Palamu

पलामू: झारखंड ऊर्जा विकास श्रमिक संघ की आमसभा में एजेंसी प्रथा का विरोध

विद्युतकर्मियों लगाया शोषण का आरोप

Palamu: झारखंड ऊर्जा विकास श्रमिक संघ की आमसभा जिला मुख्यालय मेदिनीनगर के सत्कार भवन में हुई. मौके पर मुख्य अतिथि के तौर पर संघ के केंद्रीय अध्यक्ष अजय राय शामिल हुए. बैठक की अध्यक्षता प्रमोद तिवारी ने की.

मौके पर संघ के अध्यक्ष ने ऊर्जा निगम की ओर से वर्ष 2017 से सप्लाई-संचरण में शुरु की गयी एजेंसी प्रथा पर जमकर हमला बोला. कहा कि जब से यह प्रथा शुरु की गई, तब से लेकर आज तक उन एजेंसियों के द्वारा कार्यरत विद्युतकर्मियों का शोषण लगातार जारी है.

advt

निगम के अंदर कार्यरत एजेंसिया हर माह लगभग 28 प्रतिशत मुनाफा निगम से कमा रही है, मगर विधुतकर्मियों को समय पर माहवारी का भुगतान नहीं हो पा रहा है. वर्तमान में विधुत आपूर्ति क्षेत्र मेदिनीनगर में कर्मियों को जब से एजेंसी प्रथा लागू है, तब से लेकर आज तक तीन से लेकर चार महीने तक माहवारी का भुगतान नहीं हो पा रहा है. वही 2017 से लेकर वर्तमान तिथि तक श्रम विभाग की ओर से लगभग एक दर्जन बार दर में बढ़ोतरी हुई है. मगर उस बढ़े हुए दर का एरियर कर्मियों को जोड़कर नहीं दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह में 12 लाख 61 हजार लोगों ने ली कोरोना वैक्सीन, महिला स्वास्थ्य कर्मियों ने सजायी रंगोली

घाटे के बावजूद 4 वर्ष में 75 करोड़ से ज्यादा का कमीशन दिया गया

अजय राय ने कहा कि एक ओर निगम इतने घाटे में जा रहा है, वही एजेंसियों को 2017 से लेकर 2021 तक 75 करोड़ से भी ज्यादा की राशि कमीशन के रूप में दिया जा चुका है जिसपर निगम की ओर से रोक लगाया जाना चाहिए और पूर्व की व्यवस्था बहाल करनी चाहिए. राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी अपनी पूर्व की कई जनसभाओं में यह बात कही है.

इसे भी पढ़ें – Ramgarh: जिंदल स्टील एवं पावर लिमिटेड के किशोरी एक्सप्रेस को डीसी ने दिखायी हरी झंडी

छह सूत्री मांग पत्र सौंपा गया

बैठक के विद्युत आपूर्ति क्षेत्र मेदिनीनगर के महाप्रबंधक-सह-मुख्य अभियन्ता संजय कुमार एवं जी.एम ट्रांसमिशन बसंत रुंडा को मांगो से सम्बंधित ज्ञापन सौंपा गया. सौंपे गए ज्ञापन में एजेंसी प्रथा समाप्त कर पूर्व की तरह मानव दिवस को रखा जाय. निगम की ओर से निकाले जाने वाली नियुक्ति में निगम के अन्दर विभिन एजेंसियों में कार्यरत विद्युतकर्मियों के लिए प्राथमिकता तय की जाय, 2017 से लेकर 2021 तक राज्य सरकार के श्रम विभाग द्वारा तय किये गए दर का एरियर भुगतान सप्लाई-संचरण के सभी एरिया बोर्ड और ट्रांसमिशन जोन में सुनिश्चित किया जाए, चुकि रांची, दुमका के कुछ डिवीजन, सब डिवीजन में कुछ एजेंसियों ने भुगतान किया है, मगर अभी तक संचरण के लिए कोई आदेश निगम की ओर से जारी नहीं किया गया है जिसे अविलम्ब जारी कराया जाय. रांची, मेदिनीनगर, धनबाद, गिरिडीह, दुमका, हजारीबाग, जमशेदपुर सप्लाई एरिया बोर्ड और संचरण जोन जिसमें, रांची, जमशेदपुर, दुमका, मेदिनीनगर, हजारीबाग में लंबित माहवारी भुगतान समय पर सुनिश्चित कराया जाए, पूर्व से कार्यरत कर्मियों को कुछ एजेंसियों द्वारा हटाकर नए लोगों को रखा गया है, इसमें पूर्व कर्मियों का समायोजन सुनिश्चित किया जाए एवं विशनपुरा में कर्मी विनोद की हुई दुर्घटना में मौत को लेकर संबंधित एसडीओ सहित अन्य के खिलाफ कार्रवाई हो और पीड़ित परिवार को मुआवजा राशि और परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाए.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: