JharkhandPalamu

पलामू : अब मरीजों के फीडबैक से होगा सरकारी अस्पतालों का मूल्यांकन, मेरा अस्पताल विषय पर जिले भर में चलाया जाएगा अभियान

 

Palamu : सरकारी अस्पतालों की व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए अब नयी तरकीब अपनायी जा रही है. अस्पतालों का मूल्यांकन के लिए अब वहां इलाज कराने वाले मरीजों से ही स्वास्थ्य विभाग अब फीडबैक लेगा. फीडबैक के आधार पर अस्पताल की व्यवस्थाओं में सुधार करते हुए वहां की कमियों को दूर किया जाना है. दरअसल, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत अस्पतालों की गुणवत्ता सुधार को लेकर मेरा अस्पताल कार्यक्रम चलाया जा रहा है.

advt

पलामू के सिविल सर्जन डॉ. अनिल कुमार सिंह ने बताया कि मेरा अस्पताल अभियान छेड़ा गया है. अस्पतालों में गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य व्यवस्था देने को लेकर टीम भावना के साथ कार्य किया जा रहा है. उन्होंने सभी प्रतिभागियों से समन्वय बनाकर इस कार्यक्रम को सफल बनाने का आह्वाहन किया. कहा कि मरीजों से प्राप्त फीडबैक्को सही तरीके से भरकर उसे अपलोड करें. उद्देश्य है कि अस्पताल की कमियों और खामियों को दूर करते हुए व्यवस्था सुधार की दिशा में कार्य किया जा सके.

रिसोर्स पर्सन जिला गुणवत्ता परामर्शी संतोष कुमार, अस्पताल प्रबंधक सुनीत कुमार श्रीवास्तव व जिला डाटा प्रबंधक शशिकांत तिवारी ने मरीजों से फीडबैक लेने और उसे मेरा अस्पताल पोर्टल पर अपलोड करने से संबंधित जानकारी भी साझा की. बताया गया कि मेरा अस्पताल कार्यक्रम मेदिनी राय मेडिकल कालेज अस्पताल में पूर्व से संचालित है. आईडी पासवर्ड जेनरेट होते ही यह कार्यक्रम अब अनुमंडलीय अस्पतालों व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर भी शुरू हो जाएगा. फीडबैक में मरीजों से अस्पताल के पंजीकरण, साफ सफाई, भोजन, चिकित्सक, नर्स व अस्पताल कर्मियों के व्यवहार से संबंधित 15 प्रश्न दिए गए हैं. अस्पताल कर्मियों से लिए गए फीडबैक को मेरा अस्पताल पोर्टल पर अपलोड करना होगा.

 

मरीजों को किन-किन प्रश्नों पर देना है फीडबैक

मेदिनीनगर मेडिकल कालेज अस्पताल, अनुमंडलीय अस्पताल और प्रखंडों में संचालित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में इलाज के बाद मरीजों को दर्जन भर प्रश्नों पर फीडबैक देना होगा. इसमें पंजीकरण काउंटर, साइनेज, दिशाजनक के व्यवस्था पर क्या विचार है, पंजीकरण काउंटर पर इंतजार करने के समय को लेकर अपने अनुभव बताएं, अस्पताल में रहते समय गोपनीयता का सम्मान किए जाने से संबंधित राय, अस्पताल के कर्मचारियों का व्यवहार और आचरण की जानकारी, क्या आपको डिस्चार्ज पर्ची पर दर्ज जानकारी दी गई, यहां की साफ-सफाई से संबंधित विचार आदि प्रश्न शामिल है.

 

इसे भी पढ़ें : गढ़वा: हर दिन नदी पार कर वैक्सीनेशन के लिए जाती है एएनएम, प्रेरणा देने वाली है कहानी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: