न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: कर्मी की मौत पर परिजनों से मिलने पहुंचे पीएचइडी मंत्री, घटना पर जताया दुःख

1,828

Palamu : पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने शनिवार की शाम पलामू जिले के चैनपुर स्थित डुमरी गांव पहुंचकर सड़क दुर्घटना में मृत पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कर्मी जितेंद्र बैठा के परिवारजनों से मुलाकात की. मंत्री ने परिवारजनों को ढांढस बंधाया. उन्होंने परिवारजनों से मिलकर उन्हें न केवल हर संभव मदद का भरोसा दिया, बल्कि कहा कि पूरा विभाग व सरकार जितेंद्र के परिवारजनों के साथ है.

विदित हो कि शुक्रवार की रात 9 बजे गढ़वा में डयूटी खत्म कर लौट रहे पीएचइडी कर्मी जीतेन्द्र बैठा चैनपुर के बरांव में हादसे के शिकार हो गए थे. अज्ञात वाहन से धक्के से जीतेन्द्र बैठा की मौके पर मौत हो गयी थी. जितेंद्र बैठा के एक पुत्र गोलू और एक पुत्री बॉबी हैं, जो बीटेक और एमटेक की पढ़ाई कर रही हैं. पत्नी निर्मला देवी और मां दुखनी देवी का रो-रोकर बुरा हाल था.

इसे भी पढ़ेंः #CoronaVirus का खौफ, डीपीएस बोकारो को अनिश्चितकाल के लिए किया गया बंद

मदद का दिया आश्वासन

मंत्री मिथलेश ठाकुर ने कहा कि यह घटना अत्यंत दुखद है. विभाग के कर्मठ कर्मचारी के सड़क दुर्घटना में असमय मृत्यु हो गयी. पूरा विभाग और सरकार जितेंद्र के परिवारजनों के साथ खड़ी है. उन्होंने भगवान से कामना किया कि दुख की इस घड़ी में उनके परिवारजनों को सहने की शक्ति प्रदान करें.

परिवार के मुखिया के जाने का भारी दुख है. सरकार उनसबों के साथ हैं. प्रावधान के तहत बीमा एवं अनुकम्पा के आधार पर नौकरी के संबंध में विभाग गंभीर है. परिवारजनों  को किसी तरह की कोई कठिनाई नहीं हो, इसका पूरा ख्याल रखा जायेगा.

Whmart 3/3 – 2/4

इसे भी पढ़ेंः बाबूलाल को 12 मार्च तक नेता प्रतिपक्ष घोषित करें विधानसभा अध्यक्ष, नहीं तो पूरे प्रदेश में आंदोलन करेगी भाजपा

कैशियर की पत्नी ने गढ़वा एसई पर लगाया है प्रताड़ना का आरोप

पीएचइडी कैशियर जीतेन्द्र बैठा की पत्नी ने गढ़वा के एसई आशुतोष कुमार पर मानसिक और शारीरिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है. कैशियर की पत्नी ने इस सिलसिले में चैनपुर थाना में आवेदन दिया और पति की मौत के पीछे एसई की प्रताड़ना को जिम्मेवार ठहराया है.

महिला ने मंत्री श्री ठाकुर को भी इस संबंध में जानकारी दी. महिला ने कहा है कि कार्यालय अवधि के बाद भी गढ़वा पीएचइडी के एसई उनके पति से ओवरटाइम कराते थे. शुक्रवार की रात 9 बजे तक काम कराया गया. इसके बाद उनके पति को छुट्टी दी गयी. हड़बड़ी में लौटने के दौरान वे हादसे के शिकार हो गए.

ये है पूरी घटना

गढ़वा पेयजल एवं स्वच्छता कार्यालय में कार्यरत कैशियर (रोकड़पाल) जीतेन्द्र बैठा की सड़क हादसे में मौत हो गयी थी. जीतेन्द्र बैठा अपनी मोटरसाइकिल से शुक्रवार की रात मेदिनीनगर स्थित सरकारी क्वाटर्र लौट रहे थे. इसी दौरान चैनपुर थाना क्षेत्र के बरांव में सड़क हादसा हुआ. हेलमेट लगाए जाने के बाद भी जीतेन्द्र के सिर में गंभीर चोट आयी और उनकी मौके पर ही मौत हो गयी. जीतेन्द्र बैठा के भाई एंथोनी बैठा ने चैनपुर पुलिस को बताया कि देर रात गढ़वा पीएचइडी कार्यालय से निकलने के बाद उनके भाई आ रहे थे. इसी दौरान बरांव में अज्ञात वाहन ने उनकी मोटरसाइकिल में धक्का मार दिया.

इसे भी पढ़ेंः #Yes_Bank_Crisis से ऐसे बच गया तिरुपति मंदिर, मैच्योर होने से पहले ही एफडी तोड़ निकाल लिये थे 1300 करोड़  

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like