Crime NewsJharkhandPalamu

पलामू: संदेहास्पद स्थिति में नाबालिग की मौत, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

Palamu: पलामू जिले के लेस्लीगंज थाना क्षेत्र के ओरिया गांव में आज एक नाबालिग लड़की की संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गयी. हालांकि परिजनों ने किशोरी की हत्या का आरोप लगाया है.

परिजनों ने ओरिया कला के चौकीदारी ओमप्रकाश पासवान और उसके परिवार वालों पर मारपीट कर किशोरी को फंदे पर टांग देने का आरोप लगाया गया है. इस बीच पुलिस इसे प्रेम प्रसंग में आत्महत्या मान कर कार्रवाई कर रही है.

advt

क्या कहना है एसडीपीओ का

लेस्लीगंज के एसडीपीओ अनूप बड़ाईक ने बताया कि ओरिया कला पंचायत के चौकीदार के बेटे के साथ किशोरी का प्रेम प्रसंग चल रहा था. चौकीदार का बेटा सोमवार को नाबालिग लड़की को उसके रिश्तेदार के घर से बुला लाया था और एक दिन तक अपने घर में रखा. इस वजह से लड़के के परिजन नाराज थे. जिसके बाद मंगलवार सुबह किशोरी को लड़के की बहन जबरन उसके घर छोड़कर आयी.

किशोरी लड़के के घर पूरी रात रहने के कारण वह अपने घर जाने को तैयार नहीं थी. वह लड़के के साथ ही रहने की जीद्द पर अड़ी थी. जबरन घर पहुंचा देने से किशोरी तनाव में आ गयी और घर के कमरे में फंदा डालकर फांसी लगा ली.

चौकीदार के परिजनों पर मारपीट कर फंदे पर लटका देने के आरोप पर एसडीपीओ ने कहा कि आरोप तो कई तरह के लगाये जा सकते हैं. लेकिन इसमें कोई सच्चाई नहीं है.

इसे भी पढ़ें- जिन 4000 अनट्रेंड पारा शिक्षकों का हटाने का निकला था आदेश, उनसे कोरोना में बिना मानेदय दिये लिया जा रहा काम

adv

नाबालिग के परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

चौकीदार पुत्र विक्की पासवान और चैतू भुइयां की पुत्री जसवंती कुमारी (17वर्ष) के बीच लंबे समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था. पिछले 15-20 दिनों से किशोरी पांकी के कसमार में अपनी बहन के घर रह रही थी.

परिजनों का आरोप है कि लड़की को दूर भेजे जाने के बावजूद चौकीदार का बेटा उसे लेने कसमार पहुंच गया और उसे जबरन उठाकर अपने घर ले आया. रात भर रखा. अलगे दिन लड़के के पिता चौकीदार ओम प्रकाश पासवान, मां मीना देवी और बहन पूजा कुमारी ने नाबालिग के साथ मारपीट की और फिर उसकी हत्या कर दी. हत्या के बाद उन्होंने शव को फंदे से लटका दिया ताकि पूरा मामला आत्महत्या का लगे.

इसे भी पढ़ें- #Jharkhand में कोरोना से तीसरी मौतः रांची में 54 साल की महिला ने तोड़ा दम, पति की संक्रमण से पहले ही गयी थी जान

मारते-पीटते किशोरी को लाते देखी थी मृतका की बहन

मृतका की बहन ने बताया कि सुबह छह बजे उसने देखा कि चौकीदार ओमप्रकाश के परिवार के लोग उसकी बहन को मारते पीटते ला रहे थे. घर पर उसके अलावा कोई नहीं था. मां और पिताजी गेहूं काटने खेत पर गये थे.

मारपीट करते देखकर वह खेत की तकफ भागी और अपने मां-पिता को इस बात की जानकारी दी. जिसके बाद तीनों भागते-भागते घर आये. घर पहुंचकर उन्होंने देखा कि उनकी बेटी फंदे से लटकी हुई है. जिसके बाद किशोरी के माता-पिता ने चौकीदार और उसके परिवार वालों पर हत्या का आरोप लगाया है.

इसे भी पढ़ें- राज्यहित के बदले छात्रों के बहाने झारखंड में राजनीतिक विवाद पैदा करने की कोशिश हो रही है

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button