JharkhandPalamu

#Palamu: महाराष्ट्र से लौटे अधेड़ की कोरोना जांच के लिए ले जाने के दौरान मौत, 2 घंटे सड़क पर तड़पता रहा

Palamu : पलामू जिले के नौडीहा बाजार में रविवार को एक अधेड़ की सड़क पर इलाज के अभाव में मौत हो गई.

अधेड़ रविवार को ही महाराष्ट्र से लौटा था. घर पर परिजनों से मिलकर अपने बेटे के साथ कोरोना जांच के लिए स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में जा रहा था. लेकिन वह स्वास्थ्य केंद्र तक पहुंच नहीं पाया.

नौडीहा बाजार थाना के पुलिस सब इंस्पेक्टर शेखर कुमार ने बताया कि नौडीहा निवासी एक अधेड़ अपने बेटे के साथ रविवार को ही महाराष्ट्र से लौटा था.

advt

पूर्वाह्न में अपने घर आने के बाद दोपहर में कोरोना जांच के लिए अपने बेटे के साथ जा रहा था. इसी बीच उसे सांस लेने में दिक्कत हुई और वह रास्ते में ही गिर गया.

सूचना पर नौडीहा बाजार पुलिस मौके पर पहुंची. सूचना सिविल प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को दी गयी. लेकिन जब तक एम्बुलेंस पहुंचा तब तक अधेड़ की मौत हो गयी थी.

शव को कब्जे में ले लिया गया है. सुबह पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच मेदिनीनगर भेजा जायेगा. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ स्पष्ट कहा जा सकता है.

ऐसे परिजनों के अनुसार मृतक को पेशाब के रास्ते में कुछ परेशानी थी. लंबे समय से इस बीमारी से वह पीड़ित था.

adv

इसे भी पढ़ें – लातेहार:  परिवार के पास नहीं है राशन कार्ड, मां ने कहा निम्मी की मौत भूख से हुई, प्रशासन मौत की बीमारी बता रहा

2 घंटे तक इलाज के लिए तड़पता रहा, मौत के बाद पहुंचा एम्बुलेंस

ग्रामीणों के अनुसार नौडीहा बाजार निवासी अधेड़ बिहार के डेहरी से निजी वाहन से घर आया था. घर पर नहा धोकर कोरोना की जांच के लिए स्वास्थ्य केंद्र जा रहा था, लेकिन बीच रास्ते में उसकी तबियत खराब हो गयी.

सांस लेने में दिक्कत हुई. सूचना पर पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे लेकिन स्वास्थ्य विभाग और सिविल प्रशासन की ओर से कोई नहीं पहुचा. नतीजा दो घंटे तक तड़पने के बाद उसकी मौत हो गयी.

कोरोना संबंधित हेल्पलाइन नंबर पर फोन करते रहे, लेकिन मदद नहीं मिली. कुछ स्थानीय पत्रकारों ने भी सक्रियता दिखायी, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली.

अगर समय पर अधेड़ का इलाज हो जाता तो  उसकी जान बच सकती थी. घटना के दौरान लोगों में हड़कंप मचा रहा.

इसे भी पढ़ें – #MedantaHospital 500 रुपये में मिलने वाले प्लेटलेट्स के वसूल रहा 950 रुपये

लू से हुई अधेड़ की मौत -चिकित्सा पदाधिकारी

छतरपुर अनुमंडलीय अस्पताल के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ राजेश अग्रवाल ने बताया कि नौडीहा बाजार के एक अधेड़ की मौत की सूचना मिली है.

बीमार होने की जानकारी मिलने पर नौडीहा बाजार के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ शंकर को इलाज की जानकारी दी गयी. वहाँ से सूचना मिली है कि अधेड़ की मौत लू लगने से हुई है.

एम्बुलेंस के पहुंचने तक अधेड़ की मौत हो गयी. टायर ब्लास्ट कर जाने के कारण एम्बुलेंस को मौके पर पहुंचने में देरी हुई.

विदित हो कि कोरोना (कोविड) को लेकर जिला से लेकर प्रखंड प्रशासन अलर्ट पर है. कई चिन्हित पुलिस चेक पोस्ट को मजदूरों को सहायता केंद्र तक पहुंचने के लिए जिमेवार बनाया गया है.

वावजूद एक श्रमिक की गंभीर स्थिति में इलाज के अभाव में मौत हो जाना व्यवस्था की पोल खोल कर रख देता है.

कोरोना महामारी में भी नौडीहा बाजार में एक भी एम्बुलेंस की सेवा नहीं: चिकित्सा पदाधिकारी

नौडीहा बाजार के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ शंकर प्रसाद ने बताया कि कोरोना जैसी महामारी में प्रखण्ड स्तर पर एम्बुलेंस की सेवा नहीं दी गयी है.

कई बार छतरपुर के अनुमंडीय चिकित्सा पदाधिकारी को जानकारी दी गयी, लेकिन सुविधा नहीं मिली. अधेड़ को लेने के लिए एम्बुलेंस काफी लेट आयी. महाराष्ट्र से आने पर मरीज की स्थिति नॉर्मल थीं.

इसे भी पढ़ें – लॉकडाउन का कहर : खत्म हो रहे थे खाने के पैसे, झरिया में खलासी ने बस में ही फांसी लगाकर दे दी जान

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button