JharkhandPalamu

Palamu : एनएसयूआइ के जिला सचिव को ढूंढ़ने के लिए नदियों में उतरी एनडीआरएफ की टीम, मलय से लेकर सोन नदी तक चलेगा सर्च अभियान

Palamu : पिछले छह दिनों से लापता छात्र संगठन एनएसयूआइ के जिला सचिव शौर्य तिवारी को ढूंढ़ने के लिए अब एनडीआरएफ की टीम नदियों में उतर गयी है. पलामू जिले के सतबरवा थाना क्षेत्र के मलय नदी से एनडीआरएफ की 15 सदस्यीय टीम ने सर्च अभियान शुरू किया है. मलय नदी के बहाववाले क्षेत्रों में आनेवाली सभी छोटी-बड़ी नदियों में शौर्य तिवारी को ढूंढ़ा जायेगा. एनडीआरएफ की टीम के साथ स्थानीय पुलिस भी समन्वय बना कर छानबीन में जुटी है.

इसे भी पढ़ें – 2300 से अधिक संक्रमित मरीजों ने नाम-पते गलत बताये, पुलिस ने 1171 लोगों का ढूंढ निकाला

28 जुलाई से लापता हैं शौर्य

विदित हो कि गत 28 जुलाई को मेदिनीनगर के आबादगंज निवासी अशोक तिवारी के पुत्र अभिनव तिवारी (24) के साथ सतबरवा के सरजा भंडार टोला निवासी शौर्य तिवारी मोटरसाइकिल से निकले थे. दो दिनों के बाद 30 जुलाई की सुबह अभिनव तिवारी का शव सिंदुरिया में मलय नदी से बरामद किया गया था. जबकि अभिनव की मोटरसाइकिल मलय नदी के दूसरे इलाके रजहरा गांव के समीप से बरामद किया गया था. लेकिन शौर्य का कहीं कुछ अता पता अबतक नहीं चला था.

advt

15 सदस्यीय टीम ढूंढ़ने में लगी है

शौर्य को ढूंढ़ने के लिए अभिनव व शौर्य के परिजनों ने जिला प्रशासन से मांग की थी. इस आलोक में सोमवार को एनडीआरएफ की टीम सतबरवा पहुंची और जहां अंतिम बार दोनों देखे गये थे, वहां से शौर्य को ढूंढ़ने में लग गयी. एनडीआरएफ के निरीक्षक पीपी डुंगडुंग ने बताया कि उनकी 15 सदस्य टीम पानी में उतर कर शौर्य को तलाश कर रही है. अगर नदी में पानी ज्यादा हुआ तो वहां स्टीमर को नदी में उतार कर हमारी टीम ढूंढ़ेगी.

टीम में ये हैं शामिल

टीम में मुख्य रूप से उप निरीक्षक सुनील कुमार, मुख्य आरक्षक उदयनाथ उरांव, विश्वनाथ सिंह, आरक्षक दीपक पांडे सहित अन्य हैं. टीम के साथ कुछ देर तक शौर्य के भाई गौरव तिवारी, सदर एसडीपीओ संदीप गुप्ता, सतबरवा थाना प्रभारी रुपेश कुमार दुबे सहित पुलिस के जवान मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें – बिहार विस में गूंजा सुशांत केस में CBI जांच की मांग, विधायक नीरज के समर्थन में उतरे तेजस्वी  

मलय के बहाववाली सहायक नदियों में चलेगा सर्च: एसडीपीओ

सदर एसडीपीओ संदीप गुप्ता ने बताया कि मलय नदी के बहाव वाली छोटी-बड़ी नदियों में शौर्य को ढूंढ़ने का प्रयास किया जायेगा. मलय नदी अमानत नदी में मिलती है. अमानत कोयल में और कोयल सोन नदी में जाकर मिल जाती है. ऐसे में क्रमवार सभी नदियों में सर्च अभियान चलाया जायेगा और उसे ढूंढ़ने की भरपूर कोशिश की जायेगी. नदी में पानी कम है, इसलिए टीम के सदस्य फिलहाल पैदल सर्च कर रहे हैं. जहां पानी ज्यादा होगा, वहां बोट का सहारा लिया जायेगा. इस संबंध में मृतक अभिनव तिवारी के पिता के फर्दबयान के आधार पर सतबरवा थाना कांड सं. 94/2020 दि. 31/07/2020 धारा 302/34 भा.द.वि. दर्ज है.

adv

स्थानीय लोगों ने देखा था दोनों को नदी में बहते

स्थानीय व्यक्ति एवं प्रत्यक्षदर्शी द्वारा बताया गया कि गत 28 जुलाई की रात्रि करीब 8.30 बजे रजहरा गांव की तरफ से दो व्यक्ति मोटरसाइकिल से लहलहे की तरफ आ रहे थे. मलय नदी पर बने पुल में पानी का तेज बहाव था, उनको काफी समझाने का प्रयास किया गया, परंतु नहीं माने और मोटरसाइकिल से पुल पार करने का कोशिश करने लगे. इसी बीच दोनों व्यक्ति पानी के तेज बहाव में बह गये थे.

इस संबंध में मलय नदी एवं उससे मिलने वाली नदियों से सटे सभी थानों को सूचित किया गया. गत 31 जुलाई की शाम में मोहम्मदगंज थाना के भीम बराज में एक अज्ञात शव मिलने की सूचना पर थाना द्वारा शव बरामद करने का प्रयास किया गया, परंतु शव वहां से आगे बह चुका था. इस संबंध में प्रत्यक्षदर्शी द्वारा बताया गया कि शव के हुलिया के आधार पर शौर्य तिवारी के घरवालों से सत्यापन कराने की कोशिश की गयी, लेकिन शौर्य तिवारी के शव होने की पुष्टि नहीं हो पायी.

इसे भी पढ़ें – निवेश के लिए बैंकों के दरवाजे खोलने के क्या होंगे दूरगामी परिणाम

advt
Advertisement

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button