न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : दोहरी नियोजन नीति के खिलाफ फूंका गया सीएम का पुतला

14 नवंबर से डालटनगंज के स्टेशन रोड स्थित बिरसा मुंडा की प्रतिमा के समक्ष अनिश्चितकालीन आमरण अनशन शुरू

795

Palamu : दोहरी नियोजन नीति के खिलाफ पलामू जिले में चरणबद्ध आंदोलन तेज हो गया है. पहले दिन शनिवार की शाम राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास का मेदिनीनगर के छहमुहान पर पुतला फूंका गया. इस दौरान सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गयी और नीति में बदलाव की मांग की गयी.दोहरी नियोजन नीति विरोधी मोर्चा के तत्वावधान में दोहरी नियोजन का विरोध करते हुए स्थानीय छहमुहान पर मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया गया, जिसका नेतृत्व पलामू के युवाओं ने संयुक्त रुप से किया. युवाओं ने स्थानीय नीति लागू करो, रघुवर सरकार मुर्दाबाद, दोहरी नीति नहीं चलेगी आदि नारे लगा रहे थे. पुतला दहन को छात्र संगठन आपसू, वाइजेकेएसएफ का भी समर्थन प्राप्त था.

इसे भी पढ़ें-चार माह में रिकॉर्ड 413 अफसर बदले, 40 IAS भी इधर से उधर, हर दिन औसतन दो ऑफिसर का हुआ ट्रांसफर

दोहरी नियोजन नीति पलामू के लिए अभिशाप : अभिषेक

मौके पर छात्र अभिषेक मिश्रा ने कहा एक राज्य में दो नीति नहीं चलेगी. इसके लिए सरकार के खिलाफ युवा सड़क पर हैं, जो उन्हें भारी पड़ेगी. दोहरी नियोजन नीति पलामू जिले के लिए अभिशॉप है. आपसू के कमलेश पांडेय ने कहा कि बाउरी कमिटी खुद एक राज्य में एक नीति की बात करती है, तो सरकार दरोगा, पंचायत सचिव, शिक्षक नियुक्ति में क्यों 13/11 की नीति लागू कर रखी है.राजा कुमार, मनीष यादव, रोहित कुमार, दीपक ठाकुर, मुकेश यादव, उत्सव आनंद, संजीव रंजन मिश्रा, अनमोल कुमार, तरुण आदि छात्र ने भी दोहरी नियोजन नीति का विरोध किया और अपने विचार व्यक्त किए. दोहरी नियोजन नीति विरोधी मोर्चा के धर्मराज कुशवाहा ने तमाम पलामूवासियों से एक होने का अपील की.

इसे भी पढ़ें-दुमका : विकास योजना में अनियमितता का आरोप लगा सीपीआई माले ने दिया धरना

आगे के आंदोलन में क्या होगा ?

दोहनी नियोजन नीति के खिलाफ 5 नवंबर को पलामू समाहरणालय परिसर में धरना दिया जायेगा. 14 नवंबर से डालटनगंज के स्टेशन रोड स्थित बिरसा मुंडा की प्रतिमा के समक्ष अनिश्चितकालीन आमरण अनशन शुरू किया जायेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: