Crime NewsPalamu

पलामू : चार लूट की घटनाओं में शामिल अपराधी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, बिहार से आकर देते थे घटना को अंजाम

Palamu : पलामू पुलिस को डकैती की घटनाओं को लेकर बड़ी सफलता मिली है. बिहार से डकैती करने पलामू आने वाले गैंग का खुलासा किया है. डकैतों के एक इंटर स्टेट गैंग का उद्भेदन करते हुए एक सदस्य को गिरफ्तार किया गया है. बिहार के डकैतों का यह गैंग टेम्पो से डकैती करने पलामू आता था और लुटपाट के बाद टेम्पो से ही वापस लौट जाता था.

इस गिरोह के सभी सदस्य बिहार के रोहतास और गया जिला के रहने वाले हैं. एक सितंबर से चार अक्टूबर के बीच इन डकैतों द्वारा पलामू में चार घटनाओं को अंजाम दिया गया. डकैतों का यह गैंग पुलिस की नजर से बचने के लिए टेम्पो का इस्तेमाल करता है. टेम्पो को पुलिस रोक टोक नहीं करती, इसलिए अपराधियों ने इसे क्राइम के लिए चुना.

एक सितंबर को नावाबाजार थाना क्षेत्र के राजकुमार भुइयां के घर 11.30 बजे करीब 8-10 अपराधियों द्वारा हथियार के बल पर डकैती की घटना को अंजाम दिया गया था, जिसमें 15 हजार नगद और आभूषण लूटा गया था. इसी रात करीब डेढ़ बजे कंडा में लाडो लाइन होटल में डकैती की घटना को अंजाम दिया गया, जिसमें 55 हजार रूपया, जेवरात, पीतल का बर्तन और एक अपाची मोटरसाईकिल लूटी गयी थी. इसके बाद तीन अक्टूबर को एक बार फिर नावाबाजार थाना क्षेत्र के तुकबेरा में आधी रात को आशीष विश्वकर्मा के घर डकैती हुई थी, जिसमें 70 हजार रूपया, जेवरात और किराना दुकान से खाने पीने का सामान लूटे गए थे. इस घटना के दूसरे ही दिन दिनांक चार अक्टूबर की रात हरिहरगंज थाना क्षेत्र के भंडार गांव में सच्चिदानन्द प्रसाद के घर को डकैतों ने निशाने पर लिया. 25 हजार रूपया और करीब डेढ़ लाख का जेवरात लूट लिया गया.

Catalyst IAS
SIP abacus

पुलिस ने अनुसंधान के क्रम में पाया कि सभी घटनाओं को एक ही गैंग द्वारा अंजाम दिया गया था. शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में सदर मेदिनीनगर एसडीपीओ के विजय शंकर ने बताया कि एसपी चन्दन कुमार सिन्हा ने अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए विश्रामपुर एसडीपीओ सुरजीत कुमार और छतरपुर एसडीपीओ अजय कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया.

MDLM
Sanjeevani

अनुसंधान के क्रम में बिहार के रोहतास, औरंगाबाद और गया में छापेमारी की गई. इस दौरान आमस थाना के ग्राम लेम्बुआ से घटना में शामिल एक अपराधी धर्मेन्द्र चौधरी को गिरफ्तार किया. धर्मेन्द ने इस कांड में अपनी संलिप्ता को स्वीकार किया व उसकी निशानदेही पर डकैती में लूटे गये समानों की बरामदगी की गई है. धर्मेंद्र ने अपने साथियों के बारे में भी पुलिस को जानकारी दी है. उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस द्वारा लागातार छापेमारी की जा रही है.

 

डकैत के पास से एक काला रंग का हैंड बैग, एक काला रंग का जीयो मोबाईल, दो पीतल की थाली, एक आधार कार्ड एवं एक वोटर आईडी की छायाप्रति बरामद की गयी है.

 

इसे भी पढ़ें : हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा , कब होगीअनुसूचित जिलों में संस्कृत शिक्षकों की नियुक्ति

Related Articles

Back to top button