JharkhandPalamu

पलामू : डीसी के जनता दरबार में पहुंचे केवल 11 फरियादी

  डीसी ने विश्रामपुर में पीएम आवास व शौचालय निर्माण कार्य की स्थिति का लिया जायजा

Bisrampur(Palamu) : विश्रामपुर प्रखंड कार्यालय के सभागार में बुधवार को आयोजित जनता दरबार में जहां मात्र 11 लोग ही अपनी फरियाद लेकर पहुंचे. वहीं पीएम आवास योजना व एसबीएम की समीक्षा बैठक में पहुंचे डीसी डॉ शांतनु कुमार अग्रहरी ने प्रखंड के जनप्रतिनिधियों, जलसहिया व पंचायत सेवकों को सितंबर माह के अंत तक पूरे प्रखंड को हर हाल में ओडीएफ करने का सख्त निर्देश दिया है. डीसी ने प्रखंड के सभी दस पंचायतों में स्वच्छ भारत मिशन के तहत हो रहे शौचालय निर्माण कार्य की अद्यतन जानकारी वहां के संबंधित कर्मचारियों व जनप्रतिनिधियों से लिया. वहीं डीडीसी बिंदुमाधव सिंह ने भी समीक्षा बैठक में प्रखंड में चल रहे विकास कार्यों की जानकारी लेकर निर्धारित लक्ष्य व समय सीमा के भीतर योजनाओं को पूर्ण करने का निर्देश दिया.

इसे भी पढ़ें- 21 अगस्त को अपहृत प्रिया सिंह के भाई को गढ़वा पुलिस ने कहा-नौटंकी करते हो, 29 अगस्त को पलामू में मिली डेड बॉडी

बैठक में नहीं पहुंचे घासीदाग व सिगसिगी पंचायत के मुखिया

विश्रामपुर प्रखंड सभागार में आयोजित जनता दरबार प्रखंड के घासीदास वह सिगसिगी पंचायत के मुखिया नहीं पहुंचे. जनता दरबार पूर्व निर्धारित कार्यक्रम जहां प्रखंड के सभी पंचायत प्रतिनिधियों सहित स्थानीय लोगों को भाग लेकर जनहित से जुड़े कार्यों को ऑन स्पॉट क्या जाना है. जिला प्रशासन की ओर से इस प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन ग्रामीण जनता को सुविधा पहुंचाने के उद्देश्य से किया जाता रहा है. ग्रामीण इस प्रकार के आयोजन में भाग लेकर सरकारी लाभ प्राप्त कर सकते हैं. इस प्रकार के आयोजन में ग्रामीणों को एक ही जगह पर सभी विवाद के कार्य निष्पादन किए जाते हैं. ग्रामीण इस प्रकार के आयोजन का लाभ भी उठा रहे हैं. लेकिन घासीदास व सिगसिगी पंचायत के मुखिया के द्वारा कार्यक्रम में भाग नहीं लिया जाता. जिला प्रशासन की ओर से आयोजित जनता दरबार का मजाक उड़ाया जाता है. साथ ही यह स्पष्ट हो रहा कि वे अपनी जिम्मेवारी के प्रति कितने गंभीर हैं.

इसे भी पढ़ें- प्रिया सिंह की हत्या की वजह प्रधानमंत्री आवास योजना में हुए 1.80 करोड़ का घोटाला तो नहीं

जनता दरबार में पहुंचे  मात्र 12 आवेदन 

बिश्रामपुर प्रखंड सभागार में आयोजित जनता दरबार में  प्रखंड के  सभी दस पंचायत से जाति आवास के मात्र 11 आवेदन मिले. जबकि मात्र एक आवेदन भूमि विवाद से सम्बंधित था. लोगों ने इसके लिए बीडीओ व सरकारी कर्मियों की ओर से जनता दरबार की सूचना प्रसारित नहीं किया जाना बताया. जिसके कारण जनता दरबार से जनता ही गायब थे. जनता दरबार लगाने की केवल कोरम पूरा किया गया है. जिला परिषद बिजय रविदास ने कहा कि विश्रामपुर में प्रशासनिक व्यवस्था बिल्कुल बेपटरी हो गयी है.  जिससे सरकारी योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों तक नहीं पहुंच पा रहा है. आयोजित बैठक में डीसी, डीडीसी व जिला पार्षद के अलावे प्रमुख संतोष कुमार चौबे, बीडीओ बिनय कुमार, सीडीपीओ सुधा सिन्हा, समेत बघमनवा मुखिया रविन्द्र उपाध्याय, तोलरा मुखिया सुमित्रा सिंह, गुरी मुखिया घुरा बैठा, लालगढ़ मुखिया अनिता देवी, समेत सभी पंचायतों के पंचायत सेवक और जल सहिया उपस्थित थीं.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close