न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: ‘ग्लोबल एग्रीकल्चर फूड समिट 2018’ की सफलता के लिए कार्यशाला आयोजित

तैयार की गयी 629 प्रतिभागियों की सूची

52

Palamu: राजधानी रांची में आगामी 29-30 नवम्बर को आयोजित ‘ग्लोबल एग्रीकल्चर फूड समिट 2018’ की सफलता को लेकर राज्य के जिलों में भी तैयारी तेज कर दी गयी है. इस सिलसिले में गुरूवार को पलामू जिला मुख्यालय डालटनगंज एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया. कार्यशाला के माध्यम से जिले के प्रगतिशील कृषकों, उद्यमी, स्वयं सहायता समूह, चेम्बर ऑफ कामर्स के प्रतिनिधियों की सूची तैयारी की गयी.जिला कृषि विभाग के तत्वावधान में पंडित दीनदयाल उपध्याय स्मृति हॉल में आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला का उद्घाटन मुख्य अतिथि जिला परिषद अध्यक्ष प्रभा देवी ने दीप जलाकर किया.

mi banner add

इसे भी पढ़ेंःजानिए पाकुड़ के नक्सली कुणाल मुर्मू एनकाउंटर का पूरा सच, जिसपर अब डीसी उठा रहे हैं सवाल

मौके पर जिला परिषद अध्यक्ष प्रभा देवी ने कहा कि भारत कृषि प्रधान देश है. देश की कुल आबादी का 70 प्रतिशत लोग कृषि पर निर्भर हैं. किसानों के विकास के लिए केंद्र से लेकर राज्य सरकार के स्तर से कई कल्याणकारी योजनाओं को चलाया जा रहा है. किसानों को अगर कृषि के क्षेत्र में ही अपने आप को आगे बढ़ाना है, तो उन्हें कृषि विभाग से नियमित संपर्क में रहना होगा. उत्पाद क्षमता बढ़ाने के लिए किसानों को ही मेहनत करना होगा. कभी-कभी मॉनसून की धोखेबाजी के कारण भी किसानों काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता है. किसानों को भी मॉनसून पर निर्भर न रहते हुए वैकल्पिक खेती पर ज्यादा ध्यान केंद्रि‍त करना चाहिए.

डीआरडीए के निदेशक हैदर अली ने कहा कि किसानों को कृषि विभाग में नई-नई होने वाले तकनीकों की जानकारी रखना होगा. किसानों को अगर अपने खेतों में आय को बढ़ाना है, तो निश्चित तौर पर उन्हें कृषि विभाग से नियमित संपर्क बनाये रखना होगा. मौके पर जिला कृषि पदाधिकारी जुबैर आलम, जिला उद्यान पदाधिकारी मुखु राम, माटी कला बोर्ड के सदस्य अविनाश देव, राजदेव उपाध्याय, कृषि वैज्ञानिक सुनीता कमल सहित काफी संख्या में किसान मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंःबिजली नहीं होने के कारण अधर में लटका रिम्स हॉस्टल का निर्माण कार्य

रांची में 29-30नवंबर को होना है, ग्लोबल समिट

राजधानी रांची में किसानों के विकास के लिए 29 एवं 30 नवंबर को ग्लोबल समिट का आयोजन किया गया है. समिट में लगभग 22 देशों के सफल किसान और कृषि वैज्ञानिक भाग लेंगे. कार्यक्रम से पूर्व एक रोड शो भी होगा. जिसमें मुख्यमंत्री सहित 22 देशों से आये प्रतिनिधि भाग लेंगे. समिट में कृषि के क्षेत्र में सफल देशों में फ्रांस, जापान, डेनमार्क, अमेरिका, रूस, श्रीलंका, बर्मा सहित अन्य देशों के सफल कृषक और कृषि वैज्ञानिक भाग लेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: