न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

पलामू : मेयर और डिप्टी मेयर ने टैक्स वसूल कर जमा नहीं करने वाले कर्मियों को बर्खास्त करने का निर्देश दि‍या

मेदिनीनगर नगर निगम की मेयर अरुणा शंकर और डिप्टी मेयर मंगल सिंह ने वि‍त्‍तीय अनियमितता बरतने वाले ऐसे निगमकर्मियों के खिलाफ अपने तेवर तल्ख कर लिये हैं

78

Palamu :  टैक्स वसूलकर निगम में जमा नहीं कराने वाले निगमकर्मियों पर जल्द ही गाज गिरेगी. मेदिनीनगर नगर निगम की मेयर अरुणा शंकर और डिप्टी मेयर मंगल सिंह ने वि‍त्‍तीय अनियमितता बरतने वाले ऐसे निगमकर्मियों के खिलाफ अपने तेवर तल्ख कर लिये हैं. मेयर अरुणा शंकर ने कहा कि मीडिया रिपोर्टों से यह ज्ञात हुआ है कि निगम में कार्यरत जमादार शेरान खान ने तरबूज व्यवसायियों से 18 हजार रुपये वसूल कर निगम में जमा नहीं कराये. यह राजस्व के गबन का साफ मामला दिख रहा है.

eidbanner

इसे भी पढ़ें – मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस  :  SC का आदेश, सीबीआई तीन जून तक स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करे

दोषी कर्मियों पर कार्रवाई का निर्देश

मेयर श्रीमती शंकर और डिप्टी मेयर मंगल सिंह ने कार्यपालक पदाधिकारी को पत्र लिखकर वैसे कर्मियों को तत्काल बर्खास्त करने का निर्देश दिया है, जिन्हें तहसील का अधिकार नहीं होने के बावजूद वसूली कर रहे हैं. मेयर ने वैसे निगमकर्मियों को भी तत्काल बर्खास्त करने का निर्देश दिया है, जिन्होंने टैक्स वसूल कर 24 घंटे में निगम के पास जमा नहीं कराये हैं.

इसे भी पढ़ें – नक्सलियों के वोट बहिष्कार को लेकर की गयी पोस्टरबाजी का नहीं हुआ असर, लोगों ने उत्साह के साथ किया मतदान

नक्शा पास कराने के नाम पर वसूली

मेयर अरुणा शंकर को यह भी जानकारी मिली है कि कुछ निगमकर्मी नक्शा पास कराने के नाम पर भी वसूली कर रहे हैं. उन्होंने कार्यपालक पदाधिकारी को ऐसे कर्मियों की पहचान कर उनके खिलाफ भी बर्खास्तगी की कार्रवाई करने को कहा है. उन्होंने जोर देकर कहा है कि व्यवसायियों और नागरिकों को कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए.

नागरिकों से अपील

मेयर और डिप्टी मेयर ने नागरिकों से अपील की है कि यदि पानी कनेक्शन, टैक्स या नक्शा पास कराने अथवा किसी अन्य कार्य के लिए अगर कोई नाजायज पैसे की मांग करे तो वे मोबाइल नम्बर 7544003917 या 7717769745 पर तत्काल सूचना दें. ऐसे कर्मियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जायेगी. कहा कि आदर्श चुनाव आचार संहिता खत्म होने के बाद निगम का कार्य नये तेवर में दिखेगा.

निगम के नोटिस पर नहीं होती कार्रवाई

मेयर ने कहा है कि निगम से जारी नोटिस पर न तो कार्रवाई हो रही है और न ही इसकी समीक्षा की जा रही है. उन्होंने कार्यपालक पदाधिकारी को 06 माह में जारी किये गये नोटिस के खिलाफ की गयी कार्रवाई की समीक्षा कर जानकारी देने का निर्देश दिया है. कहा है कि कुछ व्यवसायियों द्वारा यह भी शिकायत की गयी है कि निगम क्षेत्र में पूर्व से लगने वाले सिजनल बाजार से सैरात की वसूली कर उसका गबन किया जा रहा है.

यह सिलसिला पिछले तीन वर्षों से चल रहा है. सैरात वसूली के नाम पर निगम के ही कर्मी अपनी पाकेट गर्म कर रहे हैं. यह सीधा गबन का मामला है. कहा कि जांच प्रतिवेदन के आधार पर वह निगम के भ्रष्ट कर्मियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करेंगी. उन्होंने कहा है कि निगम में भ्रष्टाचार व घुसखोरी किसी भी हाल में बर्दास्त नहीं किये जायेंगे.

इसे भी पढ़ें – CBSE 10th का रिजल्ट जारी, 91.1 फीसदी छात्र पास, त्रिवेंद्रम 99.85% के साथ अव्‍वल, चेन्‍नई 99% के साथ दूसरे स्थान पर

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: