न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई शुरू, सौ की जगह 70 सीटों पर हुआ है नामांकन

361

Palamu: पलामू मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (पीएमसीएच) में पढ़ाई शुरू हो गयी है. इस सिलसिले में बुधवार को  पीएमसीएच परिसर में विशेष समारोह का आयोजन किया गया, जिसका उद्घाटन राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रामचन्द्र चन्द्रवंशी ने किया.

इस मौके पर झारखंड विधानसभा के प्रथम अध्यक्ष इंदर सिंह नामधारी, राज्य के पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी, स्थानीय विधायक आलोक चौरसिया, मेदिनीनगर नगर निगम की मेयर अरूणा शंकर, जिला परिषद उपाध्यक्ष संजय सिंह, डीआइजी विपुल शुक्ला, भाजपा के प्रदेश मंत्री मनोज सिंह, पार्टी के वरिष्ठ नेता श्यामनारायण दुबे, जिला परिषद सदस्य लवली गुप्ता, पीएमसीएच के प्राचार्य डा. ज्योति रंजन प्रसाद, सिविल सर्जन डा. जॉन एफ केनेडी समेत कई भाजपा नेता मौजूद थे.

#JPSC की कार्यशैली पर लगातार प्रतिक्रिया दे रहे हैं छात्र, पढ़ें-क्या कहा छात्रों ने…. (छात्रों की प्रतिक्रिया का अपडेट हर घंटे)

पलामू के लिए स्वर्णिम दिन: स्वास्थ्य मंत्री

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री रामचंद्र चन्द्रवंशी ने कहा कि पलामू के लिए यह स्वर्णिम दिन है. यहां मेडिकल कॉलेज काम करने लगा है. अब यहां की प्रतिभाओं को मेडिकल की पढ़ाई के लिए बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. उन्होंने कहा कि पलामू को मेडिकल कॉलेज के रूप में वरदान प्राप्त हुआ है. उन्होंने कहा कि अभी इस कॉलेज में 70 सीटों पर नामांकन हुआ है. गढ़वा में भी मेडिकल कॉलेज खोलने की तैयारी की जा रही है.

इसे भी पढ़ें – #Newtrafficrules: सरकार नये मोटर व्हीकल कानून को वापस ले, नहीं तो होगा राज्यव्यापी आंदोलनः बाबूलाल

नये डालटनगंज की बुनियाद रखी गयी: आलोक

स्थानीय विधायक आलोक चौरसिया ने कहा कि नये डालटनगंज की बुनियाद रखी जा चुकी है. पलामू में मेडिकल कॉलेज के अस्तित्व में आ जाने से न केवल यहां के युवाओं को सुनहरा अवसर मिला है बल्कि मरीजों को भी राहत मिली है. उन्होंने कहा कि अब लोगों को उपचार के लिए बड़े शहरों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. श्री चौरसिया ने कहा कि यह डबल इंजन की सरकार का कमाल है. उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज में प्रथम सत्र की पढ़ाई शुरू होना इस बात का प्रमाण है कि भाजपा की सरकार केवल शिलान्यास नहीं करती, बल्कि उद्घाटन भी करती है.

मंच पर दिखे नामधारी

भाजपा सरकार के कार्यक्रम में पूर्व सांसद इंदर सिंह नामधारी की उपस्थिति ने सबको चौंका दिया. कई अटकलें हवा में तैरने लगीं. हालांकि उन्होंने अपने संबोधन में स्पष्ट कर दिया कि यह किसी नये राजनीतिक परिदृश्य का संकेत नहीं है.

उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत ही इसी बात से की कि वे राजनीति से संन्यास लेने के बाद प्रतिज्ञा ले चुके थे कि किसी भी सरकारी कार्यक्रम में शरीक नहीं होंगे.

मेडिकल कॉलेज के लिए तोड़ी राजनीतिक प्रतिज्ञाः नामधारी

उन्होंने कहा कि आज वह प्रतिज्ञा इसलिए तोड़ दी, क्योंकि मेडिकल कॉलेज के रूप में उनका सपना भी पूरा हुआ है. श्री नामधारी ने कहा कि उनकी दिली इच्छा थी कि पलामू में मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज स्थापित हो.

उन्होंने कहा कि आज पलामू में मेडिकल कॉलेज काम करने लगा है, जिससे मेरी भावना भी जुड़ी हुई है. श्री नामधारी ने कहा कि यही कारण है कि आयोजकों द्वारा सम्मानपूर्वक बुलाये जाने पर वे अपनी भावना को दबा नहीं सके और प्रतिज्ञा तोड़ कर इस सरकारी कार्यक्रम का हिस्सा बने.

इसे भी पढ़ें – स्टेन स्वामी को नहीं मिली हाइकोर्ट से राहत, निचली अदालत से जारी वारंट को निरस्त करने की मांग की थी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: