न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: पुलिसिया सिस्टम ने बनाया बेबस, बेटे की हत्या के बाद इंसाफ के लिए एक माह से भटक रहा पीड़ित परिवार

797

Palamu: सुस्त पुलिसिया सिस्टम के आगे एक परिवार इन दिनों बेबस नजर आ रहा है. बेटे की हत्या के बाद इंसाफ पाने के लिए पीड़ित परिवार लगातार पुलिस के बड़े अधिकारियों के कार्यालयों का चक्कर लगा रहा है.

लेकिन एक माह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी उन्हें न्याय नहीं मिल पाया है. कथित आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं. मृतक के परिवार वाले आरोपियों की जानकारी कई बार पुलिस को दे चुके हैं. लेकिन पुलिस के द्वारा कार्रवाई नहीं की जा रही है.

Sport House

क्या है मामला

मामला पलामू जिले के पाटन थाना क्षेत्र के सूठा गांव का है. गत 11 जून की रात करीब साढ़े आठ बजे गांव के कुछ युवक दीपक राम के बेटे संदीप चंद्रवंशी को उसके घर से बुलाकर साथ ले गए. इसके बाद से वह गायब हो गया.

13 जून को उसका शव घर के पास ही एक कुएं मिला. उसके शरीर पर पड़े जख्मों के निशान बता रहे थे कि निर्मम तरीके से उसकी हत्या की गई है. उसकी आंखों को फोड़ दिया गया था. इस हत्या से ग्रमीण आक्रोशित थे. ग्रामीणों के मांग पर ही खोजी कुत्ता हत्यारों तक पंहुचने के लिए बुलाया गया, लेकिन इससे पुलिस को कोई सुराग नहीं मिल सका.

इसे भी पढ़ें- पेयजल विभाग में पांच वर्षों से जमे 70 से अधिक कर्मियों का होगा तबादला

Mayfair 2-1-2020

छह पर हत्या की नामजद प्राथमिकी, गिरफ्तार एक भी नहीं

संदीप की मां नवरति देवी ने बताया कि गांव के ही छह युवकों ने मिलकर उसके बेटे की हत्या की है. जिसमें हीरालाल वर्मा उर्फ गुड्डू, चंदन कुमार, जरासंघ कुमार, अभिमन्यु कुमार,राकेश भुइयां, अजीम अंसारी शामिल हैं.

नवरति देवी कहा है कि नामजद लड़के संदीप को अपने साथ ले गए थे. संदीप जब घर नहीं लौटा तो जरासंघ ने बताया कि अजीम अंसारी के मोबाइल पर संदीप ने फोन किया था. वह चैनपुर के बूढ़ीबीर चला गया है. लेकिन उसके बाद संदीप का शव घर के पास एक कुंए में मिला. मृतक की मां ने ही छह युवकों पर नामजद एफआईआर दर्ज कराया है.

क्या कहते हैं थाना प्रभारी

क्षेत्र के एसडीपीओ अनूप बड़ाइक ने इस मामले पर कहा कि उनके ध्यान में पूरा मामला नहीं है. पाटन थाना के प्रभारी ही इसमें जानकारी दे पाएंगे. पाटन थाना प्रभारी आशीष खाखा ने बात करने पर उन्होंने कहा कि घटना के 13 दिन बाद 26 जून को उन्हें पाटन थाना प्रभारी नियुक्त किया गया है.

घटना के वक्त नूतन मोदी थाना प्रभारी थीं. उनका तबादला हो गया लेकिन केस का चार्ज उन्होंने नहीं दिया है. हालांकि प्रभारी आशीष खाखा ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए संदीप की हत्या किए जाने की बात को स्वीकार किया है. उन्होंने बताया गला दबाकर संदीप की हत्या की गई है. कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई थी. 2-3 दिनों में चार्ज मिलते ही केस में कार्रवाई होगी.

इसे भी पढ़ें- पेयजल विभाग में पांच वर्षों से जमे 70 से अधिक कर्मियों का होगा तबादला

दो बार एसपी से मिल चुके हैं परिजन

मृतक संदीप के चाचा लव राम के मुताबिक एक माह से अधिक समय से इंसाफ के लिए थाना का चक्कर लगाते-लगाते थक गए तो उन्होंने जिले के एसपी अजय लिंडा से दो बार मिलाकात की. उन्हें मामले से अवगत कराया. इसके बाद भी अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

कार्रवाई कर होगी अपराधियों की गिरफ्तारी: डीआईजी

डीआईजी विपुल शुक्ला ने बताया कि इस संबंध में पाटन थाना प्रभारी को निर्देश दिया गया जाएगा. अगर नामजद प्राथमिकी दर्ज की गयी है तो कार्रवाई होगी. दोषी जो भी होंगे, उनके खिलाफ एक्शन लिया जायेगा.

SP Deoghar

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like