न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : पेपर बांट बने अधिवक्ता, अब योगेंद्र यादव चतरा से लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

लोगों से चंदा मांगकर योगेंद्र ने नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी रांची से लॉ की पढ़ाई पूरी की और अब चतरा से लोकसभा चुनाव लड़ेंने की तैयारी में हैं.

199

Palamu/Chatra : योगेंद्र यादव की उम्र छोटी भले ही हो पर उपलब्धियां उनके कद से बहुत बड़ी हैं. मजदूरी करके स्कूल की पढ़ाई और पेपर बेचकर कॉलेज की पढ़ाई पूरी की. फिर लोगों से चंदा मांगकर योगेंद्र ने नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी रांची से लॉ की पढ़ाई पूरी की और अब चतरा से लोकसभा चुनाव लड़ेंने की तैयारी में हैं.

इसे भी पढ़ें – धनबाद नगर निगम में 500 कर्मचारियों का शोषण ! पांच महीने में एक बार मिली तनख्वाह

इससे पहले योगेंद्र ने साइकिल से 6500 किलोमीटर का सफर तय किया और इस दौरान दस राज्यों का भ्रमण किया. योगेंद्र और उनके दोस्त कुणाल पटेल ने अपने भ्रमण के दौरान दस राज्यों की संस्कृति का अध्ययन भी किया. महज 25 साल के योगेंद्र चतरा के पितीज गांव के निवासी हैं और उनके पिता भी मजदूरी करके परिवार का खर्च चलाते हैं. अपने घर की स्थिति थोड़ी बेहतर करने के बाद योगेंद्र ने अपने गृह जिला चतरा की स्थिति संवारने की ठानी और चतरा संसदीय क्षेत्र से लोकसभा चुनाव लड़ने का मन बनाया. इसके बाद चतरा के लोगों और जनभावना समझने के लिए वह साइकिल यात्रा पर निकले हैं.

इसे भी पढ़ें – एक्शन में रघुवर दासः रेप केस में सुस्त कार्रवाई पर गिरिडीह एसपी को लगाई फटकार, सभी जिलों से मांगी…

जनता को मोह रही योगेंद्र की सरलता

साइकिल यात्रा पर निकले योगेंद्र की सरलता से लोग प्रभावित हैं. कंधे पर गमछा और डेनिम जींस पहने योगेंद्र यात्रा के दौरान कभी मंदिर में सोते हैं तो कभी किसी स्कूल भवन में. यात्रा के दौरान उनकी टीम अपना खाना भी खुद ही बनाती है. जो कभी दाल-भात और आलू का चोखा तो कभी चावल सब्जी होता है. इन्हें देखकर पहले तो लोगों को यह यकीन नहीं होता कि पच्चीस साल का यह लड़का वकील है, पर जब वह उनकी स्पीच सुनते हैं तो उन्हें यकीन होने लगता है.

इसे भी पढ़ें – बिना भूअर्जन के बना दिये गये 24.1 किमी सड़क, मुआवजा राशि दो साल से विभाग के पास 

सोशल मीडिया पर मिल रहा जबर्दस्त जनसमर्थन

साइकिल से अपनी टीम के साथ चतरा की जनता के मन की थाह लेने निकले योगेंद्र के अभियान को चतरा की धरती पर लोगों का समर्थन मिलने के साथ सोशल मीडिया पर भी जबर्दस्त सराहना मिल रही है. योगेंद्र के फेसबुक पर साइकिल यात्रा के कई पोस्ट को मिलाकर 4000 से ज्यादा लाइक्स मिल चुके हैं. वहीं सैकड़ों कमेंटस मिल रहे हैं. योगी के 20 अक्टूबर के स्वाभिमान यात्रा के पोस्ट को 623 लोगों के लाइक्स मिले हैं.

इसे भी पढ़ें – एक्शन में रघुवर दासः रेप केस में सुस्त कार्रवाई पर गिरिडीह एसपी को लगाई फटकार, सभी जिलों से मांगी…

लेस्लीगंज में चलाया जनसंपर्क

अपनी साइकिल यात्रा के दौरान  पलामू जिले के लेस्लीगंज बाजार पहुंचे योगेन्द्र ने लोगों से संपर्क साधा और स्थानीय समस्याओं को जानने का प्रयास किया. लोगों को संबोधित करते हुए योगेंद्र ने कहा कि चतरा लोकसभा क्षेत्र का यह दुर्भाग्य रहा है कि संसद में स्थानीय मुद्दों और समस्याओं को प्रभावी तरीके से रखने वाला एक भी सांसद नहीं मिला. यह पूरा इलाका सबसे ज्यादा अपने ही प्रतिनिधियों और कथित रहनुमाओं के हाथों छला गया है. गरीबी, शोषण, पिछड़ापन और पलायन ही आज चतरा की पहचान है, जबकि पूरा इलाका प्राकृतिक संसाधनों से संपन्न है. यहां के भूमिपुत्रों को पग-पग पर उपेक्षा, हिकारत और अपमान का सामना करना पड़ा है.

इसे भी पढ़ें – तेनुघाट थर्मल पावर प्लांट के कंप्रेसर हाउस में लगी आगः उत्पादन ठप, लाखों का नुकसान

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: