में आवेदन किया है, उस पर भी विचार किया गया.

5 जोन का यह है स्वरूप

  • जोन- 1: जिला मुख्यालय, नगर निगम क्षेत्र के शहरी विद्यालय
  • जोन- 2: जिला मुख्यालय, नगर निगम में 10 किलोमीटर के अंदर के विद्यालय
  • जोन- 3: प्रखंड, नगर परिषद, नगर पंचायत के ग्रामीण क्षेत्र के विद्यालय
  • जोन- 4: प्रखंड मुख्यालय से 5 किलोमीटर के अंदर वाले सुदूरवर्ती विद्यालय
  • जोन- 5: प्रखंड मुख्यालय से 5 से अधिक किलोमीटर वाले सुदूर व नक्सल प्रभावित क्षेत्र के विद्यालय

इसे भी पढ़ेंः गढ़वा: कोरोना पाॅजिटिव मरीजों का शतक पूरा, चार नये मरीजों में एक बैंक का असिस्टेंट मैनेजर भी

हर जोन में शिक्षकों को देनी होगी सेवा: उपायुक्त

सरकारी स्कूलों के शिक्षकों का पांच जोन में तबादला किया जाना है. शिक्षकों को अपनी पूरी सेवा के दौरान सभी जोन में कार्य करना होगा. जो शिक्षक शहरी क्षेत्र में ही योगदान दे रहे हैं और पांच साल से अधिक समय से हैं, उन्हें प्रखंड, पंचायत, सुदूर गांव और नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में कार्य करना होगा. इसके अलावा डीसी ने जिला शिक्षा अधीक्षक एवं जिला शिक्षा पदाधिकारी को हर हाल में छात्र-शिक्षक अनुपात को कड़ाई से लागू करवाने पर बल दिया.

बता दें कि सरकारी स्कूलों के जोन के हिसाब से बांटे जाने पर कुल 63 ऑब्जेक्शन आये. उपायुक्त ने बैठक में सभी ऑब्जेक्शन की समीक्षा की. साथ ही ऑब्जेक्शन पर उचित कार्रवाई की.

बैठक में ये थे उपस्थित 

बैठक में उप विकास आयुक्त बिंदु माधव प्रसाद सिंह, सदर एसडीएम सुरजीत सिंह, नजारत उप समाहर्ता शैलेश कुमार सिंह, जिला शिक्षा अधीक्षक मसुद्दी टुडू, जिला शिक्षा पदाधिकारी उपेन्द्र नारायण, जिला कल्याण पदाधिकारी निशा तिर्की सहित अन्य मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंःपलामू: फिर निलंबित हुआ एक और ASI, गाड़ी के पेपर के बदले मांगी थी 5 हजार की रिश्वत (देखें वीडियो)

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close