JharkhandPalamu

#Palamu: 10 हजार रुपये रिश्वत लेते पीएचईडी का ब्लॉक कोऑर्डिनेटर गिरफ्तार, एसीबी का इस वर्ष का छठा ट्रैप

Palamu: भ्रष्टाचार के खिलाफ एक बार फिर एंटी करप्शन ब्यूरो की पलामू इकाई ने कार्रवाई की है. एसीबी की टीम ने पलामू प्रमंडल के मनिका में पीएचइडी के ब्लॉक कोऑर्डिनेटर को 10 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है.

इसके साथ ही पलामू एसीबी ने वर्ष 2020 में छठा ट्रैप केस को पूरा कर लिया है. ब्लॉक कोऑर्डिनेटर को गिरफ्तार कर मेदिनीनगर मुख्यालय लाया गया, जहां से न्यायिक हिरासत में भेजा जायेगा.

एसीबी पलामू के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पीएचइडी के मनिका ब्लॉक कोऑर्डिनेटर रंजीत कुमार रंजन को 10 हजार रुपये घूस लेते गिरफ्तार किया गया है.

इसे भी पढ़ें : #Vidhansabha: ऊर्जा विभाग ने किया सदन को कन्फ्यूज, जल संसाधन की वजह से हुई सरकार की फजीहत

120 शौचालय पास करने के बदले मांगे थे 60 हजार

ब्लॉक कोऑर्डिनेटर चांदनी स्वयं सहायता समूह की अध्यक्ष रबीना बीवी से 120 शौचालय निर्माण के यूसी फार्म रिपोर्ट जमा कराने के एवज में 60 हजार रुपये रिश्वत मांगी थी.

समूह को 120 शौचालय बनाने का आदेश प्राप्त हुआ था. प्रत्येक शौचालय 120 रुपये के हिसाब से घूस की राशि 60 हजार रुपये तय की गयी थी.

एसपी ने बताया कि ब्लॉक कोऑर्डिनेटर द्वारा यह कहा जा रहा था कि जब तक घूस के रूपये जमा नहीं करोगे, तब तक शौचालय पास नहीं करेंगे. समूह की अध्यक्ष काफी गरीब हैं. आवेदिका घूस देना नहीं चाहती थी.

इसे भी पढ़ें : ग्रामीण विकास विभाग में सालभर से बंद है रजिस्ट्रेशन, राईट टू सर्विस नियमों का भी हो रहा उल्लंघन

जांच में सही पाया गया मामला, तब कार्रवाई हुई

शिकायत करने के बाद मामले में जांच की गयी. सही पाकर कांड दर्ज किया गया. टीम बनायी गयी. गुरुवार को मनिका में कार्रवाई कर ब्लॉक कोऑर्डिनेटर को घूस की प्रथम किश्त 10 हजार रुपये लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया.

ब्लॉक कोऑर्डिनेटर रंजीत कुमार रंजन मनिका के हसातू का निवासी है. वर्तमान में अतिरिक्त प्रखंड समन्वयक मनिका के पद पर कार्यरत था. जबकि आवेदिका मनिका के कोपे पंचायत के जरुआ गांव की निवासी है.

इसे भी पढ़ें : पावर ग्रिड निर्माण की धीमी रफ्तार, चार साल में मात्र एक जगह ही शुरू किया गया ग्रिड

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button