JharkhandPalamu

Palamu : ब्राउन सुगर के अड्डे पर पुलिस की छापामारी, मां फरार, बेटी सहित तीन गिरफ्तार

♦90 हजार नगद, 8 पुड़िया ब्राउन सुगर बरामद

Palamu : पलामू जिले में नशे के कारोबार के खिलाफ पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है. जिला मुख्यालय मेदिनीनगर के सुदना अघोर-आश्रम कोयल नदी के किनारे ब्राउन सुगर के अड्डे पर छापामारी कर एक युवती सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस की कार्रवाई के दौरान मुख्य महिला तस्कर अपने घर के गुप्त दरवाजे से भाग निकली. पुलिस ने मौके से ब्राउन सुगर की बिक्री के 90 हजार से अधिक रुपये, 15 लीटर महुआ शराब और ब्राउन शुगर जैसा 8 पुड़िया मादक पदार्थ जब्त किया है. पुलिस महिला तस्कर की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

इसे भी पढ़ें – मुंगेर गोलीकांड में फिर उबाल,  भीड़ ने थाना फूंका,  चुनाव आयोग के तेवर तल्ख, डीएम और एसपी हटाये गये

मेदिनीनगर सदर एसडीपीओ संदीप गुप्ता ने बताया कि गुप्त सूचना प्राप्त हुई थी कि शहर के पांकी रोड श्रीराम पथ निवासी सौरभ सोलंकी आदतन हीरोइन का नशा करता है और छोटे स्तर पर हेरोइन बेचने का कारोबार करता है. एसडीपीओ संदीप कुमार गुप्ता के नेतृत्व में टीम गठित कर छापेमारी की गयी और सौरभ सोलंकी को दो पुड़िया ब्राउन सुगर जैसे दानेदार पदार्थ के साथ पकड़ा गया. सख्ती से पूछताछ करने पर उसने स्वीकार किया कि वह 2 सालों से वह हेरोइन और ब्राउन सुगर का नशा करता है. साथ ही छोटे स्तर पर इसका कारोबार भी करता है. यह भी स्वीकार किया कि वह सुदना अघोर-आश्रम शांति देवी से नशा के लिए ड्रग खरीदता है. उसके घर छापेमारी करने से ड्रग की बरामदगी हो सकती है.

Sanjeevani

उसके द्वारा दी गयी जानकारी पर अघोर आश्रम सुदना में रहनेवाली पेशेवर तस्कर शांति देवी के घर पुलिस ने छापेमारी की. पुलिस को देख शांति देवी तो गुप्त दरवाजे से भाग गयी, लेकिन उसके घर से 90780 कैश, 15 लीटर महुआ का शराब, समेत ड्रग्स बेचने के लिए कागज की पुड़िया को बरामद किया गया.

वहीं शांति देवी की बेटी गुड्डी और खरीदार उमेश राम उर्फ अंटू को ब्राउन सुगर की खरीद बिक्री करते रंगेहाथों पकड़ा गया. दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया. शांति देवी के पास कोई भी आय का स्रोत नहीं होने के बावजूद लाखों का नया मकान बनाया गया है, जो ब्राउन सुगर के अवैध धंधे से अर्जित आय से बना प्रतीत होता है. खरीदार उमेश राम मेदिनीनगर के हास्पिटल चौक का निवासी है.

इसे भी पढ़ें  – जेपीएससी में होगी अमिताभ की असली परीक्षा

इंजीनियरिंग का छात्र है सौरभ सोलंकी

पांकी रोड श्रीराम पथ निवासी सौरभ सोलंकी इंजीनियरिंग का छात्र है. वह आठवीं सेमेस्टर का स्टूडेंट रहा है. विश्रामपुर के आरसीआइटी कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है. एसडीपीओ ने बताया कि ब्राउन सुगर सहित अन्य पदार्थों से नशा करने में सौरभ के कई दोस्त भी शामिल रहे हैं. सौरभ उनके बीच ब्राउन सुगर सेल भी करता था. दशहरा से पहले उसने 3 हजार रुपये की ब्राउन सुगर खरीदी थी. वह ब्राउन सुगर लेकर हुसैनाबाद के सबानो अपने गांव जानेवाला था. एक ग्राम ब्राउन सुगर 500 रुपये में बेचा जाता था. इससे पहले ही वह पकड़ में आ गया.

दो बार जेल जा चुकी है शांति देवी

एसडीपीओ ने बताया कि सुदना अघोर आश्रम निवासी शांति देवी ब्राउन सुगर का पेशेवर तस्कर है. गढ़वा से ब्राउन सुगर मंगा कर बेचा करती थी. वर्ष 2013 एवं 2014 में उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था. बावजूद नशे के कारोबार से होनेवाली बंपर कमाई से उसकी आदत में कोई सुधार नहीं हो पाया. यही कारण रहा कि उसने अपनी दो बेटियों को भी इस कारोबार में शामिल कर लिया था. नाबालिग होने के कारण उसकी एक बेटी को गिरफ्तार नहीं किया गया है.

युवती को पकड़ने में महिला पुलिसकर्मियों को हुई मशक्कत  

सुदना अघोर आश्रम रोड में सौरभ सोलंकी के साथ गयी पुलिस टीम को कार्रवाई में मशक्कत करनी पड़ी. तस्कर शांति देवी का घर पहुंचने के लिए पैदल जाना पड़ा. बीच में एक नाला को पार कर जब पुलिस सादे लिबास में मौके पर पहुंची तो भनक लगते ही शांति देवी मौके पर फरार हो गयी. मौके से शांति की बेटी गुड्डी उर्फ गुड़िया को पकड़ने में महिला पीएसआई सोनी कुमारी और रेणुका टुडू को मशक्कत करनी पड़ी. करीब 150 मीटर तक खदेड़कर कर उसे पकड़ा गया. गुड्डी उर्फ गुड़िया बार बार महिला पुलिसकर्मियों की चंगुल से भागने का प्रयास कर रही थी.

इसे भी पढ़ें – Vacancy : नेशनल हेल्थ मिशन के लिए झारखंड में मेडिकल ऑफिसर, कंसल्टेंट बनने का मौका, 848 पदों पर होगी नियुक्ति  

Related Articles

Back to top button