न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : पत्रकारों पर हमले के विरोध में कांग्रेस शिक्षा प्रकोष्ठ का धरना

पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी ने घटना को बताया लोकतंत्र के लिए घातक

21

Palamu : राज्य स्थापना दिवस पर आंदोलन के दौरान पारा शिक्षकों और पत्रकारों की गयी बर्बर कार्रवाई को लेकर कांग्रेस पार्टी हर दिन आंदोलन और प्रेस ब्यान जारी कर रही है. इसे भुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ा जा रहा है. मंगलवार को झारखंड प्रदेश कांग्रेस शिक्षा प्रकोष्ठ के तत्वावधान में छहमुहान धरना दिया गया. अध्यक्षता प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष श्याम नारायण सिंह ने की. मौके पर मुख्य रूप से पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी और कांग्रेस कमिटी के जिलाध्यक्ष जैश रंजन पाठक उर्फ बिट्टू पाठक उपस्थित थे.

पत्रकारों पर हमला लोकतंत्र के लिए घातक

मौके पर पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी ने कहा कि राज्य कि सरकार स्थापना दिवस के दिन पारा शिक्षक के साथ-साथ पत्रकारों पर भी हमला करवाया है, जिसमें कई पत्रकार गंभीर रूप से घायल हो गये हैं. पत्रकारों पर हमला लोकतंत्र के लिए घातक है. पत्रकार लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के साथ-साथ सामाज के आइना होते हैं.

राज्य के मुख्यमंत्री पारा शिक्षकों से मांफी मांगें

श्याम नारायण सिंह ने कहा कि राज्य की रघुवर दास की सरकार सत्ता के मद में मानसिक संतुलन खो बैठी है और अनाप-शनाप कार्यों को अंजाम दे रही है. शिक्षक सभ्य समाज के निर्माता होते हैं. जिस राज्य में शिक्षक सुरक्षित नहीं हैं, उस राज्य का भला कैसे हो सकता है. जिला अध्यक्ष बिट्टू पाठक ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री पारा शिक्षकों से मांफी मांगें और उनका सम्मानजनक हक और अधिकार देने का काम करें. अन्यथा बाध्य होकर कांग्रेस कमिटी पारा शिक्षकों के समर्थन में आंदोलन के लिए सड़क पर उतरने का कार्य करेगी.

धरने में ये लोग थे मौजूद

धरना को रामाशीष पांडेय, युवा कांग्रेस से जिलाध्यक्ष राजेश चैरसिया, नसीम हैदर, शमीम अहमद राइन, शेर खान, सुधीर सिंह, नगर अध्यक्ष अभिषेक सिंह, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष इमरान सिद्धीकी, विश्राम दुबे, राजमुनि सिंह, श्याम बिहारी दुबे, भृगू नाथ चैधरी, वीरेंद्र सिंह, सीडी राम, बिनोद तिवारी, सज्जाद खां, सत्यानंद दुबे, बसंत सिंह सहित कई कांग्रेसी और शिक्षा प्रकोष्ठ के पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ेंः 49वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में ‘फोकस स्टेट’ होगा झारखंड, यहां बनीं सात फिल्में की जायेंगी…

इसे भी पढ़ेंःभंवर में फंस सकता है महागठबंधन, वामदलों के बाद झामुमो का एक खेमा अकेले मैदान में उतरने का भर रहा दंभ

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: