JharkhandPalamu

#Palamu: खाद्यान्न मांगने पर मारपीट पर उतारू हुए पंचायत सेवक, वीडियो वायरल

Palamu: पलामू जिले के हरिहरगंज प्रखंड के अररूआ खुर्द में एक युवक को खाद्यान्न मांगना काफी महंगा पड़ गया. इलाके के पंचायत सेवक श्याम सुंदर सिंह मारपीट पर उतारू हो गये. इसका एक वीडियो मंगलवार दोपहर से तेजी से वायरल हो रहा है.

वायरल वीडियो की जानकारी जिले के डीएसओ, छतरपुर एसडीओ, हरिहरगंज बीडीओ सहित अन्य पदाधिकारियों को हो गयी है. सारे पदाधिकारी वीडियो की हकीकत जानने में जुटे हुए हैं. जांच कर कार्रवाई की बात कही गयी है.

छतरपुर के एसडीओ एनपी गुप्ता ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि उन्हें भी ऐसा वीडियो मिला है. उन्होंने कहा कि राशन कार्ड मंजू देवी के नाम से निर्गत है और राशन लेने कोई और गया था. इसकी वास्तविक स्थिति क्या है, इसका पता लगाया जा रहा है.

चूंकि कोरोना वायरस और लॉक डाउन को देखते हुए सभी पदाधिकारियों की जिम्मेवारी टास्क फोर्स बनाकर बांट दी गयी है. इसलिए इस संबंध में जो भी जानकारी मिली थी, उसे डीएसओ को दे दी गयी है. उनके स्तर से जांच कर कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ें : #CoronaVirus : हिंदपीढ़ी में कोरोनो पॉजिटिव पायी गयी महिला को सैंपल लेने के बाद भेज दिया गया था घर, इतनी बड़ी लापरवाही का दोषी कौन?

दस किलो अनाज मांगने से जुड़ा है मामला

बताया जाता है कि अररुआ खुर्द निवासी मुकेश कुमार गुप्ता अपने हिस्से का दस किलो राशन अररुआ खुर्द पंचायत सचिवालय में मांगने गया गया.

adv

आरोप है कि पंचायत सचिव श्यामसुंदर सिंह द्वारा उसे पीटा गया और कपड़े फाड़ दिये गये. मुकेश ने बताया कि राशन कार्ड का ऑनलाइन आवेदन उसने सालभर पहले अपनी पत्नी के नाम से दिया था, जिनका देहांत हो चुका है. लाभुकों की सूची में मुकेश का नाम भी दर्ज था.

मुकेश द्वारा राशन मांगे जाने पर पंचायत सचिव ने पत्नी को लाने को कहा. मुकेश ने बताया कि उनकी पत्नी का देहांत हो चुका है.

तब भी, कथित रूप से पंचायत सचिव बार-बार यही कहते रहे कि पत्नी को ले आओ, तो राशन देंगे. इसी विषय पर कहा सुनी हुई. मुकेश का आरोप है कि पंचायत सचिव ने उसे पीटा और कपड़े फाड़ दिये.

इसे भी पढ़ें : #Lockdown की बढ़ सकती है अवधि? राज्य सरकारों के सुझाव के बाद केंद्र कर रहा विचार, सरकारी पोर्टल से डिलीटेड ट्वीट भी दे रहा संकेत

घूस लेते वीडियो हो चुका है वायरल 

विदित हो कि अररूआ खुर्द के पंचायत सचिव हमेशा विवाद में रहते हैं. कुछ दिन पहले एक व्यक्ति से घूस लेते हुए वीडियो वायरल हुआ था, जिसका स्थानीय समाचार पत्रों में भी खबर छपी थी, परंतु अब तक कार्रवाई नहीं की गयी.

ऐसे कई मामले हैं. पंचायत सचिव के प्रति ग्रामीणों में भारी आक्रोश देखा जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : #Corona पर HC में सुनवाई, राज्य सरकार से पूछा-क्वॉरेंटाइन किये लोग कैसे होंगे सिक्योर

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: