न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : इलाज के अभाव में गर्भवती महिला की मौत

38

 

Palamu : पलामू जिला अंतर्गत हैदरनगर के स्थानीय अस्पताल से सटे रहने वाले सिकंदर राइन की गर्भवती पुत्री मेहरुन निशा उर्फ सुगिया बीवी (28 वर्ष) का इलाज के अभाव में मंगलवार की रात मौत हो गई. पिता सिकंदर के अनुसार पुत्री स्वस्थ्य थी और अपने पैरों से चलकर स्थानीय अस्पताल भी रात में प्रसव कराने गई थी. यहां जाने के बाद एएनएम ने एक इंजेक्शन लगाया. इंजेक्शन लगाने के बाद उसकी स्थिति बिगड़ती गई, जबकि उनका घर अस्पताल से सटा है. उन्हें पुत्री के साथ अस्पताल जाने में थोड़ी भी देरी नहीं हुई. बावजूद एक गर्भवती महिला को इस अस्पताल में नहीं बचाया जाना इस अस्पताल की दुर्दशा बयां करती है.

इसे भी पढ़ेंःकोडरमाः रेल टिकट की कालाबाजारी के खिलाफ आरपीएफ की कार्रवाई

परिजनों ने डॉक्‍टर पर लगाया लापरवाही का आरोप

सिकंदर राइन ने कहा कि उसकी पुत्री की मौत इंजेक्शन लगने के बाद ही हो गई. फिर भी चिकित्सक ने उसे गंभीर स्थिति बताते हुए डालटनगंज सदर अस्पताल रेफर कर दिया. एंबुलेंस से सदर अस्पताल जाने के क्रम में परिजनों ने जब उसे हिलाया डुलाया तब पता चला कि उसकी पुत्री की मौत हो चुकी है.महिला के परिजनों व ग्रामीणों ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हैदरनगर के चिकित्सक व कर्मियों पर लापरवाही का आरोप लगाया है. एक मात्र चिकित्सक के संचालित अस्पताल व व्यवस्था के नाम पर कुछ भी नहीं. सरकार ने एक अन्य चिकित्सक की पदस्थापना भी की है. वह पदभार लेने के बाद से अबतक कभी नजर नहीं आए.

चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अशोक कुमार ने कहा कि मंगलवार की शाम करीब छह बजे गभर्वती महिला मेहरुन को अस्पताल लाया गया. यहां लेबर रुम में इलाज करने का हरसंभव प्रयास किया गया, किंतु पूरे बदन में ऐंठन व मुंह से छाग निकलने व हालत बिगड़ने की स्थिति में उक्त महिला को सदर अस्पताल रेफर किया गया. इससे पूर्व आईभी व ऑक्सीजन लगाकर यहां से मरीज को रवाना किया गया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp3
You might also like
%d bloggers like this: