JharkhandPalamu

पलामू : 15 लाख के इनामी नक्सली नवीन यादव की करोड़ों की संपत्ति जब्त

Palamu : नक्सलियों को हर तरह से कमजोर करने के लिए पलामू सहित पूरे राज्य में कई स्तरों पर कार्रवाई तेज की गयी है. नक्सलियों की एक्विटीज पर नियंत्रण करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है, वहीं नाजायज तरीके से कमा कर अर्जित की गयी करोड़ों की संपति जब्त कर कब्जे में ली जा रही है. कुछ इसी तरह कार्रवाई 15 लाख के ईनामी और शीर्ष माओवादियों में शामिल नवीन उर्फ सर्वजीत यादव पर की गयी. उसकी करोड़ों की संपत्ति जब्त कर ली गयी है.

कहां-कहां हुई संपत्ति जब्त

सिविल और पुलिस प्रशासन ने संयुक्त रूप से कार्रवाई कर पलामू जिला मुख्यालय से सटे रेड़मा में 18.5 एकड और चतरा जिले के प्रतापपुर में 12.78 एकड़ जमीन जब्त की है. जमीन पर बने मकान को सील कर ताला लगा दिया गया है.

लेवी के पैसों से संपत्ति अर्जित की थी नवीन यादव ने : डीआइजी 

पलामू प्रक्षेत्र के डीआइजी विपुल शुक्ला का कहना है कि नवीन यादव ने लेवी के पैसों से संपत्ति अर्जित की थी, जिसका आकलन कर यह कार्रवाई की गयी है. यहीं नहीं पुलिस का कहना है कि उसकी और भी संपत्तियों की जानकारी मिलने पर उसे भी सीज किया जाएगा. डीआइजी ने बताया कि टॉप नक्सलियों की संपति का आकलन किया जा रहा है और जल्द उनकी भी संपत्ति जब्त की जायेगी.

बड़े नक्सली हमले का आरोपी है नवीन

नवीन यादव झारखंड-बिहार में 50 से अधिक बड़े नक्सल हमले का आरोपी है. सरकार ने उस पर 10 लाख रुपए का इनाम रखा था. जिसे बाद में बढ़ा कर 15 लाख कर दिया गया. नवीन नक्सलियों के गढ़ लातेहार जिले के बूढ़ा पहाड़ और छकरबंधा के इलाके में सक्रिय है. जून 2016 में बिहार के औरंगाबाद-गया सीमा पर बड़ा नक्सल हमला हुआ था, जिसमें 10 कोबरा के जवान शाहिद हुए थे. इस हमले में माओवादियों का नेतृत्व नवीन यादव ही कर रहा था.

मनिका के कटिया हमले का है आरोपी

नवीन यादव 2013 में लातेहार जिले के कटिया हमले का भी मुख्य आरोपी है, इस हमले में 17 जवान शहीद हुए थे. 2011 में लातेहार में जिले में चतरा के तत्कालीन सांसद इंदर सिंह नामधारी के काफिले हमले में आठ जवान और जनवरी 2012 में गढ़वा के भंडरिया में नक्सल हमले में थाना प्रभारी समेत 13 जवान शहीद हुए थे. नवीन यादव झारखंड-बिहार के नक्सलियों के बीच की कड़ी है.

Related Articles

Back to top button