JharkhandPalamu

 पलामू : टीएसपीएस और जेजेएमपी के बाद माओवादियों की पोस्टरबाजी, कृषि विधेयक का किया विरोध

विज्ञापन

Palamu : पलामू प्रमंडल में इन दिनों नक्सलियों और उग्रवादियों द्वारा लगातार पोस्टरबाजी की जा रही है. लातेहार जिले में दो उग्रवादी संगठनों के बीच पोस्टरवार शुरू होने के बाद आज पलामू जिले के कई थाना क्षेत्रों में नक्सली संगठन भाकपा माओवादी द्वारा पोस्टर चिपकाया गया.

इसे भी पढ़ेंः  पलामू : टीएसपीएस और जेजेएमपी के बाद माओवादियों की पोस्टरबाजी, कृषि विधेयक का किया विरोध

कहां-कहां लगाये गये पोस्टर 

पलामू जिले के पांडू और नौडीहा बाजार थाना क्षेत्र में माओवादियों ने पोस्टरबाजी की है. पांडू के बाकी नदी के किनारे ठेकही गांव में आम के पेड़ पर माओवादियों द्वारा हस्तलिखित पोस्टर चिपकाया गया. इसी तरह नौडीहा बाजार थाना क्षेत्र के कुहकुहू कला और कुहकूहू खुर्द में माओवादियों द्वारा पोस्टर लगाया गया. इस इलाके में खेत और सड़क पर पोस्टरबाजी की गयी है.

अलग-अलग बयानबाजी

पांडू और नौडीहा बाजार थाना क्षेत्र में की गयी पोस्टरबाजी में अलग अलग बयानबाजी की गयी है. पांडू में लगाए गए पोस्टर में पुलिस मुखबिरी करने वालों को सजा देने, पुलिस के खुफिया तंत्र को ध्वस्त करने, जनवादी खुफिया तंत्र को प्रभावी बनाने, संयुक्त पी एल जी ए दस्ता को मजबूत करने आदि शामिल है. इसी तरह नौडीहा बाजार थाना क्षेत्र में की गयी पोस्टरबाजी में केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि विधेयक को वापस लेने की मांग की गयी है.

पुलिस  मान रही है असामाजिक तत्वों का हाथ

छतरपुर के एसडीपीओ शंभू सिंह ने पोस्टरबाजी की पुष्टि की है. कहा कि इसमें किसी असामाजिक तत्वों का हाथ है. नक्सलियों और उग्रवादियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है. छतरपुर अनुमंडल क्षेत्र में दूर दूर तक माओवादियों की एक्टिविटीज नहीं है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के बाद कारोबार शुरू हुआ है. कुछ लोग माओवादियों के नाम पर पोस्टर लगाकर अपना उल्लू सीधा करना चाहते हैं. सारा खेल लेवी वसूलने के लिए किया जा रहा है. पुलिस पूरे मामले को देख रही है.

लंबे समय बाद माओवादियों के पोस्टर मिले

पलामू जिले में लंबे समय बाद प्रतिबंधित नक्सली संगठन का पोस्टर नजर आया है. एक साथ दो थाना क्षेत्र के अलग अलग इलाकों में पोस्टर लगाए जाने से लोगों में दहशत के साथ साथ चर्चा का विषय बना हुआ है.

बालूमाथ में भी हो रही है पोस्टरबाजी

विदित हो कि लातेहार जिले के बालूमाथ में एक सप्ताह के दौरान दो बार उग्रवादी संगठन जेजेएमपी और टीएसपीसी के द्वारा एक दूसरे के खिलाफ पोस्टरबाजी की गयी है. पोस्टर के माध्यम से दोनों संगठन एक दूसरे को गुंडा गिरोह बता रहे हैं. लगातार चिपकाए और फेंके जा रहे पोस्टर से ग्रामीणों में अप्रिय घटना की आशंका बनी हुई है.

adv

तीन दिन पूर्व उग्रवादी संगठन टीपीसी द्वारा लातेहार जिले के बालूमाथ इलाके में आधा किलोमीटर दूर तक पर्चा फेंका गया था. शनिवार को बालूमाथ प्रखंड मुख्यालय में उग्रवादी संगठन झारखंड जनमुक्ति परिषद ने पोस्टर चिपकाया.

कोयल कारोबार में लेवी के लिए वर्चस्व की कोशिश

लातेहार जिले के बालूमाथ थाना क्षेत्र में बड़े पैमाने पर कोयला का व्यवसाय शुरू हुआ है. दोनों उग्रवादी संगठन इलाके में अपना वर्चस्व बनाना चाहते हैं.  इसके लिए पूरी तरह सक्रिय हैं. ऐसे में नक्सली अपने प्रतिद्वंदी संगठनों को निशाने पर लेते हुए उनके खिलाफ पोस्टर के माध्यम से लड़ाई आरंभ किया गया है.

 

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button