न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: नेशनल ग्रिड से सटे इलाकों में बिजली के लिए हाहाकार, आन्दोलन की तैयारी 

49

Palamu : जिले में इन दिनों भीषण गर्मी पड़ रही है. तापमान इस साल के सारे रिकार्ड को तोड़ते हुए 46 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया है. एक तो गर्मी सो लोगों का हाल बुरा है, ऐसे में बिजली और पेयजल की भारी किल्लत हो गयी है. जिले के कई ऐसे इलाके हैं, जहां 24 घंटे में बड़ी मुश्किल दो से तीन घंटे की विद्युत आपूर्ति हो रही है. इन इलाकों में मेदिनीनगर सदर और सतबरवा के क्षेत्र भी शामिल हैं.

गौरतलब है कि मेदिनीनगर सदर के पोलपोल में नेशनल ग्रिड है. यहां की बिजली से पूरा जिला रौशन होता है. लेकिन पोलपोल के इलाके में चिराग तले अंधेरा वाली कहावत चरितार्थ हो रही है.

इसे भी पढ़ें – झारखंड : विभाग की करनी से स्कूलों को मिली दो साल की अनुदान राशि हो गयी लैप्स

सड़क जाम करने की तैयारी

बिजली आपूर्ति व्यवस्था अनियमित हो जाने से जनजीवन पर बुरा असर पड़ा है. लगातार बिजली की आंखमिचैली से परेशान स्थानीय लोग सड़क जाम करने का मन बना चुके हैं. इसके लिए ग्रामीणों ने विद्युत विभाग को 48 घंटे का समय दिया है.

एक सप्ताह से खराब है स्थिति   

ग्रामीण इशराफुल अंसारी का कहना है कि लगभग एक सप्ताह से बिजली 24 घंटा में मात्र दो-तीन घंटे ही मिल रही है, जिससे घर में छोटे बच्चे की हालत बहुत खराब है. उप मुखिया ज्योति कुमार सिंह उर्फ पप्पू सिंह ने बताया कि 48 घंटा के अंदर बिजली व्यवस्था ठीक नहीं हुई, तो बाध्य होकर सड़क जाम किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें – बालू की लूट : राज्य को दूसरा सबसे ज्यादा राजस्व देने वाले खनन विभाग में किसने दी है लूट की छूट ! -3

SMILE

पदाधिकारी नहीं देते संतोषजनक जवाब

इधर  कुछ ग्रामीणों का कहना है कि सतबरवा में बिजली व्यवस्था बद से बदतर हो गई है. 45-46 डिग्री तापमान में रहना मुश्किल होता जा रहा है. बिजली आती है तो आधा घंटा भी नहीं रहती. विभागीय पदाधिकारियों से संपर्क करने पर संतोषजनक जवाब नहीं दिया जाता.

जिप उपाध्यक्ष ने जीएम-एसई को लिखा पत्र, आन्दोलन की दी धमकी

सतबरवा में बिजली की बिकराल स्थिति पर पलामू जिला परिषद के उपाध्यक्ष संजय सिंह ने मेदिनीनगर के विद्युत महाप्रबंधक और अधीक्षण अभियंता को पत्र लिखा है. दोनों अधिकारियों को लिखे गए पत्र में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था में सुधार का आग्रह किया गया है. जिप उपाध्यक्ष ने कहा है कि ऐसा नहीं होने पर ग्रामीणों के साथ आंदोलन करने के लिए विवश होंगे.

साथ ही उनका कहना है कि मेदिनीनगर सदर और सतबरवा इलाके के लोग इन दिनों बिजली संकट से जूझ रहे हैं. 24 घंटे में बड़ी मुश्किल 2-3 घंटे ही बिजली मिल रही है.

गर्मी के मौसम में इसकी भयावहता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है. लहलहे में नेशनल ग्रिड है और इसके आसपास के क्षेत्रों में भी ऐसी ही परिस्थति है. इससे लोगों में भारी आक्रोश है. ऐसे में बिजली की लचर आपूर्ति में सुधार नहीं हुआ तो जनता के साथ आन्दोलन करना एक मात्र विकल्प रह जायेगा.

इसे भी पढ़ें – दर्द-ए-पारा शिक्षक: परिवार में तीन शिक्षक, सिर पर दो लाख का कर्ज-कई महीनों से घर में नहीं पकी दाल

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: