Palamu

#Palamu: पीडीएस डीलरों की मनमानी के खिलाफ पांकी विधायक करेंगे आमरण अनशन

विज्ञापन

Palamu: कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए हुए लॉकडाउन के बीच गरीबों को अनाज जुटाने में भारी परेशानी हो रही है. सरकार पीडीएस के माध्यम से खाद्यान्न पहुंचाने की कोशिश कर रही है, लेकिन जनवितरण प्रणाली के दुकानदारों की मनमानी के कारण लोग परेशान हैं और लगातार फरियाद कर रहे हैं.

लाभुकों ने शिकायतों की लगायी झड़ी

पलामू जिले के तरहसी प्रखंड क्षेत्र से जनवितरण प्रणाली के डीलरों की लगातार मिल रही शिकायत को लेकर क्षेत्रीय विधायक डॉ शशिभूषण मेहता ने सोमवार को तरहसी प्रखंड के गणेश प्रसाद, तरहसी, कृष्णानंद गिरि ललगाडा और आबिद हुसैन पाठक पगार की जनवितरण दुकान का औचक निरीक्षण किया और लाभुकों से बात की.

advt

निरीक्षण के क्रम में सर्वप्रथम विधायक तरहसी के जनवितरण दुकानदार गणेश प्रसाद गुप्ता की दुकान पहुंचे. विधायक के पहुंचते ही लाभुकों ने शिकायतों की झड़ी लगा दी.

इसे भी पढ़ेंः#FightAgainstCorona : सीएम हेमंत सोरेन ने राज्यपाल से कहा – संसाधनों की कमी से जूझ रहा राज्य, केंद्र से मदद उपलब्ध करायें

adv

वजन और मात्रा में कम मिलता है अनाज

मौके पर मौजूद लाभुक कृष्णा पाण्डेय ने बताया कि मुझे पच्चीस किलो की जगह साढ़े बाइस किलो ही अनाज दिया गया. घर पर जाकर तौला तो 21 किलो आठ सौ ग्राम ही राशन हुआ. लाभुक अमरावती कुंवर, सरोज देवी सहित कई लाभुकों ने भी विधायक के समक्ष शिकायत की. सबकी एक ही शिकायत थी कि डीलर निर्धारित दर पर निर्धारित मात्रा में राशन नहीं देते हैं.

तौल कम मिलने और राशन दुकान तक नहीं पहुंचाने के कारण कम देते हैं अनाज 

जनवितरण दुकानदारों का कहना है कि हमलोगों को राशन तौल कर नहीं दिया जाता है. साथ ही राशन सरकार द्वारा घर तक पहुंचाया जाना है.  लेकिन हमलोग गोदाम से राशन अपने खर्च से घर तक लाते है. लोडिंग, अनलोडिंग, भाड़ा ये सब तमाम तरह के खर्चे हैं.

सरकार हमलोग को घर तक राशन पहुंचावे और तौल कर पूरा राशन मिले, तभी हमलोग एक रुपये की दर से और पांच किलो राशन दे पायेंगे. सभी दुकानदारों के द्वारा इसी तरह राशन दिया जाता है. पीला कार्डधारी को भी पैतीस किलो की जगह तीस किलो ही राशन दिया जाता है, जिससे लाभकों के बीच काफी असंतोष देखा जा रहा है. निरीक्षण के क्रम यह देखा गया कि किसी भी दुकान पर बोर्ड एवं लाभुकों को सूची अंकित नहीं मिली.

एक रुपये प्रति किलो और प्रति यूनिट पांच किलो राशन दें डीलर: डॉ मेहता

क्षेत्र से डीलरों के खिलाफ लगातार मिल रही शिकायत से विधायक काफी गुस्से में नजर आए. डॉ मेहता ने कहा कि पूरा देश कोरोना जैसी आपदा से जूझ रहा है. पूरे देश में लॉक डाउन है. इस परिस्थिति में कोई भूखा नहीं रहे, इसके लिए सरकार स्तर पर कई कवायदें की जा रही है, जिनके पास कार्ड नहीं है, उसे भी सरकार दस किलो राशन दे रही है लेकिन जनवितरण दुकानदार इस विकट परिस्थिति में भी मानवता का परिचय न देकर लूट में लगें हैं.

इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. उन्होंने जनवितरण दुकानदारों को आगाह किया है कि सुधर जायें और एक रुपये और पांच किलो के हिसाब से लाभुकों को राशन दें, जिन्हें नहीं समझ मे आ रहा है वे दुकानदार रिजाइन कर दें.

इसे भी पढ़ेंःहिंदपीढ़ी में धर्म विशेष के पुलिस पदाधिकारियों की नियुक्ति का बाबूलाल मरांडी ने किया विरोध,कहा- ना हो वोट बैंक की राजनीति

बीडीओ की डीलरों के साथ सांठगांठ है: डॉ मेहता

पाठक पगार पंचायत के पंसस पति रघुनंदन कुमार साव ने विधायक को बताया कि कुछ दिन पूर्व प्रखंड कार्यालय में पंचायत प्रतिनिधियों की बैठक हुई थी, जिसमे बीडीओ ने निर्देश दिया था कि एक रुपये और पांच किलो राशन बांटना है. उसके पश्चात तरहसी प्रखंड के सभी डीलर बीडीओ से मिले.

उसके बाद बीडीओ ने कहा कि पूर्व में जैसे बांटते थे वैसे ही बांटे. विधायक डॉ मेहता ने कहा इस विकट परिस्थिति में भी बीडीओ अपने स्वार्थ में डीलर से कम राशन बंटवा रहे हैं. इनकी डीलरों से मिलीभगत के कारण ही डीलर मनमानी पर उतर आये हैं.

दो दिनों में कार्रवाई नहीं तो आमरण अनशन पर बैठेंगे विधायक डॉ मेहता

विधायक डॉ मेहता ने कहा कि दो दिनों के भीतर दोषी पीडीएस डीलरों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गयी तो तरहसी प्रखंड कार्यालय परिसर में आमरण अनशन पर बैठने को मजबूर होंगे. इसके बाद इसकी सारी जिम्मेवारी बीडीओ की होगी.

इसे भी पढ़ेंः#FightAgainstCorona : 16 लाख टेस्टिंग किट, 1.5 करोड़ पीपीई, 2.7 करोड़ एन95 मास्क और 50 हजार वेंटिलेटर की जरूरत

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close